पूर्व राष्ट्रपति के मामले में हिंसक विरोध:भारतीय और अश्वेतों के बीच हिंसा जारी, 10 से ज्यादा अफ्रीकियों की मौत

द. अफ्रीकाएक महीने पहलेलेखक: जॉन एलिगॉन/जानेले माजी
  • कॉपी लिंक
मारपीट इतनी भयावह थी कि मार खाने वाले 10 से ज्यादा लोगों ने दम तोड़ दिया। - Dainik Bhaskar
मारपीट इतनी भयावह थी कि मार खाने वाले 10 से ज्यादा लोगों ने दम तोड़ दिया।

दक्षिण अफ्रीका में पूर्व राष्ट्रपति जैकब जुमा मामले ने एक बार फिर हिंसा का रूप ले लिया है। शनिवार को फीनिक्स शहर में भारतीयों और अफ्रीकी अश्वेतों के बीच हिंसक झड़पें हुईं, जिसमें 10 से ज्यादा अफ्रीकी मारे गए। दरअसल, अफ्रीकियों की उग्र भीड़ ने भारतीयों पर हमला कर दिया और उनके घरों-वाहनों में आग लगा दी। जवाब में भारतीयों ने बैट, कुल्हाड़ी और हथौड़े जैसे हथियारों से हमला कर दिया।

भारतीयों ने एक बस और टैक्सी को रोककर उसमें बैठे अश्वेतों को बेरहमी से पीटा। मारपीट इतनी भयावह थी कि मार खाने वाले 10 से ज्यादा लोगों ने दम तोड़ दिया। इतना ही नहीं, भारतीयों के समूह ने तनावग्रस्त होकर फीनिक्स की सड़कों को ब्लॉक कर दिया। वे अफ्रीकी लोगों को ढूंढकर उन्हें निशाना बनाने लगे। स्थानीयों का दावा है कि आगामी दिनों में अफ्रीकी, भारतीयों पर हमला कर सकते हैं। उनका मकसद सिर्फ भारतीयों को लूटना ही होगा।

खबरें और भी हैं...