• Hindi News
  • International
  • US Former Police Officer Derek Chauvin । Sentenced To 22 Years Six Months In Prison । Murder Of George Floyd Last Year

अमेरिका के जॉर्ज फ्लॉयड केस में फैसला:दोषी पुलिस अफसर डेरेक शॉविन को 22 साल की सजा; फ्लॉयड के वकील ने कहा- बच्चा भी बता सकता है कि पुलिस ने गलती की

मिनेपोलिस4 महीने पहले
पूर्व पुलिसकर्मी डेरेक शॉविन ने 8 मिनट 46 सेकेंड तक अश्वेत जॉर्ज फ्लॉयड की गर्दन को पैर से दबाए रखा था। जिससे फ्लॉयड की मौत हो गई थी।

अमेरिका के चर्चित जॉर्ज फ्लॉयड केस में फैसला आ गया है। फ्लॉइड की हत्या के दोषी पुलिसकर्मी डेरेक शॉविन को 22 साल 6 महीने की सजा सुनाई गई है। 25 मई 2020 को हुई घटना के एक साल 32 दिन बाद ये फैसला आया है। फैसले के बाद डेरेक शॉविन की जमानत को तुरंत रद्द कर दिया गया और उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया। फ्लॉयड की हत्या का केस ज्यूरी के पास भेजा गया था। इसमें 6 श्वेत और 6 अश्वेत लोग शामिल थे।

ये स्कैच पूर्व पुलिसकर्मी डेरेक शॉविन (बाएं) और सजा सुनाने वाले जज का है।
ये स्कैच पूर्व पुलिसकर्मी डेरेक शॉविन (बाएं) और सजा सुनाने वाले जज का है।

वकील ने डेरेक को बचाने की पूरी कोशिश की
सुनवाई के दौरान ज्यूरी के सामने फ्लॉयड के वकील ने कहा कि डेरेक शॉविन ने जॉर्ज फ्लॉयड की जिस तरह से हत्या की उसे लेकर कोई बच्चा भी बता सकता है कि पुलिस का तरीका गलत था। हालांकि, डेरेक के वकील ने भी उन्हें बचाने की पूरी कोशिश की। वकील ने तर्क दिया कि डेरेक शॉविन ने सही कार्रवाई की थी और 46 साल के फ्लॉयड की मौत का कारण दिल की बीमारी और नशीली दवाएं थीं।

फैसले से पहले मिनेपोलिस की कोर्ट के बाहर इंतजार करता हुआ जॉर्ज फ्लॉयड का परिवार।
फैसले से पहले मिनेपोलिस की कोर्ट के बाहर इंतजार करता हुआ जॉर्ज फ्लॉयड का परिवार।

8 मिनट 46 सेकेंड तक पैर से दबा रखी थी गर्दन
मिनेपोलिस में पिछले साल एक प्रदर्शन के दौरान फ्लॉयड को पुलिस अफसर डेरेक शॉविन ने सड़क पर दबोचा था और अपने घुटने से उनकी गर्दन को 8 मिनट 46 सेकेंड तक दबाए रखा था। फ्लॉयड के हाथों में हथकड़ी थी। ऐसे में वे लगातार पुलिस अफसर से घुटना हटाने की गुहार लगाते रहे थे, लेकिन पुलिस अफसर नहीं माना।

डेरेक को सजा सुनाए जाने के बाद लोगों ने मिनेपोलिस में फ्लॉयड के समर्थन में रैली निकाली।
डेरेक को सजा सुनाए जाने के बाद लोगों ने मिनेपोलिस में फ्लॉयड के समर्थन में रैली निकाली।

घटना का वीडियो भी वायरल हुआ था। जिसमें फ्लॉयड पुलिस अफसर से कह रह थे, 'आपका घुटना मेरी गर्दन पर है। मैं सांस नहीं ले पा रहा हूं।’ धीरे-धीरे फ्लॉयड सांसें थम गई थीं। इसके बाद डेरेक कहते हैं, उठो और कार में बैठो, लेकिन फ्लॉयड ने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी। इस दौरान आस-पास काफी भीड़ जमा हो जाती है। फ्लॉयड को अस्पताल ले जाया गया, जहां उनकी मौत हो गई।

मिनेपोलिस में निकाली गई रैली में अश्वेतों के साथ श्वेत भी शामिल थे।
मिनेपोलिस में निकाली गई रैली में अश्वेतों के साथ श्वेत भी शामिल थे।

अमेरिका में हुए थे दंगे
जॉर्ज की मौत के बाद अमेरिका के कई शहरों में दंगे हुए थे। लाखों लोग सड़कों पर उतरे थे। इस मामले में अप्रैल 2021 में पूर्व पुलिस अधिकारी डेरेक शॉविन को दोषी करार दिया गया था।

फ्लॉयड के परिवार को दिए गए थे 196 करोड़ रुपए
जॉर्ज फ्लॉयड की मौत के मामले में मिनेपोलिस की सिटी काउंसिल और फ्लॉयड के परिवार के बीच समझौता हुआ था। इसके तहत सिटी काउंसिल ने फ्लॉयड के परिवार को 2.7 करोड़ डॉलर (करीब 196 करोड़ रुपए) दिए थे।

जॉर्ज फ्लॉयड मामले में फैसले के बाद अमेरिका में इस तरह के सभी पुराने केस फिर से खोलने की मांग होने लगी है।
जॉर्ज फ्लॉयड मामले में फैसले के बाद अमेरिका में इस तरह के सभी पुराने केस फिर से खोलने की मांग होने लगी है।

डेरेक शॉविन के खिलाफ फैसला 12 लोगों की ज्यूरी ने सुनाया है। ये कुछ लोगों की एक कमेटी होती है, जो कानूनी क्षेत्र में चुने गए वे लोग होते हैं, जो कुछ खास तरह के मामलों में जज के साथ बैठकर गवाहियां सुनते हैं और अदालत को आरोपी के दोषी या निर्दोष होने के बारे में अपनी राय देते हैं।

खबरें और भी हैं...