• Hindi News
  • International
  • UK Omicron Deaths | Coronavirus Omicron Variant Death Confirm By British Prime Minister Boris Johnson

ओमिक्रॉन जानलेवा भी:ब्रिटेन में ओमिक्रॉन से पहली मौत; PM जॉनसन बोले- गलतफहमी में न रहें, नया वैरिएंट भी खतरनाक

लंदन5 महीने पहले

ब्रिटेन में ओमिक्रॉन से मौत का पहला मामला सामने आया है। प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने खुद इसकी जानकारी दी। जॉनसन ने देश के नाम संदेश में कहा- हमारे देश में ओमिक्रॉन वैरिएंट से पहली मौत हुई है। मैं लोगों से गुजारिश करूंगा कि वे यह सोचना छोड़ दें कि यह वैरिएंट खतरनाक नहीं है। इस वैरिएंट की वजह से देश के अस्पतालों पर दबाव बढ़ रहा है। इससे बचने का सबसे अच्छा तरीका यही है कि तमाम वयस्क बूस्टर डोज लें और ऐहतियात रखें।

लापरवाही से बचें
जॉनसन ने जब देश को संबोधित किया तब तक मीडिया में यह खबर आ चुकी थी कि ब्रिटेन में ओमिक्रॉन से पहली मौत हो गई है। इसलिए जॉनसन ने भी अपनी बात की शुरुआत यहीं से की। जॉनसन ने कहा- साउथ अफ्रीका के डॉक्टर्स कह रहे हैं कि ओमिक्रॉन माइल्ड वायरस है। इस वजह से आप लापरवाही न करें। यह कितना घातक हो सकता है, इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि संक्रमित लोगों के अस्पताल में भर्ती होने का आंकड़ा बढ़ता जा रहा है और एक संक्रमित की मौत भी हो गई है। इसके संक्रमण की रफ्तार बेहद तेज है। इसलिए वो तमाम लोग जो बूस्टर डोज लगवाने के योग्य हैं, वे फौरन बूस्टर डोज यानी तीसरा डोज लगवा लें।

जॉनसन ने कहा- ओमिक्रॉन की एक तूफानी लहर हमारे सामने आ रही है। ढाई हफ्ते में दो करोड़ लोगों को बूस्टर डोज लगाए जाएंगे। इसके लिए रॉयल मिलिट्री के डॉक्टर्स और मेडिकल स्टाफ को भी तैनात किया गया है।

सोमवार को यॉर्कशायर में बूस्टर डोज लगवाने पहुंचे लोग।
सोमवार को यॉर्कशायर में बूस्टर डोज लगवाने पहुंचे लोग।

हेल्थ सेक्रेटरी ने कहा- बिल्कुल अलर्ट रहें
जॉनसन से पहले हेल्थ सेक्रेटरी साजिद जावेद भी मीडिया से मुखातिब हुए। उन्होंने कहा- अब तक 10 लोग इस वैरिएंट की वजह से हॉस्पिटल में एडमिट हुए हैं। सभी को बूस्टर डोज जरूरी है, इसलिए बेवजह परेशान न हों। रजिस्ट्रेशन कराएं और अपनी बारी पर यह डोज लगवाएं। बचाव का यही सबसे अच्छा तरीका है।

भाषण के बाद दहशत
जॉनसन के भाषण के बाद एक तरह के ब्रिटेन के लोग दहशत में आ गए। यह नेशनल हेल्थ सर्विस की वेबसाइट पर बूस्टर डोज की बुकिंग के लिए लोग टूट पड़े। हालात ये हो गए कि कुछ ही देर में वेबसाइट क्रैश है गई। इसके बाद एनएचएस के अफसर सामने आए और लोगों से कहा कि वे किसी तरह की हड़बड़ाहट न करें। वैक्सीनेशन क्लीनिक्स के बाहर सैकड़ों लोग इंतजार में नजर आए। यहां बूस्टर डोज के लिए आज से ही प्रोग्राम शुरू किया गया है। 30 साल से ऊपर के लोगों को पहले बूस्टर डोज लगाया जा रहा है। बुधवार से 18 से 29 साल के लोग डोज बुक करा सकेंगे।