जम्मू-कश्मीर के मल्टीप्लेक्सों में बाहर से खाने की चीजें ले जाने के फैसले पर सुप्रीम कोर्ट की रोक

DainikBhaskar.com | Aug 10,2018 20:13 PM IST

सुप्रीम कोर्ट ने जम्मू-कश्मीर हाईकोर्ट के उस फैसले पर रोक लगाई है, जिसमें उसने मल्टीप्लेक्सों में खाने-पीने की चीजें लेकर जाने की इजाजत दी थी। पिछले महीने हाईकोर्ट ने कहा था कि सिनेमाघर और मल्टीप्लेक्सों के मालिक दर्शकों को खाने की चीजें अंदर से खरीदने के लिए मजबूर नहीं कर सकते, न ही उन्हें मॉल या मल्टीप्लेक्स में खाने की चीजें ले जाने से रोका जा सकता है। संविधान के अनुच्छेद 21 के तहत लोगों को मनपसंद खाने और अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखने का अधिकार है।

जम्मू-कश्मीर: बारामूला में सुरक्षाबलों से मुठभेड़ में 5 आतंकी ढेर, ग्रेनेड के साथ एक गिरफ्तार

DainikBhaskar.com | Aug 09,2018 17:54 PM IST

श्रीनगर. जम्मू कश्मीर के बारामूला जिले के वीगे टॉप रफियाबाद इलाके में बुधवार शाम सुरक्षाबलों ने 5 आतंकियों को मार गिराया। कुछ और आतंकियों के छिपे होने की आशंका थी, जिसके बाद इलाके में सर्च ऑपरेशन चलाया गया। सेना को सुबह आतंकियों के छिपे होने की सूचना मिली थी। जिसके बाद जवानों ने आतंकियों की घेराबंदी कर ली। इसी दौरान सेना ने बारामूला-उड़ी रोड पर स्थित शीरी इलाके में एक आदमी को ग्रेनेड के साथ पकड़ा। पुलिस ने बताया कि इस व्यक्ति का संबंध आतंकी संगठन अंसर गजवातुल हिंद के साथ है।

जम्मू: फारूक अब्दुल्ला के घर पर हमला, एसयूवी लेकर घुसे व्यक्ति ने तोड़फोड़ की; सुरक्षाबलों ने मार गिराया

DainikBhaskar.com | Aug 04,2018 13:39 PM IST

जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारूख अब्दुल्ला के घर में शनिवार को कार लेकर जबरन घुस रहे एक व्यक्ति को सुरक्षा बलों ने मार गिराया। पुलिस के मुताबिक, संदिग्ध मेन गेट से घुसने में कामयाब रहा और अंदर जाने की कोशिश में था। तभी उसे रोक दिया गया। इस दौरान उसकी सुरक्षा बलों से हाथापाई भी हुई। इस झड़प में ड्यूटी ऑफिसर को चोट आई है।

भारत ने कश्मीर में आतंकवाद की कमर तोड़ी, अब 2 साल से ज्यादा जिंदा नहीं रह पाते आतंकी: न्यूयॉर्क टाइम्स

DainikBhaskar.com | Aug 03,2018 19:21 PM IST

कश्मीर में आतंकी घटनाएं कम हुई हैं और आतंकी संगठन भी घट गए। इसकी वजह पाकिस्तान से कोई मदद नहीं मिलना बताया जा रहा है। सुरक्षा अधिकारियों की मानें तो कश्मीर घाटी में अब 250 आतंकी ही बचे हैं, जो 20 साल पहले 1000 से भी ज्यादा थे। हालांकि, उन्हें पूरी तरह बाहर निकालना आसान नहीं है। यह दावा अमेरिका के प्रमुख अखबार न्यूयॉर्क टाइम्स ने किया। इसमें कहा गया कि पाकिस्तान में हुए राजनीतिक बदलाव का असर कश्मीर पर जरूर पड़ेगा। यहां लड़ाई छोटी जरूर होगी, लेकिन खून-खराबा बढ़ने का अंदेशा है।