पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • International
  • UN Not Happy With Pakistan's Statement To Accuse India Of Karachi Attack, US Germany Also Object

अंतरराष्ट्रीय मंच पर भारत की जीत:यूएनएससी में भारत को मिला अमेरिका और जर्मनी का साथ, अंतरराष्ट्रीय मंच पर एक बार फिर चीन और पाकिस्तान की साजिश नाकाम

नई दिल्ली3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
यूएनएससी में आतंकी हमलों को लेकर निंदा प्रस्ताव जारी करना एक सामान्य प्रक्रिया है। -फाइल फोटो
  • पाकिस्तान के एजेंडे को चीन ने यूएन में बयान के तौर पर प्रस्तावित किया था
  • इसमें कराची में हुए आतंकी हमले को लेकर भारत को जिम्मेदार बताया गया था

युनाइडेट नेशन सिक्युरिटी कॉउंसिल (यूएनएससी) ने 1 जुलाई को एक बयान जारी किया। इसमें कराची स्टॉक एक्सचेंज पर हुए आतंकी हमले की निंदा की गई। इस हमले में सिक्युरिटी गार्ड समेत 10 लोग मारे गए थे। हालांकि, यह एक सामान्य प्रक्रिया है। ऐसे हमलों को लेकर यूएनएससी द्वारा निंदा प्रस्ताव जारी किए जाते हैं। 

चीन ने मंगलवार को इस हमले पर बयान का प्रस्ताव रखा था। यह पाकिस्तान की ओर से प्रस्तावित था। इसमें हमले का जिम्मेदार भारत को बताया गया था। हालांकि, इस बयान का दूर-दूर तक भारत से कोई लेना देना नहीं था। यह और बात है कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने जरूर पाकिस्तानी संसद में इस आतंकी हमले के लिए भारत को जिम्मेदार बताया था। 

भारत को मिला अमेरिका-जर्मनी का साथ

इस गफलत में यह बयान जारी करने का समय दो बार आगे बढ़ाना पड़ा। चीन और पाकिस्तान की इस मिली भगत को लेकर सबसे पहले जर्मनी ने आपत्ति दर्ज कराई। इसके बाद अमेरिका ने भी अपना विरोध दर्ज करवाया। इसके बाद आखिरकार निंदा प्रस्ताव जारी किया गया। 

बयान में कराची में हुए हमले की निंदा की गई 

अब जो बयान पास हुआ है उसमें केवल कराची में हुए आतंकी हमले की निंदा की गई है। इसके लिए भारत या किसी और देश पर किसी तरह का कोई आरोप नहीं लगाया गया है। यह चीन और पाकिस्तान के लिए अंतरराष्ट्रीय मंच पर एक बार फिर साजिश नाकाम हो जाने जैसा मामला है।

यह भी पढ़ें

1. मोदी ने समर्थन देने वाले देशों का आभार जताया, कहा- दुनिया में अमन और बराबरी के लिए काम करेंगे

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- समय पूर्णतः आपके पक्ष में है। वर्तमान में की गई मेहनत का पूरा फल मिलेगा। साथ ही आप अपने अंदर अद्भुत आत्मविश्वास और आत्म बल महसूस करेंगे। शांति की चाह में किसी धार्मिक स्थल में भी समय व्यतीत ह...

और पढ़ें