• Hindi News
  • International
  • Wickremesinghe Said – Economy Will Be Back On Track In 18 Months, India Helped A Lot In Difficult Times

श्रीलंका के PM को अच्छे दिनों की उम्मीद:विक्रमसिंघे बोले- 18 महीने में इकोनॉमी ठीक होगी, भारत ने मुश्किल वक्त में बहुत मदद की

कोलंबो5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

श्रीलंका की आर्थिक मुश्किलें कम नहीं हो रहीं। लोगों का पलायन भी जारी है। इस बीच, प्रधानमंत्री रानिल विक्रमसिंघे ने देश को भरोसा दिलाने का प्रयास किया है। रानिल के मुताबिक, करीब डेढ़ साल में मुल्क के हालात बेहतर होंगे। महंगाई दर 6% के आसपास होगी। रानिल ने भारत को मुश्किल वक्त का भरोसेमंद और मददगार दोस्त बताया।

भारत को बताया सबसे अच्छा दोस्त

‘अलजजीराटीवी को दिए इंटरव्यू में विक्रमसिंघे इकोनॉमी से जुड़े कई अहम मुद्दों का जिक्र किया। ये भी माना कि देश आजादी के बाद के सबसे खराब दौर से गुजर रहा है। रानिल ने कहा- मुझे भरोसा है कि हम इकोनॉमी के इन हालात को बदल सकते हैं। इसमें करीब 18 महीने लगेंगे। अगला साल यानी 2023 हमारे लिए बेहद मुश्किल होने वाला है, लेकिन 2024 तक इकोनॉमी पटरी पर होगी और रफ्तार पकड़ने लगेगी।

श्रीलंकाई PM ने भारत को सबसे अच्छा दोस्त बताया। कहा- श्रीलंका गंभीर आर्थिक संकट से गुजर रहा है। इससे निपटने में भारत ने हमारी बहुत मदद की है। अडानी ग्रुप की देश में एंट्री का हम स्वागत करते हैं।

आजादी के बाद सबसे बड़ा आर्थिक संकट
श्रीलंका में लोगों को रोजमर्रा से जुड़ी चीजें भी नहीं मिल पा रही हैं या कई गुना महंगी मिल रही हैं। विदेशी मुद्रा भंडार लगभग खत्म हो चुका है, जिससे वो जरूरी चीजों का भी आयात नहीं कर पा रहा है। सबसे ज्यादा ईंधन की कमी है। पेट्रोल-डीजल पर कई किलोमीटर लंबी लाइनें हैं। विरोध प्रदर्शन भी हो रहे हैं।

पेट्रोल पंप की सुरक्षा सेना के हवाले
लोगों की रोज सुरक्षा बलों से झड़पें हो रही हैं, क्योंकि यही पेट्रोल पंप की निगरानी कर रहे हैं। स्कूल-कॉलेज और अस्पताल बंद पड़े हैं। युवाओं के पास रोजगार नहीं है। टूरिज्म सेक्टर भी पहले कोविड की वजह से असर पड़ा और इकोनॉमी की वजह से यह जूझ रहा है।

महंगाई, बेरोजगारी से लोग परेशान
सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन जारी हैं। महंगाई, बेरोजगारी और ईंधन की बेहद कमी से लोग त्रस्त हैं। कोलंबो के ऑटो रिक्शा चालक थुशान परेरा ने करीब 5 हफ्ते से अपने तीन बच्चों को दोनों टाइम पूरा खाना नहीं खिलाया है। उनका परिवार बिस्किट के एक पैकेट पर निर्भर है, जिसकी कीमत 130 श्रीलंकाई रुपए (भारतीय मुद्रा में 30 रु.) पहुंच गई है। पढ़ें पूरी खबर...

श्रीलंका में लोग जरूरी सामान की सप्लाई के लिए कई घंटे इंतजार कर रहे हैं।
श्रीलंका में लोग जरूरी सामान की सप्लाई के लिए कई घंटे इंतजार कर रहे हैं।

विक्रमसिंघे छठवीं बार PM
रानिल विक्रमसिंघे श्रीलंका के नए प्रधानमंत्री हैं। वो पहले भी 5 बार प्रधानमंत्री रह चुके हैं। 73 साल के रानिल को देश का सबसे अच्छा पॉलिटिकल एडमिनिस्ट्रेटर और अमेरिका का समर्थक माना जाता है।