• Hindi News
  • International
  • Warning Corona Will Increase, Because People Expelled From Ukraine Without Kovid Test From Ukraine, The Heat Will Reach India Too

यूक्रेन पर हमले का 18वां दिन:गोलीबारी में अमेरिकी पत्रकार की मौत; पश्चिमी यूक्रेन में हुए रूसी हमले में 35 की जान गई

मॉस्को/कीव5 महीने पहले

रूस-यूक्रेन जंग का आज 18वां दिन है। हालात बेहद खराब होते जा रहे हैं। यूक्रेनी पुलिस के मुताबिक, रूसी सेना ने राजधानी कीव के पास इरपिन शहर में एक अमेरिकी पत्रकार को गोली मार दी, जिससे उसकी मौत हो गई। जर्नलिस्ट का नाम ब्रेंट रेनॉड था, वो एक अवॉर्ड विनिंग फिल्ममेकर भी थे। उन्होंने NBC और न्यूयॉर्क टाइम्स सहित कई अमेरिकी मीडिया संस्थानों में सेवाएं दी थीं।

रेनॉड का साथी पत्रकार जुआन अर्रेडोंडो घायल है। रेनॉड के पास से अमेरिकी पासपोर्ट और न्यूयॉर्क टाइम्स का एक आउडेटेड पहचान पत्र मिला। 51 साल के रेनॉड को गर्दन में गोली मारी गई थी।

रविवार को यूक्रेन के पश्चिमी इलाके में लीव शहर के पास मौजूद एक मिलिट्री बेस पर रूस ने क्रूज मिसाइलें दागीं। न्यूयॉर्क टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, दागी गई मिसाइलों की संख्या 30 से ज्यादा थी। इस हमले में अब तक 35 लोगों की मौत हुई है। 57 लोग घायल हैं।

इन फोटोज में यूक्रेन पर हुए ताजा रूसी हमले और उसके बाद की तबाही साफ देखी जा सकती है।
इन फोटोज में यूक्रेन पर हुए ताजा रूसी हमले और उसके बाद की तबाही साफ देखी जा सकती है।

जंग से मची भगदड़ लाएगी कोरोना की नई लहर
इस युद्ध के कारण मची भगदड़ से कोरोना महामारी की नई लहर शुरू होने की चेतावनी मेडिकल एक्सपर्ट्स ने दी है। इस नई लहर की चपेट में भारत समेत समूची दुनिया के आने की आशंका है, क्योंकि यूक्रेन से बड़े पैमाने पर इमरजेंसी हालात में लोगों को बिना कोविड टेस्ट के निकाला गया है या फिर उन्होंने भागकर दूसरे देशों में शरण ली है।​​​​

आगे बढ़ने से पहले इस खबर पर आपकी राय दे दें...

ताजा अपडेट्स...

  • ब्रिटिश सरकार ने यूक्रेन से विस्थापित लोगों को शरण देने वाले नागरिकों को हर महीने 350 पॉउंड (करीब 35 हजार रुपए) देने का ऐलान किया है।
  • ईसाई धर्मगुरु पोप फ्रांसिस ने कहा है कि यूक्रेन में कत्लेआम रुकना चाहिए। उन्होंने कहा कि भगवान के नाम पर पीड़ित लोगों की पुकार सुनी जाए और बमबारी और हमले बंद किए जाएं।
  • रूस ने रविवार को पश्चिमी यूक्रेन के इवानो-फ्रैंकिव्स्क एयरपोर्ट पर भी मिसाइल हमला किया है।
  • रूसी सेना यूक्रेन की कैपिटल कीव के सेंटर प्वॉइंट से महज 16 किलोमीटर दूर तक पहुंच गई हैं। यहां यूक्रेनी छापामार दलों के साथ रूसी सेना की स्ट्रीट-टु-स्ट्रीट फाइट चल रही है, लेकिन रूसी सेना फिलहाल भारी पड़ रही है।
  • इजराइली PM ऑफिस से जारी बयान के मुताबिक, यूक्रेन के राष्ट्रपिति जेलेंस्की ने शनिवार रात इजराइली PM नफ्टाली बेनेट से फोन पर बात की और जंग को खत्म करने के उपायों पर इजराइल से सहयोग मांगा।
  • यूक्रेन के अधिकारियों ने युद्ध की चपेट में आए शहरों से आम नागरिकों को निकालने के लिए बनाए ग्रीन कॉरिडोर भी ब्लॉक करने का आरोप रूसी सेना पर लगाया है।
  • कीव के करीब रूसी सेना के हमले में 1 बच्चे समेत 7 लोगों की मौत हो गई है। यह हमला पेरेमोहा गांव से महिलाओं और बच्चों को सुरक्षित स्थान पर ले जा रहे काफिले के ऊपर ग्रीन कॉरिडोर एरिया में किया गया।
  • अमेरिका ने यूक्रेन को करीब 1500 करोड़ रुपए के अतिरिक्त हथियार और उपकरण देने की घोषणा की है। इन हथियारों में एंटीटैंक व एंटीएयरक्राफ्ट मिसाइल्स भी शामिल हैं। इस घोषणा से कुछ घंटे पहले ही रूस विदेश मंत्रालय के एक अधिकारी ने कहा कि उसकी सेना हथियारों की सप्लाई वाले काफिले को निशाना बनाएगी।

गूगल यूक्रेन में एंड्रॉयड फोन पर देगा एयर रेड अलर्ट
अमेरिकी टेक कंपनी गूगल ने अपने यूक्रेनियन यूजर्स के लिए एक नई सुविधा शुरू की है। मौजूदा रूस-यूक्रेन संकट को ध्यान में रखकर गूगल ने यूक्रेन में काम कर रहे एंड्रॉयड फोन्स में एयर रेड अलर्ट फीचर चालू किया है। GSM एरिना की रिपोर्ट के मुताबिक, यह फीचर गूगल प्ले सर्विसेज के तहत काम करेगा। गूगल ने इस सुविधा को यूक्रेन की सरकार के आग्रह पर चालू किया है। कंपनी के वाइस प्रेसिडेंट (इंजीनियरिंग) के मुताबिक, गूगल इसके लिए उसी लो-लेटेंसी सिस्टम का यूज करेगा, जिसका यूज पहले से वह भूकंप की चेतावनी देने के लिए कर रहा है।

रूस-यूक्रेन जंग से जुड़ी ये खबरें भी पढ़ सकते हैं...

अब देखिए जंग के हालात बयां करती कुछ ताजा तस्वीरें

कीव के चारों तरफ रूसी सेना के हमले के कारण शहर के आसमान में धुएं की परत छा गई है।
कीव के चारों तरफ रूसी सेना के हमले के कारण शहर के आसमान में धुएं की परत छा गई है।
आम नागरिकों के काफिलों पर भी रूसी सेना हमला कर रही है।
आम नागरिकों के काफिलों पर भी रूसी सेना हमला कर रही है।
मारियुपोल के इंडस्ट्रियल एरिया में रूसी सेना की ताजा बमबारी से लगी आग की सैटेलाइट इमेज जारी की गई है।
मारियुपोल के इंडस्ट्रियल एरिया में रूसी सेना की ताजा बमबारी से लगी आग की सैटेलाइट इमेज जारी की गई है।
इटली के फ्लोरेंस शहर में सांता स्क्वॉयर पर शनिवार को हजारों लोगों ने जमा होकर रूस से यूक्रेन छोड़ने की मांग की। फ्रांस के पेरिस में भी लोगों ने जंग के खिलाफ प्रदर्शन किया है।
इटली के फ्लोरेंस शहर में सांता स्क्वॉयर पर शनिवार को हजारों लोगों ने जमा होकर रूस से यूक्रेन छोड़ने की मांग की। फ्रांस के पेरिस में भी लोगों ने जंग के खिलाफ प्रदर्शन किया है।
वेस्टर्न यूक्रेन के लुतस्क शहर में रूसी सेना के हमले में मारे गए जवान को आखिरी विदाई देने के लिए भारी संख्या में लोग जमा हुए।
वेस्टर्न यूक्रेन के लुतस्क शहर में रूसी सेना के हमले में मारे गए जवान को आखिरी विदाई देने के लिए भारी संख्या में लोग जमा हुए।

जंग की वजह से नुकसान

  • रॉयटर्स की रिपोर्ट के मुताबिक, यूक्रेन के डिप्टी PM ने कहा कि रूसी सेना के भयानक हमले से जूझ रहे मारियुपोल शहर से 13,000 नागरिकों को मानवीय कॉरिडोर से निकालने की तैयारी की गई थी, लेकिन रूसी हमले के कारण यह काफिला शहर से बाहर नहीं निकल सका।
  • मारियुपोल के मेयर ऑफिस ने शहर में रूसी बमबारी के कारण अब तक 1,500 आम नागरिकों की मौत होने का दावा किया है। हालांकि फॉरेन पॉलिसी के नेशनल सिक्योरिटी रिपोर्टर जैक डैच के मुताबिक, अमेरिकी अधिकारियों को यूक्रेनी अधिकारियों ने शहर में 1,300 आम नागरिकों की मौत होने की जानकारी दी है।
  • यूक्रेन के राष्ट्रपतिन वोल्दोमिर जेलेंस्की ने शनिवार को कहा कि अब तक लड़ाई में उनके करीब 1,300 सैनिकों की मौत हो चुकी है। यह पहला मौका है जब यूक्रेन सरकार ने अपने सैनिकों के मारे जाने का ऑफिशियल अनुमानित आंकड़ा जारी किया है।

जंग को खत्म करने के लिए उठा ताजा कदम
यूक्रेन के राष्ट्रपति वोल्दोमिर जेलेंस्की ने कहा है कि वो रूसी राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन से इजराइल के शहर यरूशलम में बातचीत को तैयार हैं। जेलेंस्की ने कहा कि इस बातचीत के लिए इजराइली प्रधानमंत्री नफ्टाली बेनेट को मध्यस्थता करनी चाहिए। बेनेट ने कुछ दिन पहले मॉस्को का दौरा किया था। इस दौरान उन्होंने दोनों देशों के बीच मध्यस्थता की पेशकश की थी।

जंग की आग यूक्रेन में कहां तक फैली
तकरीबन दो सप्ताह तक पूर्वी यूक्रेन में चल रही भयानक जंग के दौरान वहां से भागने वाले लाखों लोगों के लिए वेस्टर्न यूक्रेन सेफ जोन बना रहा, लेकिन जंग की आंच अब इस इलाके में भी पहुंच गई है। रूसी सेना ने पोलैंड बॉर्डर से महज 55 मील दूर लुत्सक शहर के मिलिट्री एयरफील्ड पर हमला किया है, जिसमें 4 सैनिकों की जान चली गई है। इसे बेहद रेयर मूमेंट माना जा रहा है, क्योंकि रूसी सेना ने अब तक साउथ, नॉर्थ, ईस्ट यूक्रेन और राजधानी कीव के चारों तरफ ही अपने अभियान को फोकस कर रखा था। लुतस्क के अलावा वेस्टर्न यूक्रेन के एक अन्य शहर इवानो-फ्रैंकविस्क पर भी शुक्रवार को हमला किया था।

खबरें और भी हैं...