अमेरिका में लगातार दूसरे दिन फायरिंग:इंडियाना में पार्टी में हुई शूटिंग में 3 की मौत, 7 घायल; कल फ्रीडम डे परेड में 6 लोग मारे गए थे

वॉशिंगटनएक महीने पहले

अमेरिका के इंडियाना में फायरिंग हुई है। इसमें 10 लोगों को गोली लगी है, जिसमें से 3 की मौत हो गई है। गैरी पुलिस ने बताया कि हॉलिडे पार्टी के दौरान फायरिंग की घटना हुई। पिछले 24 घंटे में फायरिंग की लगातार ये दूसरी घटना है। इससे पहले सोमवार को शिकागो में फ्रीडम डे परेड के दौरान फायरिंग हुई थी, जिसमें 6 लोग मारे गए थे।

इससे पहले 13 जून को भी गैरी में ही एक नाइट क्लब में हुई फायरिंग में दो लोगों की मौत हो गई थी। इस घटना में 4 लोग घायल भी हुए थे। शूटिंग के बाद गैरी के नाइट क्लब बंद कर दिए गए थे।

4 जून को शिकागो में फ्रीडम परेड पर हुई थी फायरिंग
बता दें कि सोमवार को अमेरिका के स्वतंत्रता दिवस पर शिकागो में फ्रीडम डे परेड में फायरिंग हुई थी। ये घटना शिकागो के उपनगर हाईलैंड पार्क में हुई थी। इलेनॉय राज्य के गवर्नर जेबी प्रित्जकर ने 6 लोगों की मौत और 16 के घायल होने की जानकारी दी थी।

शिकागो में पुलिस ने इलाके को सील कर दिया था। हर रास्ते पर पुलिस तैनात थी।
शिकागो में पुलिस ने इलाके को सील कर दिया था। हर रास्ते पर पुलिस तैनात थी।

लोग चिल्ला रहे थे- कोई शूटर है..कोई शूटर है...
हाईलैंड पार्क में रहने वाली एक प्रत्यक्षदर्शी डेबी ग्लिकमैन ने बताया- मैं अपने साथियों के साथ परेड फ्लोट पर मौजूद थीं। अचानक लोगों के चीखने की आवाज सुनी। लोग बदहवास होकर अपनी जान बचाकर भाग रहे थे। वे कह रहे थे- यहां से भागो..कोई शूटर है..कोई शूटर है... गोलियां बरसा रहा है। हालांकि मैंने किसी भी घायल को नहीं देखा, लेकिन लोगों का डर दुखद था।

समारोह के दौरान फायरिंग से लोग घबराकर अपने सामान वहीं छोड़कर भाग गए।
समारोह के दौरान फायरिंग से लोग घबराकर अपने सामान वहीं छोड़कर भाग गए।

इलेनॉय के गवर्नर ने क्या कहा
इलेनॉय के गवर्नर जेबी प्रित्जकर ने कहा था, 'मैं और मेरा स्टाफ हाईलैंड पार्क की स्थिति पर करीब से नजर रख रहे हैं। पुलिस मौके पर है। लोगों की हर संभव मदद की जा रही है। हम प्रभावित लोगों की मदद के लिए स्थानीय अधिकारियों के साथ काम कर रहे हैं।'

अमेरिका में गन कल्चर के दो पुराने मामले भी पढ़ें...

1. स्कूल में फायरिंग से 19 बच्चों की हो गई थी मौत
24 मई 2022 को टेक्सास प्रांत के एक स्कूल में फायरिंग की घटना हुई थी, जिसमें 19 बच्चों की मौत हो गई थी। हत्यारा उसी स्कूल में पढ़ाई कर रहा था। गोलीबारी के दौरान ही हत्यारे को पुलिस ने मार गिराया था। इस घटना के बाद राष्ट्रपति जो बाइडेन ने कहा था कि सख्त कार्रवाई होगी।

टेक्सास स्कूल में शूटर ने दूसरी, तीसरी और चौथी क्लास में पढ़ने वाले मासूम बच्चों को अपनी गोली का निशाना बनाया था।
टेक्सास स्कूल में शूटर ने दूसरी, तीसरी और चौथी क्लास में पढ़ने वाले मासूम बच्चों को अपनी गोली का निशाना बनाया था।

2. एक महीने पहले फैक्ट्री में भी हुई थी फायरिंग
करीब एक महीने पहले अमेरिका के मैरीलैंड में दो लोगों ने एक मशीन फैक्ट्री में घुसकर फायरिंग कर दी थी। हमले में दो मजदूरों की मौत हो गई थी। 4 लोग गंभीर रूप से घायल हुए थे। पुलिस ने बताया था कि इस मामले में एक आरोपी को पकड़ा गया था। हालांकि, सोशल मीडिया पर यूजर्स दोनों हमलावरों की गिरफ्तारी की बात कह रहे थे। घटना के बाद खुफिया एजेंसी फेडरल ब्यूरो ऑफ इन्वेस्टिगेशन (FBI) ने पूरे इलाके को घेर लिया था।

अमेरिका के गन लॉ को समझें...

अमेरिका में क्यों नहीं लग पाती गन कल्चर पर लगाम

  • अमेरिका 230 साल बाद भी अपने गन कल्चर को नहीं खत्म कर पाया है। इसकी दो प्रमुख वजहें हैं। पहली- कई अमेरिकी राष्ट्रपति से लेकर वहां के राज्यों के गवर्नर तक इस कल्चर को बनाए रखने की वकालत करते रहे हैं। थियोडेर रूजवेल्ट से लेकर फ्रैंकलिन डी रूजवेल्ट, जिमी कार्टर, जॉर्ज बुश सीनियर, जॉर्ज डब्ल्यू बुश और डोनाल्ड ट्रंप तक कई अमेरिकी राष्ट्रपति गन कल्चर की तरफदारी करते रहे हैं।
  • गैलप की 2020 की एक रिपोर्ट के मुताबिक, डेमोक्रेटिक पार्टी के 91% सदस्य सख्त गन लॉ बनाने के पक्ष में थे, तो वहीं रिपलब्किन पार्टी के 24% लोग ही इसके पक्ष में थे। जो बाइडेन डेमोक्रेटिक पार्टी से हैं, जबकि डोनाल्ड ट्रंप रिपलब्किन से हैं।
  • दूसरी वजह गन बनाने वाली कंपनियां, यानी गन लॉबी भी इस कल्चर के बने रहने की प्रमुख वजह है। 2019 की एक रिपोर्ट के मुताबिक, अमेरिका में 63 हजार लाइसेंस्ड गन डीलर थे, जिन्होंने उस साल अमेरिकी नागरिकों को 83 हजार करोड़ रुपए की बंदूकें बेची थीं।
  • नेशनल राइफल एसोसिएशन यानी NRI अमेरिका में सबसे ताकतवर गन लॉबी है, जो वहां संसद सदस्यों को प्रभावित करने के लिए जमकर पैसा खर्च करती है। ये ताकतवर लॉबी गन कल्चर को खत्म करने के लिए प्रस्तावित दूसरे संविधान संशोधन में बदलावों का विरोध करती रही है।
  • अमेरिका के कई चुनावों में वहां की गन समर्थक लॉबी, गन पर बैन लगाने की मांग वाली लॉबी की तुलना में ज्यादा पैसा खर्च करती रही है। 2020 में गन समर्थक लॉबी ने करीब 3.2 करोड़ डॉलर खर्च किए थे, जबकि गन का विरोध करने वाली लॉबी 2.2 करोड़ डॉलर खर्च कर पाई थी।
  • कई अमेरिकी राज्य भी बंदूक से जुड़े प्रतिबंधों को हटाते रहे हैं। जून 2021 में टेक्सास ने एक बिल पारित करते हुए अपने नागरिकों को बिना लाइसेंस और ट्रेनिंग के हैंडगन रखने की इजाजत दे दी थी। अप्रैल 2021 में एक और अमेरिकी राज्य जॉर्जिया ने बिना परमिट और लाइसेंस के ही नागरिकों को हथियार रखने की इजाजत दे दी थी।