तालिबानी हुकूमत में हजामत कराना मना है:अफगानिस्तान के हेलमंद प्रांत में लोगों के दाढ़ी बनवाने पर बैन लगाया गया, सैलून में गाने बजाने पर भी पाबंदी

काबुल2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

अफगानिस्तान में तालिबान का कट्‌टरपंथी शासन जारी है। एक नया फरमान जारी करते हुए तालिबान ने हेलमंद प्रांत में लोगों के दाढ़ी बनवाने या ट्रिम कराने पर बैन लगा दिया है। तालिबान की एक चिट्‌ठी का जिक्र करते हुए फ्रंटियर पोस्ट ने बताया कि तालिबान ने स्टाइलिश हेयरस्टाइल और फैशन के लिए तरह-तरह की दाढ़ी रखने से मना किया है।

अखबार ने आगे बताया कि इस्लामिक ओरिएंटेशन मंत्रालय के अधिकारियों ने हेलमंद की राजधानी लश्कर गाह में पुरुषों के हेयर सैलून के प्रतिनिधियों से मुलाकात की थी। इस मुलाकात में तालिबान ने बालों को स्टाइल न करने और दाढ़ी शेव न करने की सलाह दी।

सैलून के अंदर गाने बजाना भी मना
इस आदेश में यह भी कहा गया कि हेयर सैलून के अंदर और आसपास गाने या हम्द (भजन) भी नहीं बलाए जाएंगे। सोशल मीडिया के जरिए यह आदेश लोगों तक पहुंचाया जा रहा है। तालिबान अपने 20 साल पुराने तौर-तरीकों पर लौट आया है। 1996-2001 में शासन के दौरान तालिबान ने शरिया कानून के तहत जो दकियानूसी नीतियां लागू की थीं, उन्हें फिर से लोगों पर थोप रहा है।

मुश्किल में हेयर स्टाइलिस्ट
पूरे अफगानिस्तान में हेयर स्टाइलिस्ट मुश्किल में हैं। लोगों ने तालिबान के डर से बालों की स्टाइलिंग कराना बंद कर दिया है। पहले लोग अलग-अलग लुक्स रखकर देखते थे, लेकिन अब लोग बाल कटवाने से भी हिचक रहे हैं। पहले लोग मॉर्डन दिखने के लिए क्लीन शेव कराते थे, लेकिन अब दाढ़ी को हाथ भी नहीं लगाते। ऐसे में सैलून वालों को रोजी-रोटी के लाले पड़ने लगे हैं।

खबरें और भी हैं...