पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • International
  • Trump Changes 72 Environmental Laws In 4 Years, 27 More In Queue, Experts Say Trump Undermines Climate Policies

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव:ट्रम्प ने 4 साल में 72 पर्यावरण कानून बदले, 27 और कतार में, विशेषज्ञों ने कहा- ट्रम्प ने जलवायु नीतियों को कमजोर कर दिया

7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
नॉर्थ कैरोलिना की रैली में ट्रम्प ने कहा कि हमेशा मास्क लगाने वाले लोग ज्यादा संक्रमित होते हैं, जबकि ट्रम्प खुद असहज दिखे। - Dainik Bhaskar
नॉर्थ कैरोलिना की रैली में ट्रम्प ने कहा कि हमेशा मास्क लगाने वाले लोग ज्यादा संक्रमित होते हैं, जबकि ट्रम्प खुद असहज दिखे।

अमेरिका में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने अपने चार साल के कार्यकाल में प्रमुख जलवायु नीतियों को नष्ट कर दिया है। न्यूयॉर्क टाइम्स ने एक स्टडी के आधार पर यह दावा किया है। इसके मुताबिक ट्रम्प ने 72 पर्यावरण कानून बदल दिए। जबकि 27 और कानूनों को बदलने की कोशिश कर रहे हैं। इस काम के लिए ट्रम्प ने एन्वायरमेंटल प्रोटेक्शन एजेंसी का इस्तेमाल किया है। लिहाजा ओबामा काल में पावर प्लांट, गाड़ियों और ट्रकों पर कार्बन डाइऑक्साइड उत्सर्जन के नियमों को ट्रम्प काल में कमजोर किया गया।

देशभर के आधे से ज्यादा वेटलैंड की सुरक्षा रद्द कर दी गई। यही नहीं, पावर प्लांट पर लगी पारा के उत्सर्जन नियमों को भी हटा लिया गया। गृह विभाग ने वन्य जीव सुरक्षा कानून को भी कमजोर किया, ताकि तेल और गैस उद्योग को ज्यादा जमीन लीज पर दी जा सके।

पर्यावरण सुरक्षा संस्थान की प्रवक्ता ने कहा कि ट्रम्प ने राज्यों से किए वादे पूरे किए। जबकि हार्वर्ड लॉ स्कूल की पर्यावरण और ऊर्जा कानून की विशेषज्ञ हेना विजकारा ने कहा कि ट्रम्प प्रशासन ने जलवायु परिवर्तन की नीतियां कमजोर कर दीं। कोलंबिया यूनिवर्सिटी की विशेषज्ञ हिलेरी एडन कहती हैं कि ट्रम्प के नियम तर्क संगत नहीं है। इसलिए वे कानून कार्रवाई से घिर जाएंगे।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज दिन भर व्यस्तता बनी रहेगी। पिछले कुछ समय से आप जिस कार्य को लेकर प्रयासरत थे, उससे संबंधित लाभ प्राप्त होगा। फाइनेंस से संबंधित लिए गए महत्वपूर्ण निर्णय के सकारात्मक परिणाम सामने आएंगे। न...

    और पढ़ें