द न्यूयार्क टाइम्स से विशेष अनुबंध के तहत:अमेरिकी सेना प्रमुख ने चीन से कहा था- हम आप पर हमला नहीं करेंगे, किया भी ताे समय रहते अलर्ट कर देंगे

एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
राष्ट्रपति चुनाव में हार रहे ट्रम्प के इरादों से डर गए थे अधिकारी। - Dainik Bhaskar
राष्ट्रपति चुनाव में हार रहे ट्रम्प के इरादों से डर गए थे अधिकारी।

अमेरिका में पिछले साल राष्ट्रपति चुनाव में हार रहे डाेनाल्ड ट्रम्प की बाैखलाहट से सुरक्षा काे लेकर शीर्ष स्तर पर दहशत का माहाैल था। चीन के खिलाफ उनके युद्ध छेड़ने की आशंका से डर पैदा हाे गया था। इससे परमाणु जंग का खतरा हाे सकता था। इसे देखते हुए अमेरिकी सेना प्रमुख जनरल मार्क मिली ने चीन के सेना प्रमुख जनरल ली झुओचेंग काे दो बार गाेपनीय काॅल कर भरोसा दिया था कि हम हमला करने नहीं जा रहे।

ये खुलासे ‘पेरिल’ नाम की नई किताब में किए गए हैं, जिसे वाॅशिंगटन पाेस्ट के पत्रकार बॉब वुडवॉर्ड और रॉबर्ट कोस्टा ने लिखा है। दोनों पत्रकारों ने दावा किया कि उन्होंने 200 सूत्रों से बातचीत के आधार पर यह किताब लिखी है। अगले हफ्ते लॉन्च होने वाली इस किताब के अनुसार ट्रम्प के कार्यकाल में चीन के साथ देश के संबंध सबसे खराब स्थिति में थे।

पहली काॅल: यह वह समय था जब दक्षिण चीन सागर और काेराेना काे लेकर तनाव चरम पर था। अमेरिकी चुनाव से 4 दिन पहले यानी 30 अक्टूबर 2020 काे मिली ने ली को काॅल किया। उन्हाेंने चीनी जनरल से कहा, ‘मैं आपकाे आश्वस्त करना चाहता हूं कि कि अमेरिका स्थिर है। सब ठीक हाे जाएगा। हम चीन पर हमला नहीं करने जा रहे। अगर हमला होगा तो अलर्ट कर देंगे।’
दूसरी काॅल : मिली ने दूसरी काॅल 8 जनवरी को की। इस समय ट्रम्प समर्थकों ने अमेरिकी संसद भवन पर हमला बोला था। इस बार मिली ने ली से कहा, ‘हम 100 फीसदी स्थिर हैं। सब ठीक है। कई बार लाेकतंत्र में ऐसी अस्थिरता का दाैर आ सकता है।’ हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव्स की स्पीकर नैंसी पैलाेसी ने भी मिली से इस बारे में बात की थी।

ट्रम्प बोले- जनरल मिली का दावा मनगढ़ंत कहानी
ट्रम्प ने इस पूरे दावे को मनगढ़ंत बताया है। उन्होंने कहा, अगर यह सच है तो जनरल मिली पर देशद्रोह का केस चले। मैंने कभी चीन पर हमला करने के बारे में नहीं सोचा। वहीं, जनरल मिली ने इस पर प्रतिक्रिया नहीं दी। रिपब्लिकन सीनेटर मार्को रूबियो ने राष्ट्रपति बाइडेन से मिली को हटाने की मांग की।

खबरें और भी हैं...