• Hindi News
  • International
  • The 9 11 Attacks Recovered, But The Epidemic Ruined The Business, In The Last 18 Months, More Than 350 Retailers Closed Business.

न्यूयॉर्क की तस्वीर:9/11 हमले से तो संभल गए पर महामारी ने कारोबार चौपट किया, पिछले 18 माह में 350 से अधिक रिटेलरों ने कारोबार समेटा

2 महीने पहलेलेखक: मैथ्यू हाग, पैट्रिक मेकगीहन
  • कॉपी लिंक
महामारी ने लोअर मैनहटन के जीवन का बहुत कुछ निचो़ड़ लिया है। कई बड़ी कंपनियों ने दफ्तर खाली कर दिए हैं।  - Dainik Bhaskar
महामारी ने लोअर मैनहटन के जीवन का बहुत कुछ निचो़ड़ लिया है। कई बड़ी कंपनियों ने दफ्तर खाली कर दिए हैं। 

किसी समय न्यूयॉर्क की पहचान रहे वर्ल्ड ट्रेड सेंटर के पास मैनहटन के दक्षिण छोर पर अमीश मार्केट 1999 में खुला था। मार्केट में किराना और अन्य जरूरी सामान के स्टोर थे। दो साल बाद 11 सितंबर, 2001 को 110 मंजिला ट्विन टॉवर आतंकवादी हमले में ढह गए।

अमीश मार्केट के स्टोर टॉवर के मलबे और धूल में डूब गए। हमले के बाद बंद मार्केट थोड़ी दूर नई लोकेशन पर पांच साल बाद खुला। लोअर मैनहटन ने देश के सबसे बड़े कारोबारी जिले के बतौर पहचान बनाई। 11 सितंबर म्यूजियम और स्मारक बनने से यह जगह टूरिस्ट के आकर्षण का केंद्र हो गई है।

अमीश मार्केट में स्टाफ की संख्या दोगुनी हो गई। मार्केट में साप्ताहिक बिक्री लगभग सवा करोड़ रुपए हो गई। लेकिन, यह सब तरक्की एक अन्य संकट में कुछ दिन के भीतर चौपट हो गई। लोअर मैनहटन में कारोबार जमकर प्रभावित हुआ है। न्यूयॉर्क में मार्च 2020 में कोरोना वायरस का प्रकोप होने के बाद आसपास के इलाके खाली हो गए। अमीश मार्केट में प्रति सप्ताह कारोबार 17 लाख रुपए रह गया। पिछले साल सितंबर में मार्केट बंद हो गया। लोअर मैनहटन में पिछले 18 माह में 350 से अधिक रिटेलरों ने कारोबार समेट लिया है।

लोअर मैनहटन में 21 प्रतिशत से अधिक ऑफिस स्पेस खाली है। पिछले साल से आए मंदी के दौर को डेल्टा वैरिएंट के प्रसार ने बढ़ा दिया है। आतंकवादी हमले के बाद अनुमान था कि लोअर मैनहटन कभी नहीं उबर पाएगा। लेकिन, बीस साल में तस्वीर बदल गई।लगभग डेढ़ लाख करोड़ रुपए के सरकारी और निजी निवेश से इलाका जगमगाने लगा।

मैनहटन न्यूयॉर्क के संकट से उबरने का प्रतीक बन गया। ट्विन टॉवर के बगल में वन वर्ल्ड ट्रेड सेंटर सहित कई नई बिल्डिंग बन गई हैं। इलाके में पर्यटकों की भीड़ लगने लगी। हर साल एक करोड़ 40 लाख टूरिस्ट आने लगे। लेकिन, महामारी ने लोअर मैनहटन के जीवन का बहुत कुछ निचो़ड़ लिया है। कई बड़ी कंपनियों ने दफ्तर खाली कर दिए हैं।