उपलब्धि / 18 साल के लुकास अकेले अटलांटिक महासागर को पार करने वाले दुनिया के सबसे युवा रोअर बने



अपनी बोट के साथ लुकास हेट्जमन। अपनी बोट के साथ लुकास हेट्जमन।
Teenager Lukas Haitzmann sets world record becomes youngest to cross Atlantic rowing
Teenager Lukas Haitzmann sets world record becomes youngest to cross Atlantic rowing
X
अपनी बोट के साथ लुकास हेट्जमन।अपनी बोट के साथ लुकास हेट्जमन।
Teenager Lukas Haitzmann sets world record becomes youngest to cross Atlantic rowing
Teenager Lukas Haitzmann sets world record becomes youngest to cross Atlantic rowing

  • लुकास ने चैलेंज सबसे कम समय में पूरा करने का रिकॉर्ड भी बनाया 
  • उन्होंने 4800 किमी की दूरी 59 दिन, 8 घंटे 22 मिनट में पूरी की 

Dainik Bhaskar

Feb 14, 2019, 09:58 AM IST

एंटीगा. ब्रिटेन के रोअर लुकास हेट्जमन ने अकेले अटलांटिक महासागर पार करने का चैलेंज पूरा किया। 18 साल के लुकास ने इस चैलेंज में दो वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाए। पहला- वे अकेले किसी महासागर को पार करने वाले सबसे युवा रोअर बने। दूसरा- उन्होंने यह चैलेंज सबसे कम समय में पूरा करने का रिकॉर्ड बनाया। लुकास ने 4800 किमी की दूरी 59 दिन, 8 घंटे 22 मिनट में रोइंग कर पूरी की। 

 

हर दिन 12-14 घंटे बिना रुके की रोइंग
लुकास ने हर दिन लगभग 12 से 14 घंटे बिना रुके रोइंग की। लुकास ने केनेरी आइलैंड (स्पेन) से दिसंबर में रोइंग शुरू की थी। यह शनिवार को एंटीगा के इंग्लिश हार्बर में खत्म हुई। इस दौरान लुकास का 10 किलो वजन कम हो गया था। रेस के दौरान लुकास ने फ्रीज्ड, ड्राइड खाना खाया। ऐसा खाना एस्ट्रोनॉट स्पेस में खाते हैं। वे रात में लगभग 5-6 घंटे साेते। दिन में भी कभी-कभी लंच के बाद आराम करते। 

ब्रिटिश-इटैलियन-ऑस्ट्रियन मूल के लुकास अटलांटिक महासागर को अकेले पार करने वाले पहले ऑस्ट्रियन भी हैं। उनके पिता ऑस्ट्रिया से हैं और मां इटली से। 

 

चैलेंज पूरा करने के लिए पढ़ाई छोड़ी 
लुकास ने यह चैलेंज पूरा करने के लिए एक साल पढ़ाई से ब्रेक लिया। इस दौरान उन्होंने राेइंग और सेलिंग की प्रैक्टिस की। वैसे, वे पिछले 5 साल से रोइंग कर रहे हैं। लुकास को डिस्लेक्सिया (मानसिक बीमारी, जिससे पढ़ने-लिखने में परेशानी होती है) है। उन्होंने इस रेस में हिस्सा लेने के लिए फंड जुटाया था। लुकास का कहना है कि उन्हें उम्मीद है कि वे लोगों को इंस्पायर कर सकते हैं। कोई भी व्यक्ति किसी भी उम्र में कोई भी चैलेंज पूरा कर सकता है। हम जितना सोचते हैं, उससे
ज्यादा काम करने की ताकत हमारे अंदर होती है।

 

समुद्र में महसूस होता था अकेलापन
लुकास बताते हैं- मुझे रेस के दौरान सबसे ज्यादा दिक्कत तब हुई, जब वाटर फिल्टर खराब हो गया। शुरुआती 10 दिन के बाद ही यह परेशानी झेलनी पड़ी। इस फिल्टर से मैं समुद्र के पानी को पीने लायक बनाता था। इसके बाद मैंने मैनुअल पंप का इस्तेमाल किया। यह बहुत थका देने वाला था। लुकास ने कहा- मैंने सैटेलाइट फोन का इस्तेमाल किया। एक महीने बाद ही मेरा म्यूजिक सिस्टम खराब हो गया। कुछ दिन तो काफी अकेलापन महसूस हुआ। लेकिन फिर इसकी आदत हो गई। 

COMMENT