• Hindi News
  • International
  • Taliban Surround Kabul From All Sides, Rebels Can Take Possession Of The Capital In A Few Days

काबुल पर कब्जे के करीब तालिबान:तालिबान से घिरी राजधानी काबुल की आखिरी उम्मीद भी टूटी, सरकार का सबसे मजबूत गढ़ मजार-ए-शरीफ भी गिरा

काबुल2 महीने पहलेलेखक: पूनम कौशल

तालिबान से घिरी काबुल की आखिरी उम्मीद भी टूट गई है। अफगानिस्तान सरकार और सेना के सबसे मजबूत गढ़ मजार-ए-शरीफ को भी तालिबान ने गिरा दिया है। इसे सरकार के लिए अब तक का सबसे बड़ा झटका माना जा रहा है। सरकार की सारी उम्मीदें मजार पर ही टिकी थीं। मजार-ए-शरीफ बल्ख प्रांत की राजधानी और सरकार समर्थक बलों का आखिरी गढ़ भी था।

इससे पहले कहा जा रहा था कि यदि मजार तालिबान के नियंत्रण में आया तो काबुल को सुरक्षित रखना मुश्किल हो जाएगा। यदि तालिबान मजार में कामयाब हुआ तो ये तय है कि और कोई उनका मुकाबला नहीं कर पाएगा।

तालिबान ने भास्कर को कुछ वीजुअल भेजे हैं जिनमें सरकार के अता नूर समर्थक सैनिकों के एयरपोर्ट की तरफ जाने का दावा किया गया है। तालिबान का दावा है कि अता नूर समर्थक सैनिक उजबेकिस्तान, तजाकिस्तान और अन्य पड़ोसी देशों की तरफ जा रहे हैं।

कमांडर अता नूर ने एक फेसबुक पोस्ट में कहा है कि अफगानिस्तान सेना ने साजिश के तहत भारी हथियार तालिबान को सौंप दिए और मार्शल दोस्तम की जान लेने की कोशिश की। अता नूर दोस्तम को लेकर सुरक्षित निकल गए हैं।

तालिबान का दावा है कि अता नूर समर्थक सैनिक उजबेकिस्तान की तरफ जा रहे हैं।
तालिबान का दावा है कि अता नूर समर्थक सैनिक उजबेकिस्तान की तरफ जा रहे हैं।

तालिबान और सरकारी सेना के अपने-अपने दावे
तालिबान प्रवक्ता जबीउल्लाह मुजाहिद ने एक बयान जारी कर मजार के कब्जे में आने का दावा किया है। वहीं सरकार समर्थक अता नूर के एक करीबी सूत्र ने भास्कर को बताया है कि अता नूर और उनके सैनिक अभी भी लड़ रहे हैं।

उन्होंने कहा, 'ये सही है कि तालिबान मजार में घुसे हैं लेकिन लड़ाई अभी खत्म नहीं हुई है। युद्ध चल रहा है।' अता नूर से जुड़े सूत्र के मुताबिक, 'मजार ए शरीफ में मौजूद अफगान सेना के कोर कमांडर के तालिबान से संबंध थे। उन्होंने कोर को तालिबान को सौंप दिया लेकिन अता नूर अभी भी लड़ रहे हैं। उनके लड़ाके उनके साथ हैं। उन्हें स्थानीय लड़ाकों का समर्थन है।'

आज तालिबान ने पक्तिका पर कब्जा करने के बाद पाकिस्तान से लगी सीमा चौकी पर भी कब्जा कर लिया।
आज तालिबान ने पक्तिका पर कब्जा करने के बाद पाकिस्तान से लगी सीमा चौकी पर भी कब्जा कर लिया।

तालिबान ने काबुल की चौतरफा घेराबंदी की
तालिबान से जुड़े एक और भरोसेमंद सूत्र के मुताबिक तालिबान ने चारों तरफ से काबुल को घेर लिया है। पूर्व में वो खाक जबर के पास है, जो काबुल प्रांत का ही एक जिला है। पश्चिम में वो अरघंडी में है, जो काबुल के शहरी इलाके से लगा है। उत्तर में वो काराबाग में है, जो काबुल प्रांत का एक जिला है। दक्षिण में वो चार असयाब में है, जो काबुल का एक जिला है। तालिबान चाहे तो अब कुछ दिन में ही काबुल पर कब्जा कर सकता है।

उजबेकिस्तान सीमा पर अफगानिस्तान के सैनिक बॉर्डर खोलने का इंतजार करते हुए।
उजबेकिस्तान सीमा पर अफगानिस्तान के सैनिक बॉर्डर खोलने का इंतजार करते हुए।

सरकार का एक प्रतिनिधिमंडल बातचीत के लिए पाकिस्तान जाएगा
इस बीच, काबुल का भविष्य अब तालिबान और सरकार के बीच दोहा में होने वाली वार्ता पर टिका है। सरकार का एक प्रतिनिधिमंडल रविवार को पाकिस्तान जा रहा है, जहां से वो वार्ता के बाद दोहा जाएगा। सरकारी सुरक्षा बलों ने काबुल की सुरक्षा की तैयारी और तेज कर दी है। जनरल समी सादाद को काबुल की सुरक्षा की जिम्मेदारी दी गई है।

फरयाब सेंट्रल जेल से 500 से अधिक कैदियों को छुड़ाया
तालिबान ने आज फरियाब की राजधानी मैमाना पर चारों तरफ से हमला किया है। तालिबान ने फरयाब सेंट्रल जेल से 500 से अधिक कैदियों को छुड़ाने का दावा भी किया है। तालिबान से जुड़े सूत्रों का कहना है कि तालिबान ने मजार की केंद्रीय जेल को भी तोड़कर कैदियों को छुड़ा लिया है।

अफगानिस्तान के सरकारी चैनल एआरजी के मुताबिक राष्ट्रपति के साथ सुरक्षा परिषद की बैठक में अफगानिस्तान में अमेरिकी सैन्यबलों के कमांडर भी थे। इसमें काबुल और आसपास के प्रांतों की सुरक्षा की रणनीति बनाई गई है।
अफगानिस्तान के सरकारी चैनल एआरजी के मुताबिक राष्ट्रपति के साथ सुरक्षा परिषद की बैठक में अफगानिस्तान में अमेरिकी सैन्यबलों के कमांडर भी थे। इसमें काबुल और आसपास के प्रांतों की सुरक्षा की रणनीति बनाई गई है।

पक्तिका के बाद पाकिस्तान से लगी सीमा चौकी पर भी कब्जा
आज तालिबान ने पक्तिका पर कब्जा करने के बाद पाकिस्तान से लगी सीमा चौकी पर भी कब्जा कर लिया। तालिबान ने एक तस्वीर जारी की है और दावा किया है कि मजार-ए-शरीफ में तालिबान ने अता नूर और उनके लड़ाकों को घेर लिया है। वहीं कमांडर अता नूर से जुड़े एक करीबी सूत्र ने बताया है कि तालिबान को यहां लड़ाई में भारी नुकसान हो रहा है।

चार दिन पहले पक्तिका की राजधानी के इस चौराहे पर अफगान सुरक्षा बलों ने मारे गए तालिबान के शव डाले थे। आज इस पर तालिबान का नियंत्रण है।
चार दिन पहले पक्तिका की राजधानी के इस चौराहे पर अफगान सुरक्षा बलों ने मारे गए तालिबान के शव डाले थे। आज इस पर तालिबान का नियंत्रण है।

तालिबानियों ने सरकारी हेलीकॉप्टर का ट्रायल किया
तालिबान से जुड़े लोगों ने कुछ वीडियो शेयर किया है। दावा किया जा रहा है कि तालिबान ने कंधार एयरपोर्ट पर कब्जे में आए हेलीकॉप्टर की ट्रायल उड़ान की है। ये शायद पहली बार है जब तालिबान ने हेलीकॉप्टर उड़ाए हैं।

तालिबान का दावा है कि उसके पास उड़ने की हालत में दो MI-17 हेलीकॉप्टर हैं। इस बीच तालिबानी सूत्रों ने यह भी दावा किया है कि अफगान सैनिक अपनी जान बचाकर ईरान भाग रहे हैं।

24 घंटे में चार और प्रांत पर तालिबान का कब्जा
पिछले 24 घंटे में तालिबान ने 4 और प्रांतीय राजधानियों पर कब्जा किया है। लोगार, पक्तिया, पक्तिका और कुनार प्रांतों की राजधानियों पर शनिवार को तालिबान ने कब्जा कर लिया है। तालिबान सूत्रों ने दावा किया है कि कब्जे में आए प्रांतों में सभी कैदियों को रिहा कर दिया गया है। वहीं प्रशासन के अधिकारियों और सैनिकों ने सेना के अड्डों में पनाह ली है।

तालिबान के प्रवक्ता ने फरयाब की राजधानी मैमाना पर पूर्ण कब्जे और सैनिकों के तालिबान के साथ मिल जाने का दावा किया है। सरकार सूत्रों से पुष्टि नहीं हुई है।

जनरल समी सादाद को काबुल की सुरक्षा की जिम्मेदारी दी गई है।
जनरल समी सादाद को काबुल की सुरक्षा की जिम्मेदारी दी गई है।

तालिबान का लघमान की राजधानी मिहतरलाम में घुसने का दावा
तालिबान प्रवक्ता ने काबुल के पड़ोसी प्रांत लघमान की राजधानी मिहतरलाम में घुसने और आगे बढ़ने का दावा किया है। तालिबान ने फरयाब प्रांत पश्तून कोट जिले पर कब्जे का दावा भी किया है। वहीं तालिबान मजार-ए-शरीफ पर भीषण हमले कर रहा है।

तालिबान का कहना है कि यहां भी दो-तीन दिनों में कामयाबी मिल जाएगी। इसी बीच सरकार का प्रतिनिधिमंडल तालिबान से बात करने के लिए दोहा पहुंच रहा है।

खबरें और भी हैं...