• Hindi News
  • International
  • Shoaib Akhtar On Pakistani Hindu Medical Student Nimrita Kumari Chandani Death, demands justice for victim

पाकिस्तान / शोएब अख्तर ने कहा- नम्रता को इंसाफ मिले; वो निर्दोष थी, कातिलों को जल्द पकड़ें



नम्रता लरकाना के बीबी आसिफा डेंटल कॉलेज में बीडीएस आखिरी सेमेस्टर की छात्रा थीं। नम्रता लरकाना के बीबी आसिफा डेंटल कॉलेज में बीडीएस आखिरी सेमेस्टर की छात्रा थीं।
X
नम्रता लरकाना के बीबी आसिफा डेंटल कॉलेज में बीडीएस आखिरी सेमेस्टर की छात्रा थीं।नम्रता लरकाना के बीबी आसिफा डेंटल कॉलेज में बीडीएस आखिरी सेमेस्टर की छात्रा थीं।

  • हिंदू समुदाय की मेडिकल छात्रा नम्रता चंदानी का शव उनके होस्टल रूम में सोमवार शाम मिला
  • परिवार ने हत्या का आरोप लगाया, विरोध प्रदर्शन जारी, शोएब अख्तर ने भी इंसाफ मांगा

Dainik Bhaskar

Sep 18, 2019, 01:04 PM IST

कराची. पाकिस्तान में हिंदू मेडिकल छात्रा नम्रता चंदानी की संदिग्ध मौत की गुत्थी सुलझ नहीं पाई है। पुलिस ने पोस्टमॉर्टम कराया। लेकिन, ये खुदकुशी है या हत्या, इस बारे में कोई बयान जारी नहीं किया। नम्रता के भाई विशाल भी डॉक्टर हैं। उन्होंने कहा- मेरी बहन ने खुदकुशी नहीं की, उसका कत्ल किया गया। इस बीच, ट्विटर पर नम्रता को इंसाफ दिलाने के लिए #JusticeForNimrita ट्रेंड कर रहा है। शोएब अख्तर भी इस मुहिम का हिस्सा बने। उन्होंने कहा- उस बेकसूर लड़की को क्यों मारा गया? असली कातिलों को जल्द गिरफ्तार किया जाए। 

 

शोएब ने कहा- ये बहुत दर्दनाक
रावलपिंडी एक्सप्रेस के नाम से मशहूर पाकिस्तान के इस पूर्व तेज गेंदबाज ने युवा डॉक्टर की मौत पर गम और गुस्से का इजहार करते हुए कातिलों को गिरफ्तार करने की मांग की। शोएब ने ट्वीट में लिखा, “नम्रता बेकसूर थी। उसकी संदिग्ध हालात में मौत के बारे में जानकर बहुत गमजदा हूं। उम्मीद है उसे इंसाफ मिलेगा और असली दोषी जल्द पकड़े जाएंगे। मेरा दिल हर पाकिस्तानी के लिए धड़कता है, फिर चाहे वो किसी भी मजहब से ताल्लुक रखते हों। उसकी आत्मा को शांति मिले।”

भुट्टो परिवार का है कॉलेज
नम्रता लरकाना के बीबी आसिफा डेंटल कॉलेज में बीडीएस आखिरी सेमेस्टर की छात्रा थी। यह कॉलेज पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी के अध्यक्ष बिलावल भुट्टो जरदारी की बहन आसिफ का है। खास बात ये है कि पीपीपी ने अब तक इस घटना पर शोक तक व्यक्त नहीं किया। नम्रता का शव सोमवार शाम हॉस्टल के कमरे में पलंग पर मिला था। गले में रस्सी बंधी थी। नम्रता मूलरूप से मीरपुर जिले के घोटकी की रहने वाली थी। परिवार फिलहाल कराची में रहता है। नम्रता के दोस्तों के मुताबिक, वह जिंदादिल लड़की थी और घटना से पहले किसी प्रकार के तनाव में नहीं दिखी थी। सोमवार को मौत से कुछ घंटे पहले उसे कैंटीन में दोस्तों के साथ गपशप करते देखा गया था।

हत्या का शक क्यों?
जानकारी के मुताबिक, नम्रता के कमरे का दरवाजा अंदर से बंद था, लेकिन खिड़की खुली हुई थी। हत्या का शक इसलिए भी है, क्योंकि पंखे या किसी और चीज से रस्सी बांधकर फांसी लगाने का कोई सबूत नहीं मिला। रस्सी इतनी छोटी है कि उससे लटकना संभव नहीं था। सोमवार को नम्रता ने काफी देर तक दरवाजा नहीं खोला तो दोस्तों ने उसे तोड़ दिया। 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना