• Hindi News
  • International
  • The Skeleton Of A Sea Dragon Was Found It Was 30 Feet Long, The Skull Was 1 Ton; 'Ichthyosaurs' Went Extinct 90 Million Years Ago

समुद्री ड्रैगन का कंकाल मिला:यह 30 फीट लंबा, खाेपड़ी 1 टन की; ‘इचथ्योसॉर’ 9 करोड़ साल पहले विलुप्त हो गए थे

लंदन11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
दुनिया में करीब 25 करोड़ साल पहले सबसे पहले इचथ्योसॉर अस्तित्व में आए थे और 9 करोड़ साल पहले वे धरती से विलुप्त हो गए। - Dainik Bhaskar
दुनिया में करीब 25 करोड़ साल पहले सबसे पहले इचथ्योसॉर अस्तित्व में आए थे और 9 करोड़ साल पहले वे धरती से विलुप्त हो गए।

ब्रिटेन में वैज्ञानिकों को मिडलैंड इलाके में 18 करोड़ साल पुराने विशाल ‘समुद्री जलचर’ (इचथ्योसॉर) का कंकाल मिला है। यह समुद्री ड्रैगन डॉल्फिन की तरह से दिखता है और 30 फीट लंबा है। इसकी खोपड़ी का वजन ही 1 टन बताया गया है। यह ब्रिटेन में मिला अपनी तरह का सबसे विशाल और अपनी तरह का पूर्ण जीवाश्म है। इस जीवाश्म की खोज 48 वर्षीय जो डेविस ने फरवरी 2021 में की थी।

रुटलैंड के पानी के पास‍ मिला यह सी ड्रैगन करीब 82 फीट तक हो सकता था। इचथ्योसॉर को सी ड्रैगन इसलिए कहा जाता था क्योंकि उनके दांत और आंखें बहुत बड़ी-बड़ी होती थीं। सबसे पहले इचथ्योसॉर की खोज 19वीं सदी में जीवाश्‍म विज्ञानी मैरी अन्नीइंग ने की थी। इस समुद्री जीव का अध्‍ययन करने वाले डॉक्टर डीन लोमैक्स ने कहा, ‘ब्रिटेन में इचथ्योसॉर के कई जीवाश्म मिलने के बाद भी यह उल्‍लेखनीय है क्‍योंकि यह ब्रिटेन में मिला सबसे बड़ा कंकाल है।

दुनिया में करीब 25 करोड़ साल पहले सबसे पहले इचथ्योसॉर अस्तित्व में आए थे और 9 करोड़ साल पहले वे धरती से विलुप्त हो गए। ये आकार में देखने में डॉल्फिन की तरह से होते थे। इचथ्योसॉर इंग्लैंड और अटलांटिक समुद्र के पानी में हर जगह मौजूद थे। उनके शरीर की तुलना में इचथ्योसॉर की आंखें बड़ी होती थीं।’

हाल ही में अमेरिका में वैज्ञानिकों की एक टीम ने डायनासोर के समय के इचथ्योसॉर की खोज की थी। इस जीव की लंबाई 55 फीट तक देखी गई है। रिसर्च से पता चला है कि मछली के आकार के इन समुद्री जलचरों का आकार 24 करोड़ साल पहले काफी तेजी से बढ़ा था। इस जीव के सिर का आकार 6.5 फीट मापा गया है।

ह्वेल की तुलना में बहुत तेजी से बढ़ा यह जीव
कैलिफोर्निया के स्क्रिप्स कॉलेज में जीव विज्ञान के एसोसिएट प्रोफेसर और वरिष्ठ जलचर शोधकर्ता लार्स शमित्ज ने स्टडी में कहा है कि इचिथ्योसॉर ने व्हेल की तुलना में अपने आकार को काफी तेजी से बढ़ाया है। वह भी तब, जब धरती से डायनासोर जैसे जीव तेजी से विलुप्त हो रहे थे। यह अब तक की सबसे बड़ी खोज है। हमें उम्मीद है कि इससे कई तरह के रहस्य खुलेंगे।