क्वीन के ताबूत के पास खड़ा बुजुर्ग रॉयल गार्ड गिरा:वेस्टमिंस्टर हॉल की घटना, अब हर 20 मिनट में चेंज हो रही गार्ड्स की ड्यूटी

लंदन3 महीने पहले

क्वीन एलिजाबेथ का ताबूत 14 सितंबर को लंदन के वेस्टमिंस्टर हॉल पहुंचा। यहां लोग अगले 4 दिन यानी 18 सितंबर तक महारानी के अंतिम दर्शन कर सकेंगे। इसी बीच यहां पहरा दे रहा एक गार्ड अचानक से गिर पड़ा। वह क्वीन के ताबूत के पास ही खड़ा था।

इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। वीडियो में देखा जा सकता है कि ब्लैक कलर की यूनिफॉर्म पहना एक रॉयल गार्ड अचानक से बेहोश हो गया और जमीन पर गिर गया। रॉयल गार्ड के गिरने के बाद वहां मौजूद अन्य गार्ड उनकी तरफ भागते हैं और उसे उठाने की कोशिश करते हैं। थोड़ी देर में जमीन पर गिरे गार्ड को होश आ जाता है और वो उठकर फिर से अपनी जगह पर खड़ा हो जाता है।

क्वीन के ताबूत की सिक्योरिटी के लिए ब्रिटिश रॉयल गार्ड लगातार ड्यूटी कर रहे हैं। इसी दौरान एक गार्ड बेहोश हो गया।
क्वीन के ताबूत की सिक्योरिटी के लिए ब्रिटिश रॉयल गार्ड लगातार ड्यूटी कर रहे हैं। इसी दौरान एक गार्ड बेहोश हो गया।

गार्ड बुजुर्ग था
BBC की लाइव स्ट्रीमिंग के दौरान यह घटना कैमरे में कैद हो गई। जिसके बाद कुछ देर के लिए लाइव स्ट्रीमिंग रोकनी पड़ी थी। रिपोर्ट्स के मुताबिक, गार्ड बुजुर्ग था। जब वह गिरा तो उसकी कैप भी गिर गई। गार्ड के सफेद बाल थे। इससे अंदाजा लगाया जा रहा है कि उसकी उम्र ज्यादा थी।

लंदन के वेस्टमिंस्टर ऐबे में होगा क्वीन का अंतिम संस्कार
महारानी एलिजाबेथ का निधन 8 सितंबर को स्कॉटलैंड में हुआ था। उनका अंतिम संस्कार शाही परंपरा के मुताबिक 19 सितंबर को वेस्टमिंस्टर ऐबे में होगा। उनका शव 14 सितंबर को स्कॉटलैंड के बाल्मोरल कैसल से लंदन के बकिंघम पैलेस लाया गया था।

ये वेस्टमिन्स्टर ऐबे की तस्वीर है। यहां क्वीन का अंतिम संस्कार होगा।
ये वेस्टमिन्स्टर ऐबे की तस्वीर है। यहां क्वीन का अंतिम संस्कार होगा।

अंतिम दर्शन के लिए लगी 4 किमी लंबी लाइन

लंदन में खराब मौसम होने के बावजूद रानी के दर्शन के लिए लोगों को 4 किलोमीटर लम्बी लाइन में इंतजार कर रहे हैं। इसके लिए टॉयलेट, बैरियर और अन्य जरूरी चीजों का इंतजाम किया गया है।

क्वीन के अंतिम संस्कार में दुनियाभर से शामिल होंगे 500 VIP
क्वीन के अंतिम संस्कार में दुनियाभर से करीब 500 लीडर आएंगे। इसमें अमेरिका के प्रेसिडेंट जो बाइडेन, काॅमनवेल्थ देशों के लीडर्स और यूरोप की रॉयल फैमिली और दुनिया के अन्य लीडर्स शामिल होंगे। भारत कली और से राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू जाएंगी। रूस के राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन समेत बेलारूस और म्यांमार से किसी लीडर को नहीं बुलाया गया है।

क्वीन से जुड़ी ये खबरें जरूर पढ़ें……

गणतंत्र बनने के लिए ‘सेल्फ रूल कैंपेन’ चलाया जा रहा, किंग चार्ल्स III की बढ़ सकती है परेशानी

क्वीन एलिजाबेथ II की मौत के बाद तीन देश ब्रिटिश राजशाही से मुक्ति पाने की तैयारी में है। इनमें ऑस्ट्रेलिया, एंटीगा-बरबूडा और जमैका शामिल हैं। तीनों में साल 2025 में जनमत संग्रह होने वाला है। इसमें इन देशों की जनता ब्रिटिश साम्राज्य के अधीन रहने या नहीं रहने के बारे में वोटिंग करेगी। माना जा रहा है कि इन देशों में ब्रिटेन की राजशाही के खिलाफ माहौल है। इन देशों के गणतंत्र बनने के लिए ‘सेल्फ रूल कैंपेन’ भी चलाया जा रहा है। पढ़ें पूरी खबर...

US प्रेसिडेंट शामिल होंगे, जिनपिंग और पुतिन नहीं आएंगे

ब्रिटेन की क्वीन एलिजाबेथ II का ताबूत बुधवार को बकिंघम पैलेस से वेस्टमिन्स्टर हॉल ले जाया गया। यहां उनके अंतिम दर्शन किए जा सकेंगे। ताबूत के साथ उनके बेटे सम्राट चार्ल्स तृतीय, प्रिंस विलियम और हैरी साथ-साथ चल रहे थे। अंतिम संस्कार सोमवार को राजकीय सम्मान से होगा। भारत से राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू इसमें शामिल होंगी। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, क्वीन के अंतिम संस्कार में करीब 500 राष्ट्राध्यक्ष शामिल होंगे। कुछ देशों के क्वीन और किंग भी अंतिम संस्कार में शामिल होने आ सकते हैं। पढ़ें पूरी खबर...

वेस्टमिंस्टर हॉल में अंतिम दर्शनों के लिए भारी संख्या में लोग पहुंचे, 5 KM तक लंबी लाइन लगी

महारानी एलिजाबेथ द्वितीय का ताबूत मंगलवार की रात लंदन पहुंच गया है। लंदन का वेस्टमिंस्टर हॉल बुधवार को महारानी के ताबूत के अंतिम दर्शन के लिए जनता के लिए खुलेगा। हालांकि, लोग पहले ही वहां पहुंच गए हैं। इससे पहले स्कॉटलैंड के एडिनबर्ग में सेंट जाइल्स कैथेड्रल में हजारों लोगों ने महारानी के अंतिम दर्शन किए। पढ़ें पूरी खबर...

17 से 19 सितंबर तक ब्रिटेन में रहेंगी राष्ट्रपति, पद संभालने के बाद पहली विदेश यात्रा

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू 17 सितंबर को ब्रिटेन जाएंगी। वे क्वीन एलिजाबेथ के अंतिम संस्कार में शामिल होंगी। विदेश मंत्रालय के मुताबिक मुर्मू 17 से 19 सितंबर तक ब्रिटेन की यात्रा पर रहेंगी। राष्ट्रपति बनने के बाद मुर्मू की यह पहली विदेश यात्रा होगी। पढ़ें पूरी खबर...

खबरें और भी हैं...