पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Jeevan mantra
  • Dharm
  • Aaj Ka Jeevan Mantra By Pandit Vijayshankar Mehta, Motivational Story Of Lord Krishna And Arjun, Significance Of Positive Thinking

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

आज का जीवन मंत्र:अच्छे दिनों में घमंड न करें और बुरे समय में निराशा से बचें

एक महीने पहलेलेखक: पं. विजयशंकर मेहता
  • कॉपी लिंक

कहानी - महाभारत में भगवान श्रीकृष्ण अर्जुन को हमेशा कुछ न कुछ ज्ञान की बातें बताते रहते थे। कभी-कभी श्रीकृष्ण थोड़े शब्दों में ही बड़ी बात कह देते थे। ऐसे में अर्जुन उनसे कहते थे कि कृपया ये बात विस्तार से भी समझाएं।

कुरुक्षेत्र में कौरव और पांडव का युद्ध चल रहा था। हनुमानजी अर्जुन के रथ के ऊपर लगी ध्वजा पर बैठे हुए थे। रथ के घोड़े की डोर श्रीकृष्ण के हाथ में थी। दो समर्थ शक्तियां अर्जुन के साथ थीं। सामने भीष्म पितामह थे। भीष्म ने एक शक्तिशाली बाण अर्जुन के रथ की ओर छोड़ा। बाण का प्रहार बहुत तेज था, लेकिन रथ थोड़ा सा भी हिला नहीं। प्रहार इतना भीषण था कि रथ को डगमगाना था, पीछे चले जाना था, लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ।

अर्जुन ने मुस्कान के साथ भगवान से कहा, ‘देखा आपने, भीष्म जैसे योद्धा भी मेरे रथ को हिला नहीं सके। देखिए नीचे, पहिए वहीं के वहीं हैं।’

श्रीकृष्ण ने कहा, ‘तुम नीचे देख रहे हो। मैं तुमसे कहता हूं ऊपर देखो। तुम्हारे रथ की ध्वजा पर हनुमान बैठे हैं। तुमने सिर्फ नीचे देखा और निर्णय ले लिया कि तुम बलशाली हो, भीष्म कमजोर हैं। ऊपर देखोगे तो तुम्हें मालूम हो जाएगा, इसका कारण क्या है?’

सीख - श्रीकृष्ण ने इसके जरिये हमें ये समझाया कि जीवन में नीचे और ऊपर समान रूप से देखना चाहिए। जब कभी बुरा समय आए तो हमें आगे वाले लोगों से प्रेरणा लेनी चाहिए। अगर हम सफल लोगों की बराबरी न कर सके तो भी निराश नहीं होना चाहिए। ध्यान रखें, हमसे पीछे भी काफी लोग हैं। जीवन में सफलता और असफलता के बीच संतुलन बनाए रखना चाहिए। जो मिल गया, उसका घमंड न करें और जो नहीं मिला, उसकी वजह से दुखी नहीं होना चाहिए।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- समय चुनौतीपूर्ण है। परंतु फिर भी आप अपनी योग्यता और मेहनत द्वारा हर परिस्थिति का सामना करने में सक्षम रहेंगे। लोग आपके कार्यों की सराहना करेंगे। भविष्य संबंधी योजनाओं को लेकर भी परिवार के साथ...

और पढ़ें