इजराइल के यरुशलम में ब्लास्ट, एक की मौत:आधे घंटे में 2 बस स्टॉप पर धमाके हुए, 19 से ज्यादा लोग घायल

यरुशलम8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
धमाके के बाद घायलों को स्ट्रैचर पर अस्पताल ले जाया गया। - Dainik Bhaskar
धमाके के बाद घायलों को स्ट्रैचर पर अस्पताल ले जाया गया।

इजराइल के यरुशलम में दो बस स्टॉप पर धमाके हुए हैं। इन हमलों में एक टीनेजर की मौत हो गई है। 15 से ज्यादा लोगों के घायल होने की खबर है। धमाकों की वजह फिलहाल सामने नहीं आई है। पुलिस मौके पर पहुंच गई है। मामले की जांच की जा रही है।

एक पुलिस अफसर ने कहा- पहला धमाका गिवट शॉल बस स्टॉप में सुबह 7 बजे के आस-पास हुआ। यहां एक व्यक्ति की मौत हो गई। 11 लोग घायल हो गए। प्राइमरी इन्वेस्टिगेशन के मुताबिक, घटनास्थल पर एक बैग में बम रखा गया था। दूसरा धमाका 30 मिनट बाद रमोट जंक्शन के पास करीब 7:30 बजे हुआ। दोनों धमाके 5 किलोमीटर के दायरे में हुए।

गिवट शॉल बस स्टॉप पर धमाके के बाद धुंए का गुबार देखा गया।
गिवट शॉल बस स्टॉप पर धमाके के बाद धुंए का गुबार देखा गया।
धमाके के बाद घटनास्थल पर खड़ी एक बस को नुकसान पहुंचा। इसके कांच टूट गए।
धमाके के बाद घटनास्थल पर खड़ी एक बस को नुकसान पहुंचा। इसके कांच टूट गए।
धमाके के बाद घटनास्थल पर अफरा-तफरी मच गई। लोगों को यहां-वहां भागते देखा गया।
धमाके के बाद घटनास्थल पर अफरा-तफरी मच गई। लोगों को यहां-वहां भागते देखा गया।
धमाके की सूचना मिलते ही फोरेंसिक टीम पहुंची। मामले की जांच की जा रही है।
धमाके की सूचना मिलते ही फोरेंसिक टीम पहुंची। मामले की जांच की जा रही है।
धमाके के बाद बस स्टॉप के पास काफी तबाही हुई। लोगों को सुरक्षित जगहों पर ले जाने के लिए रेस्क्यू ऑपरेशन भी चलाया गया।
धमाके के बाद बस स्टॉप के पास काफी तबाही हुई। लोगों को सुरक्षित जगहों पर ले जाने के लिए रेस्क्यू ऑपरेशन भी चलाया गया।
पुलिस ने आस-पास के इलाके को सील कर दिया है। छानबीन की जा रही है। इसके बाद ही धमाके की असली वजह सामने आएगी।
पुलिस ने आस-पास के इलाके को सील कर दिया है। छानबीन की जा रही है। इसके बाद ही धमाके की असली वजह सामने आएगी।

आतंकी हमला होने की आशंका
पुलिस का कहना है कि ये एक आतंकी हमला हो सकता है। एक अधिकारी ने कहा कि ये हमला फिलिस्तीनी हमला है। हालांकि, अभी तक किसी संगठन ने हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है। इजराइल पुलिस कमिश्नर कोबी शबताई के मुताबिक, दो लोगों ने हमला किया।

2016 में, हमास आतंकी समूह पर यरुशलम में एक बस पर बमबारी करने का आरोप लगाया गया था। इस हमले में 21 लोग घायल हो गए थे। 2011 में, यरुशलम इंटरनेशनल कन्वेंशन सेंटर के बाहर बस स्टॉप पर एक बैग में रखा बम फट गया था। इस हमले में 2 लोगों की मौत हो गई थी। दर्जनों अन्य घायल हो गए थे।

ये खबरें भी पढ़ें...

इराक और सीरिया पर तुर्किये की एयर स्ट्राइक, आतंकवादी ठिकानों पर बम बरसाए; इंस्ताबुल में हुए हमले का बदला लिया

तुर्किये (पुराना नाम तुर्की) ने शनिवार को नॉर्थ सीरिया और नॉर्थ इराक में प्रतिबंधित कुर्द आतंकवादी ठिकानों पर हवाई हमले किए। इन ठिकानों से ही आतंकवादियों ने इस्तांबुल पर आतंकी हमले की साजिश रची थी। पढ़ें पूरी खबर...

इजराइल ने फिलिस्तीन सीमा पर तैनात की रोबोटिक गन, आतंक रोकने लिया गया फैसला

इजराइल में प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने देश की सीमा पर तीन रोबोटिक गन लगवाई हैं। इनमें से दो वेस्ट बैंक में लगाए गई हैं, जो फिलिस्तीन और इजराइल के बीच का विवादित क्षेत्र है। यहां अक्सर फिलिस्तीनी इजराइल के खिलाफ विरोध जताते हैं। इन रोबोटिक गन्स के जरिए आंसू गैस, स्मोक ग्रेनेड (धुआं फैलाने वाला बम) और स्पंज बुलेट छोड़े जाएंगे। पढ़ें पूरी खबर...

चीन में प्लांट में आग से 38 की मौत, हादसे के पीछे साजिश का शक; संदिग्ध हिरासत में

चीन में एक निजी कंपनी के प्लांट में आग लगने से 38 लोगों की मौत हो गई। चीन के स्टेट मीडिया के हवाले से यह खबर मिली। जांच एजेंसियों को आग के पीछे साजिश का शक है। ग्लोबल टाइम्स के मुताबिक पुलिस ने कुछ संदिग्धों को हिरासत में लिया। हालांकि, उनके बारे में जानकारी सार्वजनिक नहीं की गई। पढ़ें पूरी खबर...