चीन ने फिर स्पेस स्टेशन भेजा मानव मिशन:3 एस्ट्रोनॉट को नए स्पेस स्टेशन भेजा गया, अगले 6 महीने तक वहां कंस्ट्रक्शन वर्क करेंगे

बीजिंग4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
चीन ने शेनझोउ-14 स्पेसक्राफ्ट से एस्ट्रोनॉट्स को 6 महीने के लिए तियांगोंग स्पेस स्टेशन में भेजा है। - Dainik Bhaskar
चीन ने शेनझोउ-14 स्पेसक्राफ्ट से एस्ट्रोनॉट्स को 6 महीने के लिए तियांगोंग स्पेस स्टेशन में भेजा है।

चीन ने रविवार को अपना एक और स्पेस मानव मिशन लॉन्च करने में सफल हो गया है। उसने तीन एस्ट्रोनॉट को शेनझोउ-14 स्पेसक्राफ्ट से 6 महीने के लिए तियांगोंग स्पेस स्टेशन में भेजा है। चाइनीज स्पेस एजेंसी (CMSA) ने बताया- स्पेस मिशन के लिए रविवार सुबह 10:44 को लॉन्ग 2F रॉकेट से लॉन्च किया गया था।

कंस्ट्रक्शन का काम करेंगे अंतरिक्ष यात्री
चीन ने अंतरिक्ष में लोगों की जिस टीम को भेजा है, वो तिनाह कोर मॉड्यूल में 6 महीने तक रहेगी। दिसंबर 2022 में पृथ्वी पर लौटने से पहले उन्हें अंतरिक्ष में चीन के कंस्ट्रक्शन को पूरा करना होगा। ये सभी यात्री तियांगोंग स्पेस स्टेशन के लिए एक और मॉड्यूल तैयार करेंगे। ये मॉड्यूल टी (T) शेप में होगा।

शी ज़ुज़े, चेन डोंग और लियू यांग जो शेनझोउ -14 अंतरिक्ष मिशन को अंजाम देंगे।
शी ज़ुज़े, चेन डोंग और लियू यांग जो शेनझोउ -14 अंतरिक्ष मिशन को अंजाम देंगे।

इसके साथ ही अंतरिक्ष यात्री इस मॉड्यूल की दो लेबोरेटरी मॉड्यूल वेंटियन और मेंगटियन की डॉकिंग, सेटिंग और टेस्टिंग करेंगे। चीन की तरफ से दावा किया जा रहा है कि एक बार तैयार होने के बाद ये स्पेस स्टेशन और मॉड्यूल का इस्तेमाल 15 सालों तक किया जा सकता है।

हर साल दो मानव और कार्गो मिशन भेजेगा चीन
इस प्रोजेक्ट के पूरा होने के बाद अगले 15 सालों तक चीन अंतरिक्ष में साल में दो बार मानव और कार्गो मिशन भेजेगा। CMSA ने इस मिशन के बारे में बताते हुए कहा- स्पेस मिशन के आखिरी दस दिनों में तीन और अंतरिक्ष यात्री भेजे जाएंगे, इन 10 दिनों के दौरान चीन के 6 लोग स्पेस में मौजूद होंग। जो हमारे लिए बड़ी उपलब्धि होगी।