रवींद्र जडेजा के पिता थे सिक्यूरिटी गार्ड, करोड़पति ससुर ने दी थी एक करोड़ की कार

साल 2005 में एक एक्सीडेंट में जडेजा की मां का निधन हो गया। इससे जडेजा इतने टूट गए कि क्रिकेट छोड़ने का मन बना लिया था।

dainikbhaskar.com| Last Modified - May 22, 2018, 11:10 PM IST

स्पोर्ट्स डेस्क. इंडियन क्रिकेटर और IPL में चेन्नई सुपर किंग्स टीम से खेल रहे रवीन्द्र जडेजा फिलहाल अपनी वाइफ रीवाबा की वजह से सुर्खियों में हैं। उनकी वाइफ के साथ सोमवार को गुजरात के जामनगर में एक पुलिस कॉन्स्टेबल ने मारपीट की। रीवाबा की बीएमडब्लू कार आरोपी पुलिसकर्मी की बाइक से टकरा गई थी। रिवाबा का आरोप है कि पुलिसकर्मी ने उन्हें बाल पकड़कर खींचा और सिर कार से टकरा दिया। बता दें कि रवींद्र और रीवाबा की शादी अप्रैल 2016 में हुई थी। इस कपल के फैमिली बैकग्राउंड में काफी ज्यादा फर्क रहा है, रीवाबा जहां अमीर घर से हैं, वहीं रवींद्र के पिता एक सिक्यूरिटी गार्ड का जॉब किया करते थे। कांग्रेस नेता की भतीजी है रीवाबा...

- जडेजा की वाइफ रीवाबा राजकोट की रहने वाली हैं और उन्होंने मैकेनिकल इंजीनियरिंग की पढ़ाई की है। शादी के समय वे UPSC की तैयारी कर रही थीं।
- रीवाबा के चाचा हरिसिंह सोलंकी गुजरात कांग्रेस के लीडर हैं। वे राजकोट शहर कांग्रेस कमेटी के महामंत्री भी रहे।
- रीवाबा अपने पैरेंट्स की इकलौती बेटी हैं। उनके पिता हरदेव सिंह सोलंकी हैं जो एक बिजनेसमैन हैं। वहीं उनकी मां प्रफुल्लबा राजकोट रेलवे में काम करती हैं। उनका परिवार राजकोट के कालावड रोड स्थित सरिता विहार सोसाइटी में रहता है।
- रवींद्र और रीवाबा की रिंग सेरेमनी 5 फरवरी 2016 को राजकोट के कलावाद मार्ग स्थित ‘जड्डूज फूड फील्ड’ रेस्टोरेंट में हुई थी। जिसके ओनर रवींद्र जडेजा खुद हैं।

 

क्रिकेटर के पिता रहे सिक्यूरिटी गार्ड, मां थी नर्स

 

- रवींद्र जडेजा का जन्म गुजरात की एक छोटी सी जगह नवागाम में हुआ। उनके पिता एक प्राइवेट कंपनी में सिक्युरिटी गार्ड थे, जबकि मां नर्स थीं।
- आर्थिक स्थिति ठीक नहीं होने के कारण जडेजा और उनकी फैमिली के लिए क्रिकेटर बनने तक का सफर आसान नहीं रहा।
- जडेजा की मां चाहती थीं कि बेटा क्रिकेटर बने। जबकि, पिता उन्हें सेना में भेजना चाहते थे। जडेजा भी मां का सपना पूरा करने के लिए कड़ी मेहनत कर रहे थे।

मां की मौत के बाद छोड़ना चाहते थे क्रिकेट

 

- जडेजा के जीवन में एक ऐसा दौर भी आया था जब उन्होंने क्रिकेट छोड़ने का फैसला कर लिया था। 2005 में एक दुर्घटना में जडेजा की मां की मौत हो गई थी। 
- मां की मौत से जडेजा को बहुत सदमा लगा था। जिसके बाद उन्होंने क्रिकेट छोड़ने तक का फैसला कर लिया था। हालांकि बहन और बाकी घर वालों के समझाने पर जडेजा ने क्रिकेट छोड़ने का अपना फैसला बदल लिया। 
- जडेजा की 2 बहने हैं। एक उनका रेस्टोरेंट का बिजनेस संभालती हैं। उनकी बड़ी बहन नैना नर्स हैं और उन्होंने भाई के सपने को पूरा करने में उनका पूरा सपोर्ट किया।

अप्रैल 2016 में हुई शादी

 

- जडेजा-रीवाबा की शादी धूमधाम से राजकोट के सीजंस होटल में 17 अप्रैल 2016 को हुई थी।
- शादी की रस्मों से लेकर रिसेप्शन तक, ये वेडिंग करीब चार दिन तक चली थी।
- 15 अप्रैल को रीवाबा की मेहंदी की रस्म हुई। इसी दिन जडेजा को भी पहले हल्दी और फिर मेहंदी लगाई गई थी।
- अगले दिन यानी 16 अप्रैल को म्यूजिक नाइट का आयोजन हुआ, जिसमें जडेजा और रीवाबा ने डांस भी किया था।
- 17 अप्रैल को जडेजा-रीवाबा की वेडिंग हुई थी और इसी दिन शाम को जडेजा की फैमिली ने रिसेप्शन दिया।

अफेयर किसी और से, शादी किसी और से...

 

- रवींद्र जडेजा ने शादी भले ही रीवाबा से की हो, लेकिन वो उनका पहला प्यार नहीं था।
- मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक शादी से पहले रवींद्र जडेजा का अफेयर चेतना झा नाम की लड़की के साथ था। ये दोनों साल 2013 में जयपुर में स्पॉट हुए थे।
- पेशे से फैशन डिजाइनर चेतना और जडेजा के कई फोटोज उस दौरान सोशल मीडिया पर वायरल रहे। यहां तक कि IPL के दौरान एक बार चेतना, जडेजा के साथ टीम की बस में भी नजर आईं थीं।
- हालांकि करीब 3 साल तक चले रिलेशन के बाद दोनों का ब्रेकअप हो गया और जडेजा ने रीवाबा से शादी कर ली।

जून 2017 में बने बेटी के पिता

 

- जून 2017 में इंग्लैंड में हुई चैम्पियंस ट्रॉफी के दौरान जडेजा के घर खुशखबरी आई। उनकी वाइफ रीवाबा ने राजकोट में बेटी को जन्म दिया।
- इस कपल ने अपनी बेटी का नाम निध्याना रखा है।

रखते हैं दो ऑडी कार

 

- एक वक्त पर गरीबी का सामना कर चुके रवींद्र जडेजा आज दो-दो ऑडी कार रखते हैं।
- जडेजा के कार कलेक्शन में दो ऑडी कार हैं। 2016 में उन्हें उनके ससुर ने ऑडी Q 7 गिफ्ट की थी। इसकी कीमत करीब 97 लाख रुपए है।
- इससे पहले से जडेजा के पास ऑडी Q 3 कार थी। कार के अलावा उन्हें घोड़ों का भी शौक है। जडेजा के फॉर्म हाउस में कई शानदार घोड़े हैं।

ऐसा शुरू हुआ क्रिकेट करियर

 

- जडेजा को 2002 में पहली बार सौराष्ट्र की अंडर-14 टीम में खेलने का मौका मिला। महाराष्ट्र के खिलाफ पहले ही मैच में उन्होंने 87 रन बनाए और 4 विकेट भी झटक लिए। 15 साल की उम्र में ही वो सौराष्ट्र की अंडर-19 टीम में आ गए थे। इसी फॉर्मेट में उन्होंने अपने करियर की पहली सेन्चुरी भी लगाई थी।

विराट के साथ खेला वर्ल्ड कप

 

- दिसंबर, 2005 में उन्होंने कई अच्छी परफॉर्मेंस के बाद वर्ल्ड कप अंडर-19 टीम में जगह बना ली। यहां जडेजा ने पहले ऑस्ट्रेलिया (चार विकेट) और फिर पाकिस्तान (तीन विकेट) के खिलाफ जबरदस्त परफॉर्मेंस दी।
- 2008 में भी जडेजा अंडर-19 वर्ल्ड कप टीम के मेंबर थे, जिसके कप्तान विराट कोहली थे। ये टीम वर्ल्ड कप चैम्पियन रही थी। टूर्नामेंट में जडेजा ने 10 विकेट लिए थे।
- फरवरी, 2009 में उन्हें टीम इंडिया के लिए वनडे और फिर टी20 खेलने का मौका मिला। जडेजा ने 2012 में टेस्ट डेब्यू किया।

विराट के साथ खेला वर्ल्ड कप

 

- दिसंबर, 2005 में उन्होंने कई अच्छी परफॉर्मेंस के बाद वर्ल्ड कप अंडर-19 टीम में जगह बना ली। यहां जडेजा ने पहले ऑस्ट्रेलिया (चार विकेट) और फिर पाकिस्तान (तीन विकेट) के खिलाफ जबरदस्त परफॉर्मेंस दी।
- 2008 में भी जडेजा अंडर-19 वर्ल्ड कप टीम के मेंबर थे, जिसके कप्तान विराट कोहली थे। ये टीम वर्ल्ड कप चैम्पियन रही थी। टूर्नामेंट में जडेजा ने 10 विकेट लिए थे।
- फरवरी, 2009 में उन्हें टीम इंडिया के लिए वनडे और फिर टी20 खेलने का मौका मिला। जडेजा ने 2012 में टेस्ट डेब्यू किया।

Topics:
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: AHEAD OF THE MUCH AWAITED WEDDING THE INDIAN CRICKETER RECEIVED A GIFT FROM HIS IN-LAWS AN AUDI Q7
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Trending Now

Live Hindi News