फ्लोरिडा / 633 गोताखोरों ने समुद्र तट पर 700 किलो से ज्यादा कचरा इकट्ठा कर विश्व रिकॉर्ड बनाया



Guinness World Record: Divers Largest Underwater Cleanup World Record
Guinness World Record: Divers Largest Underwater Cleanup World Record
X
Guinness World Record: Divers Largest Underwater Cleanup World Record
Guinness World Record: Divers Largest Underwater Cleanup World Record

  • इससे पहले यह रिकॉर्ड गोताखोर अहमद गब्र ने 2015 में लाल सागर में 613 गोताखोरों के साथ समुद्र की सफाई कर बनाया था
  • अमेरिका के नेशनल ओशन एंड एटमॉस्फिरिक एडमिनिस्ट्रेशन के मुताबिक, हर साल करीब 80 लाख मीट्रिक टन प्लास्टिक समुद्र में जाता है

Dainik Bhaskar

Jun 20, 2019, 08:20 AM IST

वॉशिंगटन. फ्लोरिडा में डियरफील्ड बीच इंटरनेशनल फिशिंग पियर समुद्र तट पर 633 गोताखोरों ने लगभग 737 किलो कचरा इकट्ठा कर गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया। इससे पहले मिस्र के पूर्व सैनिक और गोताखोर अहमद गब्र ने 2015 में लाल सागर में 613 गोताखोरों के साथ समुद्र की सफाई कर रिकॉर्ड बनाया था।

हर साल 90 विमानों के वजन के बराबर कचरा समुद्र में जाता है

  1. सफाई अभियान में शामिल गोताखोर टायलर बोर्गोइन ने कहा कि समुद्र से निकाले गए कचरे का वजन अभी भी मापा जा रहा है। इसका वजन और बढ़ने की संभावना है। महासागर संरक्षण समूह प्रोजेक्ट एडब्ल्यूएआरई का अनुमान है कि सफाई से संभवतः 1450 किलो समुद्री कचरा निकाला जा सकता है।

  2. इस अभियान में यूरोप और दक्षिण अमेरिका के गोताखोर शामिल हुए थे। यह कार्यक्रम हर साल स्थानीय डाइव शॉप डिक्सी ड्राइवर्स और डियरफिल्ड बीच वुमन्स क्लब द्वारा कराया जाता है। यह 15वां सफाई अभियान था।

  3. प्लास्टिक और मानव द्वारा इस्तेमाल की जाने वाले पदार्थों की वजह से महासागरीय जीवन को खतरा पहुंच रहा है। नेशनल ओशन एंड एटमॉस्फिरिक एडमिनिस्ट्रेशन (एनओएए) के अनुसार, करीब 80 लाख मीट्रिक टन प्लास्टिक सालाना समुद्र में जाता है। यह लगभग 90 विमानों के वजन के बराबर है।

  4. कुछ दिनों पहले वर्ल्ड वाइड फंड फॉर नेचर (डब्ल्यूडब्ल्यूएफ) की रिपोर्ट में कहा गया था कि पानी में प्लास्टिक प्रदूषण तेजी से बढ़ा है। इंसान हर हफ्ते पांच ग्राम यानी एक क्रेडिट कार्ड जितना प्लास्टिक निगलता है। दुनिया की 20 बड़ी अर्थव्यवस्था वाली जी20 देशों ने समुद्र में प्लास्टिक प्रदूषण कम करने पर सहमति जताई है। जापान में रविवार को जी20 देशों की बैठक में यह फैसला लिया गया।

COMMENT