• Hindi News
  • International
  • US UK UAE Pakistan China Top Stories Updated | Today's Top International News Of The Day (Dainik Bhaskar)

दुनिया की पांच बड़ी खबरें:चीन के खिलाफ ऑस्ट्रेलिया और जापान की डिफेंस डील, अमेरिका ने पर्दे के पीछे अहम किरदार निभाया

केनबरा22 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

ऑस्ट्रेलिया और जापान ने पहली बार एक बेहद अहम डिफेंस डील की है। बिल्कुल साफ है कि यह डील चीन के बढ़ते दबदबे को खत्म करने के लिए है। दूसरी तरफ, जासूसी के मुद्दे पर चीन अब ब्रिटेन से भी भिड़ने जा रहा है। ब्रिटिश इंटेलिजेंस चीफ के मुताबिक, चीन अब ब्रिटेन के बॉन्ड स्टाइल को पसंद करने लगा है। यहां जानते हैं दुनिया की पांच अहम खबरें, जिन पर नजर रही।

अमेरिकी खेल : चीन के खिलाफ जापान और ऑस्ट्रेलिया एकजुट

हिंद-प्रशांत में चीन से निपटने के लिए जापान और ऑस्ट्रेलिया ने डिफेंस डील की है। (फाइल)
हिंद-प्रशांत में चीन से निपटने के लिए जापान और ऑस्ट्रेलिया ने डिफेंस डील की है। (फाइल)

छोटे देशों के धमकाने वाले चीन को अब करारा जवाब मिलना शुरू हो गया है। जापान और ऑस्ट्रेलिया ने एक बहुत अहम डिफेंस डील की है। इसके तहत जंग के हालात में दोनों देश एक-दूसरे की मदद करेंगे, हर साल ज्वॉइंट मिलिट्री एक्सरसाइज करेंगे। इस डील का मकसद हिंद-प्रशांत महासागर में चीन की दादागीरी खत्म करना है। दोनों देशों के बीच यह डील कराने में पर्दे के पीछे अमेरिका ने ही अहम रोल निभाया है। डील कितनी अहम है, इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि ऑस्ट्रेलिया और जापान दोनों के प्रधानमंत्रियों ने ही इसका ऐलान किया। ऑस्ट्रेलिया के PM स्कॉट मॉरिसन ने चीन का नाम लिए बगैर कहा- यह डील दोनों देशों के साझा हित दिखाती है। हम लोकतंत्र और मानवाधिकारों में भरोसा रखने वाले देश हैं।

नॉर्थ कोरिया ने दो दिन में दूसरा मिसाइल टेस्ट किया

नॉर्थ कोरिया ने बुधवार के बाद गुरुवार को भी मिसाइल टेस्ट किया।
नॉर्थ कोरिया ने बुधवार के बाद गुरुवार को भी मिसाइल टेस्ट किया।

नॉर्थ कोरिया के सरकारी मीडिया ने गुरुवार को कहा कि देश ने दो दिनों में दूसरा मिसाइल टेस्ट किया है। बुधवार को कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में कहा गया था कि नॉर्थ कोरिया ने बैलेस्टिक मिसाइल टेस्ट किया है। इस बारे में वहां की सरकारी एजेंसी ने कोई खबर नहीं दी थी। गुरुवार को इस एजेंसी ने बयान जारी किया। कहा- हमने हाइपरसोनिक मिसाइल का टेस्ट किया है। यह देश में दो दिन में किया गया दूसरा टेस्ट है। नॉर्थ कोरिया का यह कदम हैरान करने वाला है। इसकी वजह यह है कि कुछ दिन पहले ही तानाशाह किम जोंग उन ने कहा था कि मुल्क में अंतरराष्ट्रीय प्रतिबंधों की वजह से भुखमरी का संकट है। इसके बावजूद यह देश मिसाइल टेस्ट से बाज नहीं आ रहा है।

ब्रिटेन ने चीन पर तंज कसा

चीन के मीडिया ने ब्रिटिश खुफिया एजेंसी पर इस पोस्टर के जरिए तंज कसा है।
चीन के मीडिया ने ब्रिटिश खुफिया एजेंसी पर इस पोस्टर के जरिए तंज कसा है।

जासूसी के मुद्दे पर चीन और ब्रिटेन उलझते नजर आ रहे हैं। ब्रिटेन के इंटेलिजेंस चीफ ने गुरुवार को कहा- यह जानकार खुशी हुई कि चीन का सरकारी मीडिया हमें मुफ्त में पब्लिसिटी मुहैया करा रहा है। चीन ने बुधवार को जेम्स बॉन्ड सीरीज की एक फिल्म का मीम बनाते हुए पश्चिमी देशों की खुफिया एजेंसियों पर तंज कसा था। कुछ दिन पहले ब्रिटेन ने चीन में उईगर मुस्लिमों और हॉन्गकॉन्ग में मानवाधिकारों को लेकर चीन को घेरा था। चीन ने इसका सीधा जवाब तो नहीं दिया, लेकिन अपने सरकारी मीडिया पर ब्रिटेन के खुफिया एजेंसी पर मीम पब्लिश किए। ब्रिटेन ने कहा था- चीन का एक ही एजेंडा है कि किसी तरह छोटे और गरीब देशों को अपने कर्ज के जाल में फंसाओ।

नेपाल के प्रधानमंत्री का भारत दौरा रद्द

नेपाल के प्रधानमंत्री शेर बहादुर देउबा का भारत दौरा रद्द हो गया है। (फाइल)
नेपाल के प्रधानमंत्री शेर बहादुर देउबा का भारत दौरा रद्द हो गया है। (फाइल)

नेपाल के प्रधानमंत्री शेर बहादुर देउबा का अगले हफ्ते होने वाला भारत दौरा रद्द हो गया है। देउबा को गुजरात सरकार द्वारा आयोजित वाइब्रेंट गुजरात समिट में हिस्सा लेना था। राज्य में कोरोना के बढ़ते मामलो की वजह से यह समिट रद्द कर दी गई है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस समिट का उद्घाटन करने वाले थे। देउबा 9 जनवरी को चार दिन की यात्रा पर भारत पहुंचने वाले थे। समिट में हिस्सा लेने के बाद देउबा और मोदी की दिल्ली में द्विपक्षीय मुलाकात भी होनी थी। भारत और नेपाल के बीच पिछली साल सीमा विवाद भी हुआ था। तब नेपाल ने भारत द्वारा बनाई जा रही सड़क को लेकर आपत्ति जताई थी। बाद में डिप्लोमैटिक लेवल पर बातचीत हुई और यह मुद्दा सुलझा लिया गया।

इमरान खान बीजिंग जाएंगे

इमरान खान अगले महीने चीन के दौरे पर जाने वाले हैं। (फाइल)
इमरान खान अगले महीने चीन के दौरे पर जाने वाले हैं। (फाइल)

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान अगले महीने चीन का दौरा करेंगे। इस दौरान वो चीन के कारोबारियों को पाकिस्तान में इन्वेस्टमेंट के लिए इनविटेशन देंगे। इसके लिए पाकिस्तानी एम्बेसी एक प्रोग्राम करने जा रही है। खान का यह दौरा खास है। इसकी वजह यह है चाइना-पाकिस्तान इकोनॉमिक कॉरिडोर (CPEC) करीब डेढ़ साल से लगभग बंद है। चीन इससे काफी नाराज बताया जा रहा है। कहा जा रहा है कि पाकिस्तान सरकार 37 ऐसे कानून खत्म करने जा रही है जो CPEC के रास्ते में रुकावट डाल रहे हैं। रिपोर्ट्स के मुताबिक, चीन की नाराजगी दूर करने के लिए इमरान खान खुद CPEC से जुड़े प्रोजेक्ट्स की हर 15 दिन में समीक्षा कर रहे हैं। कुछ महीने पहले चीनी इंजीनियर्स की बस पर पाकिस्तान में हमला हुआ था। इसमें 9 इंजीनियर मारे गए थे।