• Hindi News
  • International
  • Thoughts On The Ban On Gas Stoves In America Due To This Children Are At Risk Of Asthma And Respiratory Diseases.

अमेरिका में गैस स्टोव पर प्रतिबंध को लेकर विचार:इससे बच्चों को अस्थमा और सांस की बीमारियों का खतरा

13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

लेखक : निक पोपली
कुकिंग गैस के चूल्हे से निकलने वाली गैसें स्वास्थ्य के लिए नुकसानदेह हैं। इनसे बच्चों को दमा (अस्थमा) हो सकता है। चूल्हों से निकलने वाली गैस से सांस की बीमारियों का खतरा है। अमेरिका में सरकारी नियामक एजेंसियां गैस स्टोव पर प्रतिबंध लगाने का विचार कर रही हैं।

अमेरिकी कंज्यूमर प्रोटेक्ट सेफ्टी कमीशन (सीपीएससी) गैस चूल्हे के लिए अनिवार्य मापदंड तय करने या उस पर पाबंदी लगाने का फैसला कर सकता है। कमिश्नर रिचर्ड ट्रुमका ने कहा कि वह समस्या के हल का बेहतर तरीका खोज रहे हैं। उन्होंने 9 जनवरी को ट्वीट किया था कि गैस स्टोव खतरनाक स्तर तक जहरीले केमिकल का उत्सर्जन करते हैं। बंद होने पर भी उनसे थोड़ा उत्सर्जन जारी रहता है। हमारी एजेंसी नियमन के सभी उपायों पर गौर करेगी।

इस खबर की तीखी प्रतिक्रिया हुई
अमेरिका में लगभग 35 प्रतिशत घरों में गैस स्टोव का उपयोग होता है। सीपीएससी का कहना है, किसी भी कार्यवाही की प्रक्रिया लंबी है। दिसंबर 2022 में इंटरनेशनल एनवायरनमेंटल रिसर्च और पब्लिक हेल्थ मैग्जीन में प्रकाशित स्टडी के अनुसार अमेरिका में बच्चों को अस्थमा के 12% मामलों का संबंध गैस स्टोव के इस्तेमाल से जुड़ा हो सकता है। स्टडी के सह लेखक और स्वयंसेवी स्वच्छ ऊर्जा ग्रुप आरएमआई के मैनेजर ब्रेड सील्स कहते हैं, बच्चों या अस्थमा से पीड़ित लोगों के अधिक प्रभावित होने का खतरा है।

अस्थमा काउंसिल का सुझाव- किचन की खिड़कियों को खोले रखें
प्रदूषित हवा को किचन या घर से बाहर निकालने का इंतजाम कर कुकिंग गैस के नुकसान से बचाव संभव है। नेशनल अस्थमा काउंसिल का सुझाव है, जिन घरों में ऊंची चिमनियां नहीं हैं, वहां कुकिंग के दौरान और उसके बाद खिड़कियों को खोले रखना चाहिए। लेकिन इससे भी सेहत को खतरा पूरी तरह खत्म नहीं होगा।

अक्टूबर में एनवायरनमेंटल साइंस, टेक्नोलॉजी जर्नल में प्रकाशित स्टडी में पाया गया कि इस्तेमाल न किए जाने पर भी गैस स्टोव थोड़ी मीथेन और बेंजीन का उत्सर्जन करते हैं। हवा की क्वालिटी सुधारने के लिए कुछ घरों में एयर प्यूरिफायर लगाए जा सकते हैं। एक बर्नर का चूल्हा भी खरीद सकते हैं। अमेरिका में इनफ्लेशन रिडक्शन एक्ट के तहत गैस स्टोव की जगह इलेक्ट्रिक स्टोव खरीदने वाले को टैक्स में 840 डॉलर (68000 रु.) की छूट और 500 डॉलर (40000 रु.) की मदद का प्रावधान है।

गैस स्टोव से बेहतर इंडक्शन
बोस्टन यूनिवर्सिटी में पर्यावरण स्वास्थ्य विभाग के प्रमुख जोनाथन लेवी कहते हैं, इलेक्ट्रिक इंडक्शन चूल्हा खरीदने के कई फायदे हैं। यह पर्यावरण के लिए महत्वपूर्ण होगा। खाना भी तेजी से पकेगा। गैस स्टोव का नियमन होटलों और रेस्तरांओं को भी प्रभावित करेगा। गैस स्टोव पर पाबंदी से रेस्तरांओं को खाना और अन्य चीजें पकाने में मुश्किल होगी। खासतौर से पूर्व एशियाई देशों में कई डिश बहुत ज्यादा फ्राई की जाती हैं।

हालांकि कुछ शेफ इलेक्ट्रिक कुकिंग का स्वागत कर रहे हैं। पिट्सबर्ग, अमेरिका में किचन कंसल्टिंग कंपनी- डाइनिंग सॉल्यूशंस के फाउंडर और शेफ क्रिस गलार्जा बताते हैं, इंडक्शन कुकिंग से उनकी टीम को प्रोडक्शन बढ़ाने में मदद मिली है। कर्मचारियों की मानसिक सेहत में सुधार हुआ है, क्योंकि किचन गर्म नहीं रहता है।

कुकिंग गैस से नुकसान पर 50 साल से बहस
कुकिंग गैस से स्वास्थ्य को नुकसान के संबंध में 50 साल पहले बहस शुरू हुई थी। उस समय इंग्लैंड और स्कॉटलैंड में शोधकर्ताओं ने पांच हजार से अधिक बच्चों के माता-पिता का सर्वे किया था। पाया गया कि कुकिंग गैस और अस्थमा के लक्षणों के बीच सीधा संबंध है। लेकिन कुछ नए अध्ययनों ने चिंता पैदा की है। शोधकर्ताओं ने पाया कि गैस स्टोव नाइट्रोजन डाई ऑक्साइड और पीएम 2.5 नामक अन्य सूक्ष्म कणों का उत्सर्जन करते हैं। इनसे फेफड़ों को नुकसान होता है। इनका संबंध बच्चों के दमा से है।

खबरें और भी हैं...