• Hindi News
  • International
  • When The Record Breaking Heat Reached 25 Degrees In Britain, 4 Million People Set Out Towards The Sea; Usually Here In May June, The Mercury Remains At 14 18 Degrees.

ब्रिटेन में रिकॉर्ड तोड़ गर्मी:25 डिग्री पहुंचा तो समुद्र की ओर निकल पड़े 40 लाख लोग; आमतौर पर यहां मई-जून में 14-18 डिग्री रहता है पारा

लंदनएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
तस्वीर इंग्लैंड के बोर्नमाउथ टाउन की है। - Dainik Bhaskar
तस्वीर इंग्लैंड के बोर्नमाउथ टाउन की है।

ब्रिटेन में रविवार साल का सबसे गर्म दिन रहा। तापमान 25 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया। तपती गर्मी से बचने के लिए 40 लाख लोग छुट्‌टी मनाने समुद्री तटों और पर्यटन स्थलों पर पहुंच गए। आलम यह रहा कि ज्यादातर जगहों पर पार्किंग फुल रही। लोगों को गाड़ियां खड़ी करने के लिए दो-दो घंटे इंतजार करना पड़ा। इतना ही नहीं कई लोगों ने पार्किंग में ही छुट्‌टी का लुत्फ उठाया।

ब्रिटिश मौसम विभाग के मुताबिक, ब्रिटेन में आमतौर पर मई-जून का तापमान 14 से 18 डिग्री तक रहता है। लेकिन रविवार को कई दशकों के बाद तापमान में बदलाव देखा गया। वैज्ञानिकों का अनुमान है कि जून के पहले सप्ताह में तापमान 31 डिग्री सेल्सियस से ऊपर पहुंच सकता है। दूसरी ओर, ब्रिटेन में ये भीड़ तब जुट रही है, जब वहां कोरोना के मामले बढ़ने लगे हैं।

ब्रिटेन कोरोना के मामले बढ़ने लगे हैं इसके बावजूद भी भीड़ जुट रही है।
ब्रिटेन कोरोना के मामले बढ़ने लगे हैं इसके बावजूद भी भीड़ जुट रही है।

एक हफ्ते में 27% केस बढ़े; वैज्ञानिक बोले- ये तीसरी लहर के संकेत हैं
इधर, ब्रिटेन में नया वैरिएंट सामने आने के बाद 27% केस और 43% मौतें बढ़ गई हैं। इसे लेकर वैज्ञानिक भी चिंतित होने लगे हैं। कैंब्रिज यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर रवि गुप्ता ने कहा- ‘ब्रिटेन में तीसरी लहर के संकेत मिलने लगे हैं। देश में पिछले 10 दिन में कोरोना के केस तेजी से बढ़े हैं। जिसकी मुख्य वजह नया वैरिएंट है।’

दूसरी ओर, इंग्लैंड में 21 जून को कोरोना वायरस प्रतिबंधों में ढील का अंतिम चरण लागू होगा। इसे लेकर प्रोफेसर गुप्ता ने चेतावनी देते हुए कहा कि अगर देश में लॉकडाउन में और ढील दी गई तो ब्रिटेन में बी.1.6172 वायरस गति पकड़ सकता है, जो देश के लिए बड़ी समस्या बन सकता है।

खबरें और भी हैं...