ईरान / सुप्रीम लीडर खामनेई ने कहा- हमने घमंडी अमेरिका को करारा तमाचा लगाया, ट्रम्प बोले- जुबान संभाल कर बोलें

ईरान के सुप्रीम लीडर अयातुल्ला खामनेई ने कहा- अमेरिका ने युद्धक्षेत्र में जनरल सुलेमानी का सामना नहीं किया। ईरान के सुप्रीम लीडर अयातुल्ला खामनेई ने कहा- अमेरिका ने युद्धक्षेत्र में जनरल सुलेमानी का सामना नहीं किया।
X
ईरान के सुप्रीम लीडर अयातुल्ला खामनेई ने कहा- अमेरिका ने युद्धक्षेत्र में जनरल सुलेमानी का सामना नहीं किया।ईरान के सुप्रीम लीडर अयातुल्ला खामनेई ने कहा- अमेरिका ने युद्धक्षेत्र में जनरल सुलेमानी का सामना नहीं किया।

  • ईरान के सुप्रीम लीडर खामनेई ने धर्मोपदेश में कहा- अमेरिका खंजर मार कर हमारे साथ होने की बात नहीं कर सकता
  • ट्रम्प ने कहा- ईरान को तबाही की ओर ले जा रहे नेताओं को आतंक छोड़कर देश को महान बनाने का काम करना चाहिए

दैनिक भास्कर

Jan 18, 2020, 01:02 PM IST

तेहरान. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने ईरान के सुप्रीम लीडर अयातुल्ला खामनेई को जुबान संभाल कर बोलने की चेतावनी दी है। ट्रम्प ने कहा कि ईरान के सुप्रीम लीडर कहे जाने वाले ज्यादा सुप्रीम (सर्वोच्च) नहीं रह गए हैं। उनके पास अमेरिका और यूरोप के लिए कई बकवास बाते हैं। उनकी अर्थव्यवस्था तबाह हो रही है और लोग परेशान हो रहे हैं। उन्हें अपने शब्दों को सोच समझकर इस्तेमाल करने चाहिए। दरअसल, खामनेई ने अपने हालिया बयान में अमेरिकी नेताओं को जोकर कहा था। साथ ही उन्होंने कहा था कि अमेरिकी ठिकानों पर हमला कर ईरान ने एक घमंडी और आक्रामक ताकत को करारा तमाचा लगाया है। 

‘अमेरिकी जोकर झूठ ही कहते हैं’

सुप्रीम लीडर खामनेई ने अमेरिका के खिलाफ यह बात ईरान की जनता को धार्मिक उपदेश देने के दौरान कहीं। वे सेना की विशेष टुकड़ी कुद्स फोर्स के प्रमुख जनरल कासिम सुलेमानी की मौत के बाद अमेरिका से जारी तनाव पर बोल रहे थे। इस दौरान उन्होंने तेहरान में हुए विमान हादसे पर दुख भी जताया। जिस दिन ईरान ने इराक स्थित अमेरिकी बेसों पर हमला किया था, उसी दिन यूक्रेन का एक विमान उड़ान भरने के कुछ ही देर बाद ईरानी मिसाइल लगने से क्रैश हो गया था। हादसे में 176 लोगों की मौत हुई थी। 

खामनेई ने अमेरिका पर तंज कसते हुए कहा, “अमेरिकी जोकर झूठ ही कहते हैं कि वे ईरानी लोगों के साथ खड़े हैं। अगर तुम ईरान के साथ होते, तो जहरीले खंजर से उनके दिल पर वार नहीं करते। तुम अब तक बुरी तरह नाकाम रहे हो और आगे भी नाकाम ही रहोगे।” उन्होंने कहा, “जनरल सुलेमानी पूरे क्षेत्र के लिए आतंक विरोधी कमांडर थे। अमेरिका ने सबसे ताकतवर कमांडर की हत्या कर दी। उन्होंने जनरल सुलेमानी का युद्धक्षेत्र में सामना नहीं किया। हमने अमेरिका को जवाब देकर अमेरिका की इज्जत को करारी चोट पहुंचाई है।” 

इस पर ट्रम्प ने ट्वीट में कहा “ईरान के शानदार लोग, जो अमेरिका से प्यार करते हैं, उन्हें ऐसी सरकार मिलनी चाहिए जो उन्हें मारने की जगह उनकी मांगों का सम्मान करे। ईरान को तबाही की ओर ले जाने की जगह वहां के नेताओं को आतंक छोड़ना चाहिए और ईरान को महान बनाने के लिए काम करना चाहिए।” 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना