पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बाइडेन का अमेरिकियों को राहत पैकेज:US हाउस ऑफ रेप्रेसेंटेटिव में 1.9 ट्रिलियन डॉलर का कोविड-19 बिल पास; बाइडेन कल इस पर साइन कर सकते हैं

वाशिंगटन6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
व्हाइट हाउस प्रवक्ता जेन पास्की के अनुसार राष्ट्रपति बाइडेन इस चर्चित बिल पर शुक्रवार दोपहर को साइन करेंगे। - Dainik Bhaskar
व्हाइट हाउस प्रवक्ता जेन पास्की के अनुसार राष्ट्रपति बाइडेन इस चर्चित बिल पर शुक्रवार दोपहर को साइन करेंगे।

अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन के 1.9 ट्रिलियन डॉलर (13 हजार 807 अरब रुपए) राहत पैकेज से जुड़ा कोविड-19 बिल US हाउस ऑफ रेप्रेसेंटेटिव ने पास कर दिया। इसे साइन के लिए राष्ट्रपति के पास भी भेज दिया गया है। व्हाइट हाउस के प्रवक्ता के मुताबिक, राष्ट्रपति इस बिल पर शुक्रवार दोपहर को साइन करेंगे। हाउस में इस बिल के समर्थन में 220 में से 211 वोट पड़े। इसका सभी पार्टियों ने समर्थन किया। न्यूज एजेंसी शिन्हुआ की रिपोर्ट के मुताबिक, सीनेट ने पिछले हफ्ते इस बिल को पास किया था। तब इसके समर्थन में 49 वोट पड़े थे।

अमेरिकियों को पहुंचाई जाएगी सीधी आर्थिक मदद
इस बिल का नाम 'अमेरिकन रेस्क्यू प्लान एक्ट 2021' है। इससे जरूरतमंद अमेरिकियों के खाते में 1400 डॉलर की सीधी आर्थिक मदद दी जाएगी। बिल के बजट में से 350 बिलियन डॉलर का बड़ा हिस्सा स्टेट और लोकल गवर्नमेंट के लिए रखा गया है। साथ ही महामारी से निपटने के लिए भी अलग से फंड रखा गया है। सितंबर तक बिल के बजट में 300% डॉलर का फंड बढ़ाया जाएगा।

जल्द बिल को लागू करेंगे, अमेरिका के लोगों को सख्त जरूरत: जेन पास्की
व्हाइट हाउस प्रवक्ता जेन पास्की के मुताबिक, बिल को जल्दी लागू करने की कोशिश कर रहे हैं। हम जानते हैं कि अमेरिका के लोगों को मदद की जल्द से जल्द जरूरत है। महामारी को फैले एक साल से ज्यादा का समय हो गया है। ये कोरोना से जुड़ा छठवां कानून है। जॉन्स हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी के मुताबिक, कोरोना की वजह से अब तक अमेरिका में 528,000 लोगों की मौत हो चुकी है।

बिल पर सियासत भी शुरू
इस बिल पर खुशी जताते हुए डेमोक्रेट्स ने इसे दशक का सबसे चर्चित बिल बताया है। लोगों के लिए यह राहत का काम करेगा। इससे जल्द गरीबी में कमी और आर्थिक रिकवरी में मदद मिलेगी। इधर, रिपब्लिकन ने इसे खर्चीला बजट बताया है। साथ ही डेमोक्रेट्स पर आरोप लगाते हुए कहा है कि महामारी से जुड़ी उदार नीतियों के माध्यम से बाइपार्टिसनशिप का पालन नहीं किया है। इससे पहले बाइपार्टिसनशिप की मदद से कांग्रेस ने 100 ट्रिलियन डॉलर के पांच राहत पैकेज पास किए थे।

खबरें और भी हैं...