मोदी का मिशन जापान:PM बोले- मुझे मक्खन पर नहीं, पत्थर पर लकीर बनाने में मजा आता है; चीन के खिलाफ नया ग्रुप

टोक्यो3 महीने पहले

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सोमवार सुबह जापान की राजधानी टोक्यो पहुंचे। इस दौरान उन्होंने प्रवासी भारतीयों को संबोधित करते हुए कहा- साथियों, मेरा जो लालन-पालन हुआ है, जो संस्कार मुझे मिले हैं और जिन-जिन लोगों ने मुझे गढ़ा है, उसके कारण मेरी भी एक आदत बन गई है। मुझे मक्खन पर लकीर खींचने में मजा नहीं आता। मैं पत्थर पर लकीर खींचता हूं। सवाल मोदी का नहीं है। 130 करोड़ देशवासियों का संकल्प और सपने यह सामर्थ्य हम देखकर रहेंगे। यह सपनों का भारत होगा। भारत अपने खोए विश्वास को फिर हासिल कर रहा है। दुनिया में हमारे नागरिक आंख से आंख मिलाकर बात करते हैं।

दूसरी तरफ, जो बाइडेन ने हिंद-प्रशांत में अमेरिका को फिर बड़ी आर्थिक ताकत के तौर पर पेश करने के लिए नया इकोनॉमिक अलायंस बनाया है। इसका नाम इंडो पैसिफिक इकोनॉमिक फ्रेमवर्क यानी IPEF है।

PM मोदी ने कहा- भारत की विकास यात्रा में जापान की अहम भूमिका रही है।
PM मोदी ने कहा- भारत की विकास यात्रा में जापान की अहम भूमिका रही है।

भारत और जापान नैचुरल पार्टनर हैं
PM मोदी ने कहा- जापान कमल के फूल की तरह अपनी जड़ों से जुड़ा है। इसकी वजह से वो खूबसूरत नजर आता है। यही हमारे संबंधों की कहानी भी है। हमारे संबंधों को 70 साल हो गए हैं। भारत और जापान नैचुरल पार्टनर हैं। हमारे संबंध आत्मीयता और अपनेपन का है। यह रिश्ता सम्मान का है। यह दुनिया के लिए सांझे संकल्प का है। जापान से रिश्ता बुद्ध और बौध का है। हमारे महाकाल हैं, जापान में गायकोतिन है। हमारी मां सरस्वती हैं तो जापान में बेंजायतिन है।

मजबूत हो रहे दोनों देशों के संबंध
21वीं सदी में भी भारत और जापान के सांस्कृतिक संबंधों को हम बढ़ा रहे हैं। मैं काशी का सांसद हूं। जब शिंजो आबे काशी आए तो उन्होंने रूद्राक्ष दिया। ये बातें हमें निकट लाती हैं। आप इस ऐतिहासिक बंधन को मजबूत बना रहे हैं। आज की दुनिया को भगवान बुद्ध के बताए रास्ते पर चलने की पहले से ज्यादा जरूरत है। हिंसा, आतंकवाद या क्लाइमेट चेंज से निपटने का यही रास्ता है। भारत सौभाग्यशाली है कि उसे भगवान बुद्ध का साक्षात आशीष मिला है। चुनौतियां चाहे जैसी भी हों, भारत उनका समाधान खोजता ही है।

जापान समस्या से सीखता है
PM मोदी ने कहा- भारत आज किस तरह वैश्विक चुनौतियों का मुकाबला कर रहा है। क्लाइमेट चेंज बहुत बड़ा संकट बन गया है। हमने इस चुनौति को देखा भी और रास्ते भी खोजे। 2070 तक हमने नेट जीरो के लिए वादा किया है। इंटरनेशनल सोलर एलायंस के लिए हम साथ हैं। जापान ने तो इसको सबसे ज्यादा महसूस किया है। वो हर समस्या से कुछ न कुछ सीखते हैं और व्यवस्थाओं को विकसित किया है।

आत्मनिर्भरता के संकल्प के साथ आगे बढ़ रहे
हम आज ग्रीन फ्यूचर और ग्रीन रोड मैप के लिए तेजी से आगे बढ़ रहे हैं। ग्रीन हाइड्रोजन पर फोकस किया जा रहा है। इस दशक के आखिर तक हम 50 फीसदी नॉन फॉसिल फ्यूल का टारगेट पूरा कर लेंगे। ग्लोबल सप्लाई चेन को दो साल में नुकसान पहुंचा है। इस पर सवालिया निशान है। भविष्य में इससे बचने के लिए हम आत्मनिर्भरता के संकल्प के साथ आगे बढ़ रहे हैं। यह दुनिया के लिए भी बहुत बड़ा इन्वेस्टमेंट है। पूरी दुनिया को इसका अहसास है। दुनिया को यह भी दिख रहा है कि भारत इन्फ्रास्ट्र्कचर पर काम कर रहा है। जापान इसमें अहम सहयोगी है।

भारत ने डेमोक्रेसी की पहचान बनाई
भारत में हो रहे बदलावों में एक और खास बात है। हमने एक स्ट्रॉन्ग और रिस्पॉन्सिबल डेमोक्रेसी की पहचान बनाई है। इसमें समाज के वो लोग भी जुड़ रहे हैं जो पहले इसमें गौरव महसूस नहीं करते थे। पुरुषों से ज्यादा महिलाएं वोट कर रही हैं। यह इस बात का प्रमाण है कि भारत में डेमोक्रेसी हर नागरिक को कितना ताकतवर बनाती है। लीकेज प्रूव गर्वनेंस के लिए टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल कर रहे हैं। जो जिस चीज का हकदार है, वो बिना किसी परेशानी और सिफारिश के अपने हक को प्राप्त कर सकता है।

दुनिया का 40% डिजिटल लेनदेन भारत में
भारत के गांवों रहने वालों की डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर ने बहुत मदद की है। इसका एक कारण डिजिटल रिवोल्यूशन है। पूरी दुनिया में जो डिजिटल ट्रांजेक्शन होता है, उसमें से 40 फीसदी अकेले भारत में होता है। आपको इस पर गर्व होता है।

कोरोना के दौर में जब सब बंद था। तब भी हमने एक क्लिक पर करोड़ों भारतीयों को मदद पहुंचाई। जिसके लिए मदद तय थी वो उसे ही मिली। भारत में आज सही मायनों में पीपल लेड गवर्नमेंट काम कर रही है। आज हम आजादी का अमृत महोत्सव मना रहे हैं। इसके 100वें वर्ष तक हमें भारत को कहां तक पहुंचाना है। हम इसका रोड मैप तैयार कर रहे हैं।

PM मोदी ने कहा- भारत ने दुनिया के देशों में दवाएं भेजीं। जब वैक्सीन बनी तो मेड इन इंडिया वैक्सीन अपने और दूसरे 100 से अधिक देशों को यह वैक्सीन भेजी।
PM मोदी ने कहा- भारत ने दुनिया के देशों में दवाएं भेजीं। जब वैक्सीन बनी तो मेड इन इंडिया वैक्सीन अपने और दूसरे 100 से अधिक देशों को यह वैक्सीन भेजी।

बढ़ रही भारतीय प्रोडक्ट्स की डिमांड
लोग हमारे मसाले हमारी हल्दी मंगा रहे हैं। हमारी खादी की डिमांड बढ़ रही है। पहले तो यह नेताओं की ‌वेशभूषा बन गई थी। इसकी ग्लोबल डिमांड बढ़ रही है। विवेकानंद ने एक बार कहा था- हम भारतीय नौजवानों को जीवन में एक बार कम से कम जापान की यात्रा जरूर करनी चाहिए। जापान का हर युवा कम से कम एक बार भारत की यात्रा भी जरूर करे। आपने अपनी स्किल्स से अपने टेलेंट से जापान की इस महान धरती को अभिभूत किया है। अब आप जापान को भारत से परिचित कराएं। इससे दोनों देशों के संबंधों को नई बुलंदियां मिलेंगी। आपका स्वागत और उत्साह दिल को छू लेने वाला है। यह प्यार स्नेह हमेशा बना रहे।

IPEF इवेंट में शामिल हुए मोदी
इसके पहले PM मोदी इंडो-पैसिफिक इकोनॉमिक फ्रेमवर्क (IPEF) इवेंट में शामिल हुए। यहां उन्होंने कहा- भारत एक समावेशी इंडो-पैसिफिक इकोनॉमिक फ्रेमवर्क के लिए आप सभी के साथ काम करेगा। हमारे बीच भरोसा, पारदर्शिता, समयबद्धता होनी चाहिए। यह इंडो पैसिफिक क्षेत्र में विकास, शांति और समृद्धि लाएगा।

IPEF के लॉन्चिंग के मौके पर PM मोदी ने कहा कि ये हमारी सामूहिक इच्छाशक्ति की घोषणा है।
IPEF के लॉन्चिंग के मौके पर PM मोदी ने कहा कि ये हमारी सामूहिक इच्छाशक्ति की घोषणा है।

उन्होंने कहा- इंडो-पैसिफिक क्षेत्र मैन्युफैक्चरिंग, आर्थिक गतिविधि और निवेश का केंद्र है। भारत इसका सदियों से प्रमुख केंद्र रहा है। भारत के लोथल (गुजरात) में सबसे प्राचीन कॉमर्शियल पोर्ट था। इसलिए ये आवश्यक है कि हम आर्थिक क्षेत्र की चुनौतियों के लिए साझा समाधान खोजें।

वहीं, जापानी PM ने कहा- जापान, अमेरिका और अन्य भागीदारों के सहयोग से भारत-प्रशांत क्षेत्र की स्थिर में योगदान देता रहा है।

PM मोदी ने जापान के बिजनेस लीडर्स और CEOs से भी मुलाकात की।

मोदी ने टोक्यो में सुजुकी मोटर कॉरपोरेशन के सलाहकार ओसामू सुजुकी से मुलाकात की। दोनों ने भारत में निवेश, नवाचार, EVs की मेनुफैक्चरिंग को मुद्दों पर चर्चा की।
मोदी ने टोक्यो में सुजुकी मोटर कॉरपोरेशन के सलाहकार ओसामू सुजुकी से मुलाकात की। दोनों ने भारत में निवेश, नवाचार, EVs की मेनुफैक्चरिंग को मुद्दों पर चर्चा की।
PM मोदी फास्ट रिटेलिंग के CEO तदाशी यानाई से मिले। दोनों ने भारत में PLI योजना के तहत में कपड़ा निर्माण के लिए निवेश के अवसरों पर चर्चा की।
PM मोदी फास्ट रिटेलिंग के CEO तदाशी यानाई से मिले। दोनों ने भारत में PLI योजना के तहत में कपड़ा निर्माण के लिए निवेश के अवसरों पर चर्चा की।
टोक्यो में मोदी ने NEC कॉर्पोरेशन के चेयरमैन नोबुहिरो एंडो से मुलाकात की।
टोक्यो में मोदी ने NEC कॉर्पोरेशन के चेयरमैन नोबुहिरो एंडो से मुलाकात की।

QUAD समिट में लेगें हिस्सा
मोदी जापान QUAD समिट में हिस्सा लेने आए हैं। उनके जापान पहुंचने पर भारतीय समुदाय ने उनका जोरदार स्वागत किया और जय श्री राम के नारे लगाए। भारतीयों ने कहा- जो काशी को सजाए हैं, वो टोक्यो आए हैं।

टोक्यो में मोदी का स्वागत तस्वीरों में...

टोक्यो पहुंचने पर वहां रह रहे भारतीयों ने प्रधानमंत्री का स्वागत किया। मोदी ने भी सभी का हाथ जोड़कर अभिवादन किया।
टोक्यो पहुंचने पर वहां रह रहे भारतीयों ने प्रधानमंत्री का स्वागत किया। मोदी ने भी सभी का हाथ जोड़कर अभिवादन किया।
टोक्यो में PM मोदी की फोटो लेने के लिए कतार में खड़े भारतीय।
टोक्यो में PM मोदी की फोटो लेने के लिए कतार में खड़े भारतीय।
एक बच्ची ने प्रधानमंत्री को अपनी बनाई पेंटिंग दिखाई, मोदी ने उसकी आर्ट से प्रभावित होकर उसके सिर पर हाथ रख दिया।
एक बच्ची ने प्रधानमंत्री को अपनी बनाई पेंटिंग दिखाई, मोदी ने उसकी आर्ट से प्रभावित होकर उसके सिर पर हाथ रख दिया।
PM मोदी के साथ बातचीत के बाद बच्चों ने कहा- उन्होंने हमें अपना आशीर्वाद और ऑटोग्राफ दिया।
PM मोदी के साथ बातचीत के बाद बच्चों ने कहा- उन्होंने हमें अपना आशीर्वाद और ऑटोग्राफ दिया।
PM मोदी ने एक बच्चे से पूछा कि क्या आप हिंदी बोल लेते हो, इस पर बच्चे ने जवाब दिया- नहीं बोल पाता।
PM मोदी ने एक बच्चे से पूछा कि क्या आप हिंदी बोल लेते हो, इस पर बच्चे ने जवाब दिया- नहीं बोल पाता।
टोक्यो में भारतीय प्रवासी PM मोदी को भारत मां का शेर कहते हुए स्वागत किया।
टोक्यो में भारतीय प्रवासी PM मोदी को भारत मां का शेर कहते हुए स्वागत किया।
भारतीय लोगों ने PM मोदी के आने की खुशी में भारत मां की जय के नारे भी लगाए।
भारतीय लोगों ने PM मोदी के आने की खुशी में भारत मां की जय के नारे भी लगाए।

जापान के बिजनेस लीडर्स के साथ बैठक
PM मोदी जापानी PM फुमियो किशिदा के बुलावे पर जापान पहुंचे हैं। उन्होंने कहा कि इस साल मार्च में किशिदा भारत-जापान ऐनुअल समिट में हिस्सा लेने भारत आए थे। टोक्यो दौरे पर भारत-जापान के बीच स्ट्रैटेजिक और ग्लोबल पार्टनरशिप पर बात होगी।

रूस- यूक्रेन मुद्दे पर बात करेंगे मोदी-बाइडेन
क्वॉड बैठक से इतर PM मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन टोक्यो में एक बाइलैटरल मीटिंग करेंगे। इस मीटिंग में द्विपक्षीय संबंधों के अलावा रूस-यूक्रेन मसले पर भी बात होगी।

PM मोदी के 24 मई के कार्यक्रम

  • QUAD शिखर सम्मेलन में भाग लेंगे
  • जापान प्रधानमंत्री के आधिकारिक आवास जाएंगे
  • जापान के PM की ओर से आयोजित क्वाड लंच में शामिल होंगे
  • US राष्ट्रपति जो बाइडेन के साथ मीटिंग
  • ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री के साथ मीटिंग
  • जापान के पूर्व प्रधानमंत्री योशीहिदे सुगा के साथ मीटिंग
  • जापान-इंडिया एसोसिएशन के चेयरमैन के साथ मीटिंग
  • जापान के प्रधानमंत्री के साथ डिनर करेंगे
  • दिल्ली के लिए प्रस्थान करेंगे

चीन के खिलाफ अब इकोनॉमिक फ्रंट
जो बाइडेन ने हिंद-प्रशांत में अमेरिका को फिर बड़ी आर्थिक ताकत के तौर पर पेश करने के लिए नया इकोनॉमिक अलायंस बनाया है। इसका नाम इंडो पैसिफिक इकोनॉमिक फ्रेमवर्क यानी IPEF है। इसके 13 देश मेंबर हैं और सबसे अहम बात यह है कि यह संगठन सप्लाई चेन को मजबूती देने से लेकर क्लीन एनर्जी जैसे कई मुद्दों पर काम करेगा।

अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया, ब्रुनेई, भारत, इंडोनेशिया, जापान, साउथ कोरिया, मलेशिया, न्यूजीलैंड, फिलिपींस, सिंगापुर, थाईलैंड और वियतनाम इसके सदस्य हैं।