लंदन चाकूबाजी / दो की मौत; पाकिस्तानी मूल का हमलावर भी मारा गया, आतंकवाद से जुड़े मामले में 6 साल जेल में था

हमलावर उस्मान खान (बाएं से चौथा) 2012 में बम विस्फोट की साजिश रचने का दोषी पाया गया था, उसके साथ 5 अन्य लोगों भी पकड़े गए थे। हमलावर उस्मान खान (बाएं से चौथा) 2012 में बम विस्फोट की साजिश रचने का दोषी पाया गया था, उसके साथ 5 अन्य लोगों भी पकड़े गए थे।
घटना के बाद पुलिस ने लंदन ब्रिज बंद कर दिया। घटना के बाद पुलिस ने लंदन ब्रिज बंद कर दिया।
X
हमलावर उस्मान खान (बाएं से चौथा) 2012 में बम विस्फोट की साजिश रचने का दोषी पाया गया था, उसके साथ 5 अन्य लोगों भी पकड़े गए थे।हमलावर उस्मान खान (बाएं से चौथा) 2012 में बम विस्फोट की साजिश रचने का दोषी पाया गया था, उसके साथ 5 अन्य लोगों भी पकड़े गए थे।
घटना के बाद पुलिस ने लंदन ब्रिज बंद कर दिया।घटना के बाद पुलिस ने लंदन ब्रिज बंद कर दिया।

  • पुलिस के मुताबिक, हमलावर नकली विस्फोटक की जैकेट पहनकर आया था, उसने खुद को उड़ाने की धमकी दी थी
  • चाकूबाजी के बाद राहगीरों ने हमलावर को घेर लिया, पुलिस ने खतरा भांपते हुए उसे गोली मार दी

Dainik Bhaskar

Nov 30, 2019, 12:04 PM IST

लंदन. ब्रिटेन के लंदन ब्रिज पर शुक्रवार को हुई चाकूबाजी की घटना में दो लोगों की मौत हो गई। वहीं 3 लोग गंभीर रूप से घायल हैं। पुलिस के मुताबिक, हमलावर ने नकली विस्फोटक जैकेट पहनी थी। उसने ब्रिज पर मौजूद लोगों को खुद को उड़ाने की धमकी भी दी। इसके बाद पुलिस ने उसे गोली मार दी। हमलावर की पहचान पाकिस्तानी मूल के उस्मान खान (28) के तौर पर की गई है। वह 2012 में बम विस्फोट की साजिश रचने का दोषी पाया गया था। दिसंबर 2018 में उसे जमानत पर छोड़ा गया था। 

सजा सुनाने वाले जज ने कहा था- उसे छोड़ा नहीं जाना चाहिए

न्यूज एजेंसी के मुताबिक, उस्मान युवावस्था के दौरान मां के साथ काफी समय पाकिस्तान में रहा। ब्रिटेन में वह अल-कायदा की विचारधारा से जुड़े एक गुट में शामिल हुआ। 2012 में सजा सुनाते वक्त जज ने उसे खतरनाक जिहादी बताया था। साथ ही कहा था कि उसे तब तक नहीं छोड़ा जाना चाहिए, जब तक वो लोगों के लिए खतरा है। 

सार्वजनिक स्थलों की घेराबंदी की जाएगी

लंदन के काउंटर टेररिज्म ऑफिसर नील बासु ने कहा कि इस घटना के बाद शहर में पुलिस की गश्त बढ़ा दी जाएगी। वहीं भीड़भाड़ वाले इलाकों की घेराबंदी की जाएगी, ताकि सार्वजनिक स्थल खतरे से बाहर रहें। जुलाई 2017 में ही आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएस) के आतंकी ने लंदन ब्रिज के नजदीक लोगों को ट्रक से टक्कर मार दी थी। इसके बाद हुई चाकूबाजी की घटना में 11 की मौत हुई थी। 

प्रधानमंत्री जॉनसन ने आपात सेवाओं की तारीफ की

ब्रिटिश प्रधानमंत्री बॉरिस जॉनसन ने ट्वीट कर घटना में मारे गए लोगों के प्रति शोक जताया। उन्होंने कहा, “मेरी संवेदनाएं मृतकों के परिवार के साथ हैं। इमरजेंसी सेवाओं और उन नागरिकों का शुक्रिया जो एक दूसरे के बचाव के लिए बहादुरी से आगे आए। जॉनसन के एक और ट्वीट में कहा, “मैं तत्काल प्रतिक्रिया के लिए पुलिस और सभी आपातकालीन सेवाओं को धन्यवाद देना चाहता हूं।” 

हेग में भी चाकूबाजी: 3 घायल, हमलावर की तलाश जारी
नीदरलैंड्स के हेग में भी शुक्रवार को एक व्यक्ति ने तीन लोगों पर चाकू से हमला कर दिया। हमलावर फरार हो गया। पुलिस ने फिलहाल इसे आतंकी घटना कहने से इनकार किया है। हालांकि, शहर में रेड अलर्ट जारी कर दिया गया है। पुलिस के मुताबिक, जिन पर हमला किया गया, वे सभी नाबालिग थे। 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना