पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • International
  • Taliban Capture Pak Border Post; Taliban Procession At CM's Office In Quetta, Road From Pakistan To Kandahar Blocked, Border Closed

पाकिस्तान में तालिबान:पाक सीमा चौकी पर तालिबान का कब्जा; क्वेटा में CM दफ्तर पर तालिबानी जुलूस, पाक से कंधार जाने वाली सड़क रोकी, बॉर्डर बंद

इस्लामाबाद20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
पाकिस्तान की सड़कों पर तालिबान की जीत का जश्न। - Dainik Bhaskar
पाकिस्तान की सड़कों पर तालिबान की जीत का जश्न।

तालिबान ने अफगानिस्तान में कब्जा बढ़ाते हुए अब पाकिस्तान के दरवाजे तक दस्तक दे दी है। बुधवार को तालिबान ने एक बेहद अहम व्यापारिक मार्ग पर कब्जा कर लिया। यह रास्ता दक्षिणी कंधार प्रांत के बोल्डक जिले में है, जो चमन और कंधार को जोड़ता है। इस रास्ते के कब्जे के कुछ वीडियो सामने आए हैं, जिसमें तालिबानी लड़ाके अफगानिस्तान का झंडा उतारते दिख रहे हैं। लोगों से कहा गया है कि वे किसी भी हालत में बॉर्डर गेट पार न करें।

इधर, पाकिस्तानी अधिकारियों ने भी डूरंड लाइन क्षेत्र के इस रास्ते पर कब्जे की पुष्टि करते हुए कहा है कि अफगानिस्तान से लगीं पाकिस्तान की सीमाएं सील कर दी गई हैं। हालांकि, अफगानिस्तान गृह मंत्रालय के प्रवक्ता तारिक एरियन ने कब्जे के दावों को नकारा है। बोल्डक-चमन मार्ग पाकिस्तान-अफगानिस्तान के बीच सबसे अहम रास्तों में से एक है। यहां से रोजाना सामान से भरे 900 ट्रक ईरान समेत मध्य एशिया के देशों तक जाते हैं। कब्जे के बाद अब सीमा शुल्क राजस्व तालिबान के हाथ में जा सकता है।

पाकिस्तान की सड़कों पर तालिबान की जीत का जश्न
पाकिस्तान कह रहा है कि वह अफगानिस्तान में दखल नहीं देता। दूसरी ओर, उसी के शहर क्वेटा में तालिबानी झंडा लहराया गया। यहां सीएम हाउस और सचिवालय के नजदीक तालिबान समर्थकों ने बुधवार को बोल्डक बॉर्डर पर कब्जे के बाद जीत का जुलूस निकाला।

नाटो सेना की वापसी बड़ी गलती: जॉर्ज बुश
अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति जॉर्ज डब्ल्यू बुश ने बुधवार को अफगानिस्तान से नाटो सेनाओं की वापसी की आलोचना की। उन्होंने कहा कि लोगों को तालिबान द्वारा मार दिए जाने के लिए अकेला छोड़ा जा रहा है, यह एक बड़ी गलती है। बुश बर्लिन में एक जर्मन चैनल को दिए इंटरव्यू में बोल रहे थे।

अफगानिस्तान में भारत की अहम भूमिका: रूस
इधर, काबुल में रूसी मिशन के उप-प्रमुख रोमन बाबुश्किन ने कहा है कि अफगानिस्तान के मौजूदा हालात में शांति स्थापित करने के लिए भारत और दूसरे क्षेत्रीय देशों की भूमिका काफी अहम है। उन्होंने कहा कि तालिबान अब सच्चाई है, इसे हमें मान लेना चाहिए। बातचीत से हल निकाला जा सकता है।

खबरें और भी हैं...