• Hindi News
  • Jeevan mantra
  • Dharm
  • Aghan Month Will End On December 8: 6 Days Of Fasting In Shukla Paksha Of This Month, Including Special Dates Like Shri Ram Sita Marriage And Geeta Jayanti

8 दिसंबर को खत्म होगा अगहन मास:इस महीने के शुक्ल पक्ष में व्रत-पर्व वाले 6 दिन, इनमें श्रीराम-सीता विवाह और गीता जयंती जैसी खास तिथियां

13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

अगहन महीने का शुक्ल पक्ष 24 नवंबर, गुरुवार से शुरू हो रहा है। जो कि 8 दिसंबर तक रहेगा। तिथियों की घट-बढ़ नहीं होने से ये पखवाड़ा पूरे 15 दिनों का ही रहेगा। मार्गशीर्ष के शुक्ल पक्ष में तीज-त्योहारों के 6 दिन रहेंगे।

श्रीकृष्ण का प्रिय महीना
मार्गशीर्ष यानी अगहन महीना पवित्र माना जाता है। ये श्रीकृष्ण को बहुत प्रिय है। शास्त्रों में इसे श्रीकृष्ण का स्वरूप कहा गया है। हिंदू पंचांग के मुताबिक मार्गशीर्ष की शुक्ल पक्ष की एकादशी को भगवान श्रीकृष्ण ने कुरुक्षेत्र के मैदान में धनुर्धारी अर्जुन को गीता का उपदेश सुनाया था।

गीता के एक श्लोक में श्रीकृष्ण मार्गशीर्ष मास की महिमा बताते हुए कहते हैं कि गायन करने योग्य श्रुतियों में मैं बृहत्साम, छंदों में गायत्री और मास में मार्गशीर्ष और ऋतुओं में बसंत हूं। शास्त्रों में मार्गशीर्ष का महत्व बताते हुए कहा गया है कि हिन्दू पंचांग के इस पवित्र मास में गंगा, यमुना जैसी पवित्र नदियों में स्नान करने से रोग, दोष और परेशानियों से मुक्ति मिलती है।

अगहन महीने के शुक्लपक्ष में आने वाले तीज-त्योहार...

28 नवंबर, सोमवार: इस दिन विवाह पंचमी है। त्रेतायुग में इसी तिथि पर श्रीराम और सीता का विवाह हुआ था। इस दिन श्रीराम और सीता की विशेष पूजा करें। रामायण का पाठ करें।

29 नवंबर, मंगलवार: इस दिन चंपा षष्ठी व्रत रहेगा। इसमें भगवान शिव और कार्तिकेय की पूजा की जाती है। स्कंद पुराण के मुताबिक इस दिन कार्तिकेय पूजा से परेशानियां दूर होती हैं।

3 दिसंबर, शनिवार: इस दिन मोक्षदा एकादशी है। इस दिन व्रत के साथ श्रीकृष्ण और भगवान विष्णु की विशेष पूजा की जाती है। साथ ही इस दिन गीता जयंती पर्व भी मनाया जाता है। इस पर्व पर नदी में स्नान करने और दान-पुण्य करने की परंपरा है।

5 दिसंबर, सोमवार: ये साल का आखिरी सोम प्रदोष है। सोमवार को त्रयोदशी का संयोग होने से इस दिन भगवान शिव-पार्वती की विशेष पूजा से सुख और समृद्धि बढ़ती है। ये व्रत सभी दोष दूर करता है।

7 दिसंबर, बुधवार: इस दिन दत्तात्रेय जयंती है। इस तिथि पर ऋषि अत्रि और सति अनसूया के बेटे दत्तात्रेय का जन्म हुआ था। त्रिदेवों का अंश होने से शैव और वैष्णव दोनों ही भगवान दत्तात्रेय की पूजा करते हैं।

8 दिसंबर, गुरुवार: इस दिन मार्गशीर्ष महीने की पूर्णिमा तिथि है। ये इस हिंदी महीने का आखिरी दिन रहेगा। अगहन महीने के इस पूर्णिमा पर्व पर स्नान-दान और पूजा-पाठ करने की परंपरा है।

खबरें और भी हैं...