• Hindi News
  • Jeevan mantra
  • Dharm
  • Beliefs And Traditions Donating Water During Nautapa Increases Virtue, Feeding Food To Needy People End Problems

मान्यताएं और परंपरा:नौतपा के दौरान जल दान करने से बढ़ता है पुण्य, जरुरतमंद लोगों को खाना खिलाने से खत्म होती हैं परेशानियां

एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

नौतपा 25 मई से शुरू होने वाला है। ऐसे में धरती पर सूर्य की किरणें ज्यादा समय तक रहेगी। जिससे और गर्मी बढ़ेगी। इससे उमस और तीखी गर्मी दोनों रहेंगी। जिससे आने वाले 9 दिन सबसे ज्यादा तपिश वाले होते हैं। इन्हें नौतपा कहा जाता है। इन दिनों में कुछ महत्वपूर्ण चीजों का दान करना चाहिए। धर्म ग्रंथों में इन दिनों किए जाने वाले दान का महत्व बताया गया है।

गरुड़, पद्म और स्कंद पुराण के साथ ही मान्यता और परंपराओं के अनुसार इन दिनों में कई चीजें दान करना शुभ माना गया है। नौतपा में दान करने से कई गुना फल की प्राप्ति होती है। क्योंकि ये ज्येष्ठ महीने के शुक्ल पक्ष के दौरान पड़ता है। नौतपा में दिए गए दान से अनजाने में किए गए पाप खत्म हो जाते हैं और पुण्य मिलता है।

इन चीजों का करें दान...

1. नौतपा में शीतल यानी ठंडक देने वाली चीजें दान करने से पुण्य की प्राप्ति होती है। सुबह पूजा और दान का संकल्प करने के बाद सत्तू, पानी का घड़ा, पंखा या धूप से निजात दिलाने के लिए छाता भी दान कर सकते हैं। आटे से भगवान ब्रह्मा की मूर्ति बनाकर पूजा करने का भी विधान बताया गया है। इस अवधि में जरूरतमंद लोगों को ठंडी चीजें दान करने से ब्रह्माजी प्रसन्न होते हैं।

2. धार्मिक मान्यताओं के अनुसार नौतपा में जल का दान करना शुभ होता है। इन दिनों में गर्मी बढ़ जाती है। जिस वजह से पानी की प्यास भी ज्यादा लगती है। इन दिनों जरूरतमंद लोगों को पानी पिलाना चाहिए। आपसे कोई पानी मांगे तो उसको पानी जरूर पिलाएं।

3. ज्येष्ठ महीने के दौरान नौतपा के आने से इस दौरान दान का महत्व और ज्यादा बढ़ जाता है। इन दिनों में आम, नारियल, गंगाजल, पानी से भरा मिट्‌टी का मटका, सफेद कपड़े और छाता दान करना चाहिए।

4. नौतपा में गर्मी के बढ़ जाने से शरीर में पानी की कमी का खतरा भी रहता है। इन दिनों ठंडक देनी वाली चीजों जैसे दही, नारियल का भी दान जरूरतमंद लोगों को करना चाहिए। इससे भी पुण्य की प्राप्ति होती है।

खबरें और भी हैं...