जब पूछा गया कि बॉलर को चुनने से पहले क्या सोचते हैं, तो धोनी ने किया कार और बाइक का जिक्र

चेन्नई अब तक दो बार (2010 और 2011) IPL का खिताब जीत चुकी है। वहीं हैदराबाद की टीम ने साल 2016 में ये खिताब जीता था।

dainikbhaskar.com| Last Modified - May 27, 2018, 09:47 AM IST

स्पोर्ट्स डेस्क. IPL 2018 का फाइनल आज (27 मई) शाम 7 बजे से मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में चेन्नई सुपर किंग्स और सनराइजर्स हैदराबाद के बीच खेला जाएगा। इस आईपीएल सीजन में दोनों टीमों के बीच तीन मैच हुए और तीनों को ही चेन्नई ने     जीता था। इसलिए फैक्ट के हिसाब से चेन्नई का पलड़ा भारी नजर आ रहा है। मैच से पहले शनिवार की शाम एक प्रेस कॉन्फ्रेंस हुई जिसमें दोनों टीमों के कप्तान मीडिया से रूबरू हुए और उनके सवालों के जवाब दिए। इसी दौरान जब धोनी से ये पूछा गया कि आप जब किसी बॉलर को बॉल देते हैं, तो आपके दिमाग में क्या चल रहा होता है। धोनी ने इस सवाल के जवाब काफी फनी अंदाज में शुरुआत करते हुए दिया। कर दिया कार और बाइक का जिक्र...

 

- धोनी ने इस सवाल का जवाब देते हुए कहा, 'मेरे घर में कई कार और बाइक्स का कलेक्शन हैं, लेकिन एक ही वक्त पर मैं सभी को नहीं चलाता। मैं सोचता हूं, ज्यादातर बार खासकर जब आपके पास 6 या 7 बॉलर्स होते हैं, आप कंडीशन देखना चाहेंगे, आप देखना चाहेंगे, कौन बैटिंग कर रहा है और उस वक्त की जरूरत क्या है। मैं हमेशा कहता रहा हूं कि, पहले जब CSK के पास एक ही वक्त पर नेगी और जडेजा थे, तो मैंने दोनों की मदद से बॉलिंग में वैराइटी दी। लेकिन थोड़ी सी गलत बात ये है कि ज्यादातर बार बैट्समैन जो भी करता है उसके लिए बॉलर की आलोचना होती है। लेकिन सच ये है कि अगर खास मौके पर मुझे किसी बॉलर से बॉल कराने की जरूरत नहीं है तो मैं उसे बॉल नहीं दूंगा।'
- 'टूर्नामेंट की शुरुआत के वक्त भावनाएं ज्यादा उफान पर थीं। लेकिन एक बार टूर्नामेंट शुरू होने के बाद आपको ज्यादा प्रोफेशनल बनना पड़ता है। मैं इस बात से निराश था कि हम अपनी टीम के घरेलू मैच चेन्नई में नहीं खेल सके, लेकिन मुझे इस बात की खुशी है कि कम से कम एक मैच तो वहां हुआ। हमारे फैंस इस पल का लंबे समय से इंतजार कर रहे थे।'
- धोनी ने कहा, 'टीम मेंबर्स की एज ग्रुप को देखते हुए उनकी फिटनेस हमारे लिए चिंता की बात रही, क्योंकि लगातार मैचों को देखते हुए उन्हें फिट बनाए रखना भी जरूरी था। ताकि जब टूर्नामेंट आखिरी स्टेज में पहुंचे तो आपके पास आपकी बेस्ट इलेवन टीम मौजूद हो। इसलिए आपको शुरू से अपने संसाधनों का चतुराई से इस्तेमाल करते हुए बड़ी प्लानिंग करना होती है।'
- कैप्टन कूल के मुताबिक 'इस फॉर्मेट में हर प्लेयर के लिए ये जरूरी है कि वो आगे आए और मैच को अपने दम पर जिताए। हां हम टीम के रूप में खेलना चाहते हैं, लेकिन ये हमेशा अच्छा रहता है कि जब कोई एक प्लेयर अपने दम पर मैच को सामने वाली टीम से दूर ले जाता है। ये दूसरों के लिए काम को बहुत आसान बना देता है।'
- जब धोनी से पूछा गया कि CSK टूर्नामेंट की सबसे सफल टीमों में से एक है। वो दो बार टूर्नामेंट जीत चुकी है और चार बार रनर अप रही है, साथ ही 2008 से 2015 के बीच हुए सभी आठ सीजन में प्ले ऑफ खेली है। ये सब देखकर आपको क्या लगता है?
- इस सवाल के जवाब में धोनी ने कहा, 'अनुभव मायने रखता है, लेकिन ये जरूरी नहीं कि ये हमेशा काम ही आए। ये वो नहीं है जिसे आप बदल सकें। किसी भी चीज की अति बुरी होती है। इसलिए संतुलन बनाए रखना जरूरी है। हमने अबतक अच्छा ही किया है, लेकिन ये ऐसा है जो हमें कभी भी दुखी कर सकता है।'

Topics:
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: THE LIONS BEAT THE ORANGE ARMY ON ALL THREE OCCASIONS THIS IPL SEASON
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Trending Now

Live Hindi News