• Hindi News
  • International
  • The Havoc Of The Weather America Europe Due To Heat, Australia Suffering From Floods, 1200 Years Of Severe Drought In Spain Portugal; Emergency In Italy

अमेरिका-यूरोप में गर्मी और सूखे की मार:बाढ़ से बेहाल हुआ ऑस्ट्रेलिया, स्पेन और पुर्तगाल में 1200 साल का भीषण सूखा

रोम/सिडनी/ओटावा3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

अमेरिका से लेकर यूरोप तक कई देश भीषण गर्मी और सूखे से बेहाल हैं। कनाडा और अमेरिका में अलास्का, कैलिफोर्निया समेत राज्यों में भीषण गर्मी पड़ रही है। गर्मी के चलते जंगल की आग ने इस साल कई रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं। इस साल एरिजोना और दक्षिणी कैलिफोर्निया में जंगलों की आग की जद में करीब 7 लाख एकड़ का इलाका आ चुका है।

आग के कारण 11 करोड़ लोग भीषण गर्मी का सामना कर रहे हैं। 900 एकड़ इलाका तो सोमवार को ही खाक हो गया। अमेरिका के साथ कनाडा के कई इलाकों में पारा 35 डिग्री के पार चला गया है, जो जुलाई के महीने में रिकॉर्ड है। इधर, यूरोप में गर्मी का कहर जारी है। स्पेन और पुर्तगाल में सबसे भीषण गर्मी पड़ रही है। एक रिसर्च में सामने आया कि दोनों देशों में 1200 साल में पहली बार इतना भीषण सूखा देखा है।

इटली में इमरजेंसी का ऐलान, सबसे लंबे जलमार्ग वाली नदी में 85% घटा पानी

उधर, इटली की सरकार ने बीते लंबे समय से चल रही लू और भयंकर सूखे की स्थिति से निपटने के लिए आपातकाल की घोषणा कर दी है। इटली के सबसे लंबे जलमार्ग पो नदी में पानी सामान्य जल स्तर से 85% नीचे चला गया है। देश में इमरजेंसी एक साल लागू रह सकती है।

गर्मी की मार से अनाज उत्पादन घटा
गर्मी का सीधा असर कृषि पर पड़ा है। स्पेन के प्रमुख राज्य इबेरियन में खाद्यान्न उत्पादन एक चौथाई पर आ गया है। पर्यटक गतिविधियां भी इस शताब्दी के निचले स्तर पर हैं। इसी तरह नॉर्वे समेत कई स्कैंडेवियन देशों में गर्मी ने परेशानी बढ़ाई है।

ऑस्ट्रेलिया का दर्द: इस बार की बाढ़ 2021 से भयावह
ऑस्ट्रेलिया का सबसे बड़ा राज्य न्यू साउथ वेल्स बाढ़ से बेहाल है। इस महीने में बीते चार दिनों में वहां 20 सेमी बारिश हो चुकी है। न्यू साउथ वेल्स की राजधानी सिडनी और उसके आसपास के कई इलाके करीब चार दिन से जारी भारी बारिश के बाद डूबे हुए हैं।

हजारों लोगों की जिंदगी प्रभावित हुई। 5300 लोगों ने सोमवार को बचाव दल से मदद की गुहार लगाई। बाढ़ से कई जगह कारों और ट्रकों में ड्राइवर फंस गए। इस बाढ़ ने बीते साल मार्च में आई बाढ़ को भी पीछे छोड़ दिया है।

यूरोप के 1 तिहाई क्षेत्र में 250 साल का भीषण सूखा

यूरोप मौजूदा वक्त में सबसे भीषण सूखे की जद हैं। जर्मनी, फ्रांस, चेक गणराज्य समेत यूरोप का एक तिहाई हिस्सा इससे जूझ रहा है। 250 सालों में 2018 से 2020 का वक्त सूखे के लिहाज से सबसे खराब रहा। इन 33 महीनों में हवा में औसत तापमान 2.8 डिग्री ज्यादा दर्ज किया गया।

1766 से दर्ज डेटा में यह वक्त सबसे गर्म और कहर ढाने वाला साबित हुआ। उच्च तापमान और कम बारिश से जमीन सूख गई।