रक्षा / पाकिस्तान को तुर्की से चार युद्धपोत मिलेंगे, राष्ट्रपति अर्दोआन ने निर्माण कार्य शुरू कराया

तुर्की के राष्ट्रपति रिसेप तैयप अर्दोआन। फाइल फोटो तुर्की के राष्ट्रपति रिसेप तैयप अर्दोआन। फाइल फोटो
X
तुर्की के राष्ट्रपति रिसेप तैयप अर्दोआन। फाइल फोटोतुर्की के राष्ट्रपति रिसेप तैयप अर्दोआन। फाइल फोटो

  • पाकिस्तान ने चार मिलगेम श्रेणी के युद्धपोत के लिए जुलाई 2018 में तुर्की के साथ अनुबंध किया था
  • इन युद्धपोतों में 2400 टन सामान ढोने की क्षमता रहेगी, रडार की पकड़ से भी बच सकेंगे

दैनिक भास्कर

Oct 01, 2019, 11:29 AM IST

अंकारा. तुर्की के राष्ट्रपति रिसेप तैयप अर्दोआन ने ऐलान किया है कि उनका देश पाकिस्तान के लिए चार युद्धपोतों का निर्माण कर रहा है। स्थानीय न्यूज एजेंसी के मुताबिक, राष्ट्रपति ने इसकी घोषणा अपने नए नौसैनिक पोत टीसीजी किनालियाडा के उद्घाटन पर की। अर्दोआन ने पाक के लिए नेशनल वाॅरशिप प्रोग्राम की औपचारिक शुरूआत की। चारों युद्धपोतों को विशेष तौर पर पाकिस्तान के लिए तैयार किया जाएगा। 

 

अर्दोआन ने कहा, “तुर्की उन 10 देशों में से एक है जो अपनी क्षमता के अनुसार युद्धपोतों का निर्माण, डिजाइन और रखरखाव करने में पूरी तरह सक्षम है। हमें उम्मीद है कि इन युद्धपोतों का निर्माण पूरा होने के बाद पाकिस्तान को इससे फायदा होगा। हमारे नौसैनिक भविष्य की विरासत को अधिक मजबूत बनाने में जुटे हैं।” इस मौके पर पाकिस्तानी नौसेना के कमांडर एडमिरल जफर महमूद अब्बासी भी मौजूद रहे।

 

तुर्की से जुलाई 2018 में अनुबंध किया था

पाकिस्तानी नौसेना ने जुलाई 2018 में तुर्की से चार मिलगेम श्रेणी के युद्धपोत खरीदने के लिए डील पर हस्ताक्षर किए थे। इस युद्धपोत की एक खासियत यह है कि यह रडार की पकड़ में आए बिना सफर कर सकेगा। युद्धपोतों की लंबाई 99 मीटर और सामान ढोने की क्षमता 2400 टन होगी। ये शिप 29 नॉटिकल मील प्रति घंटा (करीब 54 किमी प्रति घंटा) की स्पीड से सफर कर सकेंगे।

 

DBApp

 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना