ब्रिटेन / फोर्ड पेन दुनिया की सबसे ज्यादा ढाल वाली सड़क, न्यूजीलैंड की बाल्डविन से 2.5% ज्यादा झुकाव

Street in Wales UK wins Guinness World Records title for being world's steepest
Street in Wales UK wins Guinness World Records title for being world's steepest
Street in Wales UK wins Guinness World Records title for being world's steepest
X
Street in Wales UK wins Guinness World Records title for being world's steepest
Street in Wales UK wins Guinness World Records title for being world's steepest
Street in Wales UK wins Guinness World Records title for being world's steepest

  • गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड ने बाल्डविन स्ट्रीट का सबसे ज्यादा ढलान वाली सड़क का खिताब वेल्स की फोर्ड पेन लेक को दिया
  • वेल्स के हार्लेक शहर के लोगों ने यह खिताब पाने के लिए महीनों अभियान चलाया

Jul 17, 2019, 08:10 AM IST

लंदन. ब्रिटेन के उत्तर-पश्चिम वेल्स में स्थित हार्लेक शहर की एक गली को दुनिया की सबसे ज्यादा ढलान वाली सड़क घोषित किया गया है। फोर्ड पेन लेक नाम की इस गली को कई घुमावदार मोड़ों की वजह से चढ़ाई में काफी कठिन माना जाता है। हालांकि, अब सामने आया है कि दुनिया की सबसे ज्यादा ढलान वाली सड़कों में इसका झुकाव सबसे ज्यादा है। 

लोगों ने गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड के लिए किया अभियान

इससे पहले न्यूजीलैंड के डुनेडिन शहर में स्थित बाल्डविन स्ट्रीट को सबसे ज्यादा ढलान वाली सड़क के तौर पर जाना जाता था। लेकिन हार्लेक के लोगों ने फोर्ड पेन लेक को गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड में शामिल करने के लिए अभियान चलाया। इसके बाद जांच में साबित हुआ कि जहां बाल्डविन स्ट्रीट का ग्रेडिएंट (झुकाव) 35% है, वहीं फोर्ड पेन लेक का झुकाव 37.5% पाया गया। यानी दोनों की ढलान में करीब 2.5% का फर्क पाया गया।

फोर्ड पेन लेक के लिए अभियान चलाने वाली हार्लेक की ग्विन हेडली ने कहा कि इस फैसले के बाद उन्हें काफी राहत मिली है। हेडली ने ऐलान के समय पर निराशा जताई। उन्होंने कहा कि क्रिकेट वर्ल्ड कप में इंग्लैंड से न्यूजीलैंड की हार के बाद यह दो देशों के बीच एक और हार-जीत का ही मौका हो गया।

हेडली ने कहा कि गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड के मानक काफी कठिन होते हैं। इसके बावजूद हमें विश्वास था कि हार्लेक की सड़क ही सबसे ज्यादा ढलान का खिताब जीतेगी। हालांकि, रिकॉर्ड्स में नाम दर्ज कराने में एक मुश्किल यह थी कि सड़क का कोई ब्लूप्रिंट नहीं मौजूद था। क्योंकि यह 1000 साल से भी पुरानी है और तब ब्लूप्रिंट जैसी कोई चीज नहीं थी। 

इसके अलावा खिताब के लिए सड़क को लगातार सार्वजनिक इस्तेमाल का मानक पूरा करना था। एक्सपर्ट्स को मालूम चला कि ढलान पर करीब 300 साल तक पुराने घर तक बने हैं जो इसी सड़क का इस्तेमाल करते हैं। साथ ही कई लोग तो ढलान से इतने परिचित हैं कि उन्हें गाड़ी उतारने और चढ़ाने में कोई दिक्कत नहीं होती।  

गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड के संपादक क्रेग ग्लेनडे के मुताबिक, हार्लेक के स्थानीय लोगों ने खिताब पाने के लिए जी-तोड़ मेहनत की। उनका अनुभव काफी चढ़ाव वाला रहा। कोशिश सफल होने पर वेल्स के नागरिकों को बधाई। 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना