2024 का राष्ट्रपति चुनाव लड़ेंगे डोनाल्ड ट्रम्प:आधिकारिक घोषणा करते हुए कहा- अमेरिका को महान बनाना है

वॉशिंगटन3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने 2024 का राष्ट्रपति चुनाव लड़ने की घोषणा कर दी है। उन्होंने कहा- 'अमेरिका को फिर से महान और गौरवशाली बनाने के लिए मैं राष्ट्रपति पद के लिए अपनी उम्मीदवारी की घोषणा कर रहा हूं।'

इससे पहले ही ट्रम्प ने US फेडरल इलेक्शन कमेटी में पेपरवर्क सबमिट कर दिया था। चुनाव के लिए औपचारिक रूप से घोषणा करने वाले डोनाल्ड ट्रम्प पहले प्रमुख दावेदार बन गए हैं। यानी 2024 में ट्रम्प का मौजूदा राष्ट्रपति जो बाइडेन से एक बार फिर कड़ा मुकाबला हो सकता है।

डोनाल्ड ट्रम्प ने अपनी संबोधन में कहा- मैं चुनाव लड़ने के लिए तैयार हूं। इस दौरान उनकी पत्नी मेलिना ट्रम्प साथ थीं।
डोनाल्ड ट्रम्प ने अपनी संबोधन में कहा- मैं चुनाव लड़ने के लिए तैयार हूं। इस दौरान उनकी पत्नी मेलिना ट्रम्प साथ थीं।

पहले ही कह चुके- मेरे चुनाव लड़ने से बहुत लोग खुश होंगे
ट्रम्प ने सिओक्स सिटी में एक रैली में साफ कर दिया था कि वो 2024 में होने वाले US प्रेसिडेंट इलेक्शन में उतरने का मन बना रहे हैं। उन्होंने कहा था- देश को सुरक्षित बनाने के लिए, मैं दोबारा चुनाव में खड़ा हो सकता हूं। मैं बस इतना कहना चाहूंगा कि आप सब तैयार हो जाएं।

इसके पहले भी एक इंटरव्यू में उन्होंने कहा था- मेरे चुनाव लड़ने से बहुत लोगों को खुशी होगी। सब चाहते हैं कि मैं इलेक्शन में खड़ा हो जाऊं। मेरी पॉपुलैरिटी ज्यादा है। मैं, प्रेसिडेंट कैंडिडेट पर किए जाने वाले हर तरह के पोल और सर्वे में भी आगे हूं।

मई 2022 में अमेरिकी चुनाव के लिए प्राइमरी हुई। प्राइमरी के दौरान दोनों प्रमुख पार्टियों के उम्मीदवार जनता के बीच जाते हैं और लोकप्रियता के आधार पर फिर अपनी ही पार्टी में उम्मीदवारी पाते हैं। इसमें ट्रम्प की पार्टी बाइडेन की पार्टी से आगे रही।
मई 2022 में अमेरिकी चुनाव के लिए प्राइमरी हुई। प्राइमरी के दौरान दोनों प्रमुख पार्टियों के उम्मीदवार जनता के बीच जाते हैं और लोकप्रियता के आधार पर फिर अपनी ही पार्टी में उम्मीदवारी पाते हैं। इसमें ट्रम्प की पार्टी बाइडेन की पार्टी से आगे रही।

घोषणा तो की, लेकिन कई अड़चनें भी

  • ट्रम्प के सपोर्टर्स तो कई हैं, लेकिन वे दूसरी बार राष्ट्रपति बन ही जाएंगे, ये कहना मुश्किल है। वजह- हाउस ऑफ रिप्रजेंटेटिव्स ने दो बार ट्रम्प पर महाभियोग चलाया। फिर 2020 में वे डेमोक्रेटिक पार्टी के जो बाइडेन से शिकस्त खा चुके हैं।
  • ट्रम्प पर फैमिली बिजनेस की धोखाधड़ी, US कैपिटल पर हमले में उनका हाथ, 2020 के चुनाव को पलटने की कोशिश और मार-ए-लागो में डॉक्यूमेंट्स छिपाने के आरोप हैं। जिनकी जांच चल रही है। अगर वे दोषी पाए जाते हैं तो जीत के बावजूद उन्हें डिस्क्वॉलिफाई कर दिया जाएगा।
  • इसके इतर 2024 में न सिर्फ बाइडेन बल्कि कई कैंडिडेट उन्हें टक्कर देने तैयार हैं, जिनमें फ्लोरिडा के गवर्नर रॉन डेसांटिस का नाम भी शामिल है। जिन्होंने 8 नवंबर को शानदार जीत हासिल की है।
2024 में ट्रम्प 78 साल के होंगे। राष्ट्रपति चुनाव के लिहाज से ये ज्यादा उम्र है।
2024 में ट्रम्प 78 साल के होंगे। राष्ट्रपति चुनाव के लिहाज से ये ज्यादा उम्र है।

ट्रम्प के घर से मिले न्यूक्लियर डॉक्युमेंट्स
FBI ने 9 अगस्त को पूर्व राष्ट्रपति ट्रम्प के आलीशान पॉम हाउस और रिसॉर्ट मार-ए-लीगो पर छापा मारा था। यहां एजेंट्स को दूसरे देशों की मिलिट्री और न्यूक्लियर कैपेबिलिटी से जुड़े डॉक्युमेंट्स मिले थे। इस पर ट्रम्प ने कहा- ये डॉक्युमेंट्स मुझे फंसाने के लिए रखे गए। वो ये दिखाना चाहते हैं कि मैंने डॉक्युमेंट्स चुराकर कानून तोड़ा है।

CBS न्यूज ने कहा कि मार-ए-लीगो में FBI की रेड अमेरिका के नेशनल आर्काइव्स रिकॉर्ड यानी अमेरिका की सरकारी एजेंसी के रख-रखाव की जांच से जुड़ी है। इस एजेंसी के पास राष्ट्रपति के रिकॉर्ड को सुरक्षित रखने की जिम्मेदारी होती है। आरोप है कि ट्रम्प ने जब पिछले साल व्हाइट हाउस छोड़ा था, तब वो कई डॉक्युमेंट्स अपने साथ लेते गए थे। कई बड़े बॉक्स में यह डॉक्युमेंट्स मार-ए-लीगो ले जाए गए थे। इसके बाद से ही अमेरिकी खुफिया एजेंसियां ट्रम्प और उनके करीबियों पर नजर रख रहीं थीं।

मिड टर्म इलेक्शन में आगे चल रही ट्रम्प की रिपब्लिकन पार्टी
न्यूयॉर्क टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, हाउस ऑफ रिप्रेजेन्टेटिव (लोअर हाउस) में रिपब्लिकन और डेमोक्रेटिक पार्टी के बीच अब भी कड़ा मुकाबला है। यहां ट्रम्प की रिपब्लिकन पार्टी आगे चल रही है। उनके पास 216 सीटें हैं, जबकि बहुमत के लिए 218 सीटें चाहिए। वहीं, डेमोक्रेटिक पार्टी 205 सीटें ही जीत पाई है।