अमेरिका / राष्ट्रपति उम्मीदवार तुलसी गबार्ड ने कहा- सांसद कमला हैरिस माफी मांगें, उनके कार्यकाल में लोगों की स्थिति बदतर थी



राष्ट्रपति उम्मीदवार तुलसी गबार्ड। राष्ट्रपति उम्मीदवार तुलसी गबार्ड।
X
राष्ट्रपति उम्मीदवार तुलसी गबार्ड।राष्ट्रपति उम्मीदवार तुलसी गबार्ड।

  • तुलसी गबार्ड और भारतीय मूल की सांसद कमला हैरिस के बीच बुधवार को डिबेट हुआ
  • गबार्ड अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव लड़ने वाली पहली हिंदू सांसद हैं
  • हैरिस ने कहा- अपराधियों को मुख्यधारा से जोड़ने के लिए उनके काउंसलिंग की शुरुआत की

Dainik Bhaskar

Aug 01, 2019, 05:12 PM IST

वॉशिंगटन. अमेरिकी राष्ट्रपति की डेमोक्रेटिक उम्मीदवार तुलसी गबार्ड ने भारतीय मूल की अमेरिकी सीनेटर कमला हैरिस से माफी मांगने के लिए कहा है। उन्होंने आरोप लगाया कि जब वह कैलिफोर्निया की अटॉर्नी जनरल थीं, तो लोगों को काफी परेशानी हुई थी। गबार्ड (38) और हैरिस (54) दोनों भारतीय मूल की हैं। सीएनएन की डेमोक्रेटिक राष्ट्रपति पद की बहस में बुधवार को डेट्रायट में दोनों एक साथ नजर आईं।

 

गबार्ड अमेरिकी राष्ट्रपति का चुनाव लड़ने वाली पहली हिंदू सांसद हैं। वह हैरिस से राष्ट्रपति के ओपिनियन पोल में पीछे चल रही हैं। बुधवार को क्रिमिनल जस्टिस सिस्टम के मुद्दे पर वह कैलिफोर्निया की सांसद हैरिस पर बरसती नजर आईं। गबार्ड ने कहा, ‘‘अटॉर्नी जनरल रहने के दौरान हैरिस ने कैलिफोर्निया के लोगों के लिए अच्छा काम नहीं किया। उनके समय में लोगों की स्थिति बदतर हो गई थी। बेगुनाह लोगों को न्याय नहीं मिलना काफी मुश्किल हो गया था। उन्हें सबूत पेश करते-करते उनकी मौत हो जाती थी।’’

 

उन्होंने हैरिस से कहा कि इसके लिए कोई बहाना नहीं चलेगा। जिन लोगों को आपके कार्यकाल के दौरान परेशानी हुई उनसे आपको माफी मांगनी चाहिए। अमेरिका में 3 नवंबर 2020 में अमेरिकी राष्ट्रपति का चुनाव होने वाला है।

 

‘न्याय व्यवस्था को सुधारने के लिए कई काम किए’

हैरिस ने डिबेट के दौरान अपने बचाव में कहा, ‘‘कैलिफोर्निया की अटार्नी जनरल के रूप में मैंने कई महत्वपूर्ण काम किए। मैंने चार करोड़ लोगों वाले राज्य की न्याय प्रणाली बेहतर करने के लिए ठोस कदम उठाया। ताकि यह नेशनल मॉडल बन सके। मुझे अपने द्वारा किए गए कामों पर गर्व है। मैंने अटार्नी जनरल के रूप में राज्य की कार्यप्रणाली को दुरुस्त करने के लिए कई फैसले लिए। हमने अपराधियों को मुख्यधारा से जोड़ने के लिए उनका काउंसलिंग करना शुरू किया।’’

 

मैंने हमेशा मौत की सजा का विरोध किया-हैरिस
हैरिस ने कहा कि जीवनभर मैं मौत की सजा का विरोध करती रही। लेकिन इसमें बदलाव नहीं हुआ। मैंने बेहद बुरी स्थिति का सामना किया है। गबार्ड ने हैरिस पर आरोप लगाया कि वह जेल में कैदियों का सस्ते मजदूर के रूप में इस्तेमाल करती थीं। उनके समय में गरीबों की स्थिति बेहद खराब हो गई थी।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना