'द इकोनॉमिस्ट' से विशेष अनुबंध के तहत:पहला स्मार्टफोन फिल्म फेस्टिवल, इसमें आईं फिल्में आधी स्मार्टफोन पर ही शूट की गईं

लंदन4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
‘मिस्ड कॉल’ की शूटिंग के दौरान मैपलबेक। - Dainik Bhaskar
‘मिस्ड कॉल’ की शूटिंग के दौरान मैपलबेक।
  • लंदन में आयोजित फेस्टिवल में स्पेन और वेनेजुएला की फिल्में भी, गुणवत्ता भी बेहतर

ब्रिटेन की राजधानी में इन दिनों ‘द लंदन इंटरनेशनल स्मार्टफोन फिल्म फेस्टिवल’ (स्मार्ट फॉर शॉर्ट) चल रहा है। फेस्टिवल में ब्रिटेन के अलावा स्पेन, ईरान और वेनेजुएला जैसे देशों से भी फिल्में आई हैं। इनमें डॉक्यूमेंट्री, थ्रिलर और प्रयोगात्मक कला फिल्में शामिल हैं। इनकी अवधि 1 मिनट से लेकर 1 घंटे तक है।

इन सभी फिल्मों में एक समानता यह है कि कई फिल्मों की शूटिंग उस स्मार्टफोन के जरिए की गई है, जिसे लोग जेब में लेकर चलते हैं। यह पहला बड़ा फिल्म फेस्टिवल है, जिसमें आई फिल्मों का कम से कम 50% हिस्सा मोबाइल के जरिए शूट किया गया है। आयोजन का यह पहला संस्करण है। इसके आयोजकों एडम जी और विक्टोरिया मैपलबेक ने बताया कि फेस्ट में आई सभी प्रविष्टियों में विविधता तो है ही, गुणवत्ता के मामले में भी ये सभी असाधारण रूप से बेहतर हैं। एडम कहते हैं कि यह दौर सिनेमा के लिए कठिन रहा है। कुछ हताश निर्देशकों ने विकल्प के तौर पर स्मार्टफोन का रुख किया। इसी बात को ध्यान में रखते हुए हमने 2021 को शुभांरभ वर्ष चुना। महामारी से फिल्मों की स्क्रीनिंग भी रुक सी गई है। इसलिए फेस्टिवल वर्चुअल है। जजों का पैनल भी चुनी हुई एंट्री ऑनलाइन देख सकेगा।

स्मार्टफोन से शूट की गई फिल्म ‘मिस्ड कॉल’ ने बाफ्टा अवॉर्ड जीता था
मैपलबेक द्वारा स्मार्टफोन से फिल्माई गई फिल्म मिस्ड कॉल ने 2019 में बेस्ट शॉर्ट फिल्म के लिए बाफ्टा जीता था। एडम कहते हैं कि सभी के पास स्मार्टफोन हैं, जो बेहतर और गुणवत्ता वाले वीडियो-तस्वीरें बनाने में सक्षम हैं। सॉफ्टवेयर उपलब्ध हैं, यू-ट्यूब जैसे शेयरिंग प्लेटफॉर्म के जरिए दुनिया तक पहुंच मिलती है। जरूरत बस कौशल और विजन की है।

खबरें और भी हैं...