पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • International
  • Things Are Changing In Italy At Number 7 In Terms Of Deaths, Now New Strain Challenge In America

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

इटली में लॉकडाउन खत्म होगा:मौतों के मामले में 7वें नंबर पर रहे इटली में बदल रहे हालात, अमेरिका में अब नया स्ट्रेन चुनौती

रोम/वॉशिंगटनएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
इटली में कोरोना वायरस को लेकर स्थिति में हो रहा सुधार, इसे लेकर सरकार ने लॉकडाउन में ढील देने का फैसला किया है। - Dainik Bhaskar
इटली में कोरोना वायरस को लेकर स्थिति में हो रहा सुधार, इसे लेकर सरकार ने लॉकडाउन में ढील देने का फैसला किया है।
  • अमेरिका में मिल रहे कुल मामलों में आधी हिस्सेदारी ब्रिटेन वेरियंट की

इटली में कोरोना वायरस को लेकर स्थिति में सुधार हो रहा है। यहां कोरोना के साप्ताहिक मामलों में 2% और मौतों में 14% गिरावट दर्ज हुई है। इसे लेकर सरकार ने कहा है कि 26 अप्रैल से देश में कई जगह लॉकडाउन में ढील दी जाएगी। लेकिन इस दौरान लोगों को कोरोना गाइडलाइन का पालन करना होगा।

कोरोना से होने वाली मौतों के मामले में इटली में सातवें नंबर पर है। इटली के प्रधानमंत्री मारियो ड्राघी ने कहा- ‘देश में कोरोना को लेकर हालात सुधर रहे हैं, इसलिए सरकार प्रतिबंध हटाने का फैसला ले रही है।’ फिलहाल जहां संक्रमण कम है, वहां रेस्त्रां और सिनेमा हॉल खोले जाएंगे।

वहीं, 15 मई से ओपन एयर स्वीमिंग पूल और 1 जून से जिम खोलने पर भी विचार किया जा रहा है। वहीं, अमेरिका में वायरस का ब्रिटेन वेरियंट तेजी से फैल रहा है। अमेरिका में कोरोना के साप्ताहिक मामले 4% बढ़े हैं। अच्छी बात यह है कि साप्ताहिक मौतें 6% घटी हैं। सेंटर फॉर डिसीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन की डॉयरेक्टर रोशेल वेलेंस्की के अनुसार, नया स्ट्रेन 70% अधिक तेजी से फैलता है। इसलिए इससे निपटना और भी चुनौतीपूर्ण हो रहा है।

भास्कर एक्सप्लेनर

जानिए, क्या है नए कोरोना वेरिएंट और महामारी पर उनका असर

ऐसा कोई सप्ताह नहीं बीत रहा जब वैज्ञानिक कोरोना के किसी नए वेरिएंट की पहचान न करते हों। अब तक ब्रिटेन, ब्राजील, दक्षिण अफ्रीका में मिले वेरिएंट की चर्चा रही है। जानिए कोरोना के वेरियंट के बारे में...

म्यूटेशन क्या है?
वायरस का म्यूटेट (परिवर्तन) होना एक स्वाभाविक प्रक्रिया है। वायरस ने खुद को इसलिए बदलता है ताकि वह आसानी से फैल सके और ज्यादा लोगों को संक्रमित कर सके। कोरोना वायरस भी वही कर रहा है। औसतन कोरोना वायरस महीने में दो बार खुद में परिवर्तन करता है।
दुनिया में कितने म्यूटेशन हैं?
तेजी से फैलने वाला B117 या 501YV1 वेरिएंट पहले केंट में देखा गया, B1351 या 501YV2 वेरिएंट पहली बार दक्षिण अफ्रीका में मिला, और P1 या 501YV3 वैरिएंट पहली बार ब्राजील में देखा गया। अब तक पाए गए सबसे चिंताजनक म्यूटेशनों में से एक E484K या ईक है, यह स्पाइक प्रोटीन भी बदल देता है।
भविष्य में भी विकसित होगा वायरस?
वायरस कितना और कैसा बदलेगा इसका अनुमान कोई नहीं लगा सकता। लेकिन जिस गति से वायरस म्यूटेट होगा उसी गति से टीके भी विकसित होंगे।

ब्रिटेनः उम्र, रिस्क के आधार पर गर्भवती महिलाओं के टीकाकरण को मंजूरी

ब्रिटेन में गर्भवती महिलाओं के टीकाकरण को मंजूरी दे दी गई है। नई गाइडलाइन में कहा गया है कि ऐसी महिलाएं जो गर्भधारण की कोशिश कर रही हैं, हाल में शिशु को जन्म दिया हो या स्तनपान करा रही हों, उन्हें भी टीका लगाया जा सकता है। जेसीवीआई के प्रो वेई शेन लिम ने कहा कि टीका लगवाने के लिए महिला की उम्र और मेडिकल संबंधी रिस्क के आधार पर फैसला लिया जाएगा। टीके से कोई खतरा पैदा नहीं होता।

ब्राजीलः महिलाओं को चेतावनी, पी-1 वेरियंट घातक, गर्भधारण न करें

ब्राजील में महिलाओं को गर्भधारण न करने की चेतावनी जारी की गई है। महिलाओं से कहा गया है कि जब तक कोरोना का सबसे बुरा दौर गुजर न जाए, तब तक वे गर्भवती न हों। स्वास्थ्य मंत्रालय के अधिकारी राफेल पैरेंट ने बताया कि ब्राजील में पाए जाने वाले पी-1 वेरियंट पर किए गए परीक्षणों से पता चलता है यह वायरस गर्भवती महिलाओं में अधिक तेजी और आक्रामकता के साथ फैलता है।

खबरें और भी हैं...

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव - आर्थिक स्थिति में सुधार लाने के लिए आप अपने प्रयासों में कुछ परिवर्तन लाएंगे और इसमें आपको कामयाबी भी मिलेगी। कुछ समय घर में बागवानी करने तथा बच्चों के साथ व्यतीत करने से मानसिक सुकून मिलेगा...

और पढ़ें