आधी आबादी को पूरा खाना तक नसीब नहीं:ब्राजील में दो करोड़ लोग भूखे मरने को मजबूर, आधी आबादी का पेट अधभरा; कोरोना से बढ़ी महंगाई और बेरोजगारी

8 महीने पहलेलेखक: साओ पाउलो
  • कॉपी लिंक
ब्राजील में करीब दो करोड़ लोग कोरोना से बने हालात के चलते भूख से जूझ रहे हैं। - Dainik Bhaskar
ब्राजील में करीब दो करोड़ लोग कोरोना से बने हालात के चलते भूख से जूझ रहे हैं।
  • एक साल में चावल के दाम 70% और गैस के 20% बढ़े

ब्राजील में कोरोना का कहर लगातार बढ़ता जा रहा है। एक ओर रोज हजारों लोगों की मौत हो रही हैं। कब्रिस्तानों में लाशें दफन करने की जगह नहीं बची है। दूसरी ओर, ब्राजील में करीब दो करोड़ लोग कोरोना से उपजे हालातों के कारण भूख से जूझ रहे हैं। आलम ये है कि कुल 21.1 करोड़ की आबादी में से लगभग आधे लोगों को ठीक से भोजन नसीब नहीं हो रहा।

यह जानकारी सामने आई है ब्राजील के ब्राजील के खाद्य संप्रभुता और पोषण सुरक्षा अनुसंधान नेटवर्क की रिपोर्ट में। नेटवर्क के अध्यक्ष रेनाटो मालूफ कहते हैं कि शहरों में तो फिर भी लोग सड़कों पर निकलकर खाना मांग सकते हैं। लेकिन गांवों में हालात बहुत खराब हैं, क्योंकि वहां सड़कों पर खाना देने वाला भी नहीं मिलेगा।

विशेषज्ञों के अनुसार इस स्थिति का कारण है कोरोना के कारण बढ़ी बेकारी और बेतहाशा बढ़े जरूरी चीजों के दाम। ब्राजील इंस्टिट्यूट ऑफ ज्योग्राफी एंड स्टेटिक्स के अनुसार बीते एक साल में देश में चावल के दाम 70% और घरेलू गैस के 20% तक बढ़े हैं।

ब्रिटेन: अनलॉक की प्रक्रिया शुरू, गैरजरूरी दुकानें, सैलून खुले

ब्रिटेन में 12 अप्रैल से प्रस्तावित अनलॉक की प्रक्रिया शुरू हो गई। गैरजरूरी दुकाने और हेयरसैलून कुल गए। पीएम जॉनसन ने सोमवार को कहा कि खुशियां मनाएं लेकिन सोशल डिस्टेंसिंग और सावधानी का पूरी ख्याल रखें। जॉनसन ने 4 जून 6 महीने का योजनाबद्ध और चरणबद्ध लॉकडाउन घोषिक किया था। उसी समय 6 महीने का पूरा प्लान घोषित किया गया था कि कब, क्या और कैसे खुलेगा। अनलॉक के बाद दुकानों और हेयरसैलून पर लोगों की भारी भीड़ देखी गई। सामान के लिए लोग लाइनों में खड़े दिखे।

काम के लिए ब्राजील से यूएस गए लोगों का टीकाकरण नहीं

रोजगार की तलाश में ब्राजील से बड़ी संख्या में लोग अमेरिका जाते हैं। लेकिन कोरोना के कारण उनके लिए मुसीबत खड़ी हो गई है, वहां उन्हें टीका नहीं लगाया जा रहा। क्योंकि, इनके पास ड्राइविंग लाइसेंस जैसे स्थानीय पहचान पत्र नहीं है। यूएस के 50 में 10 ही राज्यों ऐसे लोगों को टीका लगाया जा रहा है।

जर्मनी में युवाओं में संक्रमण बढ़ा, यूके वैरियंट 90% मिला

जर्मनी के रॉबर्ट कोच इंस्टीट्यूट के अनुसार वहां टेस्टिंग कम होने से केसों में वृद्धि हो रही है। इंस्टीट्यूट ने 70 अस्पतालों के डेटा के आधार पर पाया कि जर्मनी में युवाओं के कोरोना संक्रमित होने की दर तेजी से बढ़ रही है, इनमें सांस लेने में परेशानी प्रमुख लक्षण है। वहां 90% नए केस यूके वैरियंट के मिले।

बांग्लादेश के बाद पाकिस्तान में भी लग सकता है लॉकडाउन

कोरोना के बढ़ते मामलों की वजह से पाकिस्तान में भी लॉकडाउन लग सकता है। लाहौर में एक या दो हफ्ते के लिए पूरी तरह से लॉकडाउन करने पर विचार चल रहा है। यह प्रस्ताव राष्ट्रीय कमांड एंड ऑपरेशन सेंटर की बैठक में प्रस्तुत किया गया है। इमरान से मंजूरी के बाद अंतिम निर्णय लिया जाएगा।

खबरें और भी हैं...