पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Jeevan mantra
  • Dharm
  • Aaj Ka Jeevan Mantra By Pandit Vijayshankar Mehta, Makar Sankranti 2021, Life Management Tips By Mahabharata, Bhishma Niti About Food

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

आज का जीवन मंत्र:दूसरे का अन्न खा रहे हैं तो ध्यान रखें कि वो गलत कमाई से न आया हो, वरना मन पर बुरा असर होता है

5 दिन पहलेलेखक: पं. विजयशंकर मेहता
  • कॉपी लिंक

कहानी- आज मकर संक्रांति है और सूर्य भी उत्तरायण हो रहा है। द्वापर युग में भीष्म पितामह को इच्छा मृत्यु का वरदान मिला हुआ था इसीलिए वे मृत्यु के लिए सूर्य के उत्तरायण होने की प्रतीक्षा कर रहे थे।

महाभारत का युद्ध खत्म हो गया था और पांडवों की जीत हुई। तब एक दिन श्रीकृष्ण सभी पांडवों और द्रोपदी को लेकर भीष्म पितामह से मिलने पहुंचे। श्रीकृष्ण ने कहा, ‘आप राजधर्म के जानकार हैं, कृपया पांडवों को राजधर्म क्या है, ये बता दीजिए, ताकि भविष्य में ये ज्ञान इनके काम आ सके।’

भीष्म ने राजधर्म पर बोलना शुरू किया। वे बहुत अच्छा बोल रहे थे। उस समय बीच में ही द्रोपदी ने उन्हें रोका और पूछा, ‘पितामह आज आप राजधर्म पर इतना अच्छा ज्ञान दे रहे हैं। लेकिन, ये ज्ञान उस दिन कहां गया था, जब भरे दरबार में दुर्योधन के कहने पर दु:शासन मेरा चीरहरण कर रहा था। मुझे अपशब्द कहे जा रहे थे। मैं मदद के लिए सभी के सामने गिड़गिड़ाई थी, खासतौर पर आपके सामने। लेकिन, तब आपने सिर झुका लिया था। जब राजधर्म उस समय नहीं बोला तो आज कैसे बोल रहा है?’

भीष्म पितामह बोले, ‘तुम ठीक कह रही हो। उस समय मैं दुर्योधन का दिया अन्न खाता था। मैंने प्रतिज्ञा ले रखी थी कि जो भी हस्तिनापुर की राजगद्दी पर बैठेगा, मेरी निष्ठा उसी के प्रति रहेगी। दुर्योधन पाप कर्म करके धन कमाता था और उसी का दिया खाना मैं खाता था। न चाहते हुए भी उस दूषित अन्न ने मेरी सोचने-समझने की शक्ति खत्म कर दी थी। इसी वजह से मैं उस दिन तुम्हारी मदद नहीं कर सका। इसीलिए मैं कहता हूं कि अन्न अच्छे लोगों का और अच्छे लोगों के हाथ से दिया हुआ ही खाना चाहिए।'

भीष्म ने कहा कि जब युद्ध में अर्जुन ने मुझे तीर मारे तो दुर्योधन के खाने से बना सारा दूषित खून बह गया और अब मेरे राजधर्म को सही दिशा मिल गई है।

सीख - गलत तरीके से कमाए गए धन से मिला अन्न सोचने-समझने की शक्ति खत्म कर देता है। जब भी किसी दूसरे व्यक्ति के यहां खाना खाएं तो ये बात जरूर ध्यान रखें कि वह व्यक्ति गलत काम न करता हो।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज का अधिकतर समय परिवार के साथ आराम तथा मनोरंजन में व्यतीत होगा और काफी समस्याएं हल होने से घर का माहौल पॉजिटिव रहेगा। व्यक्तिगत तथा व्यवसायिक संबंधी कुछ महत्वपूर्ण योजनाएं भी बनेगी। आर्थिक द...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser