पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

उत्सव:देवी दुर्गा को लाल चुनरी और लाल फूल चढ़ाएं, दीपक जलाकर करें मंत्रों का जाप, अधार्मिक कामों से बचें

एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • 13 से 21 अप्रैल तक चैत्र नवरात्रि, किसी ब्राह्मण की मदद से भी करवा सकते हैं मंत्रों का जाप

आज मंगलवार, 13 अप्रैल से चैत्र मास की नवरात्रि शुरू हो गई है। दुर्गा पूजा का ये पर्व बुधवार, 21 अप्रैल तक चलेगा। इन दिनों में दुर्गा सप्तशती का और देवी के मंत्रों का जाप करने का विशेष महत्व है। मंत्र जाप सही विधि से, भक्ति और एकाग्रता के साथ किया जाए तो बहुत जल्दी सकारात्मक फल मिल सकते हैं। ध्यान रखें कि मंत्र जाप करते समय उच्चारण में गलती नहीं होनी चाहिए। जाप करने वाले व्यक्ति को साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखना चाहिए। अधार्मिक काम जैसे चोरी करना, झूठ बोलना, माता-पिता का अनादर करना, महिलाओं का अपमान करना, लालच, नशा आदि बुराइयों से बचें।

उज्जैन के ज्योतिषाचार्य पं. मनीष शर्मा ने बताया कि अगर हमें मंत्र जाप करने दिक्कत आ रही है या हम मंत्रों का उच्चारण सही ढंग से नहीं कर पा रहे हैं तो इन मंत्रों का जाप किसी ब्राह्मण की मदद से भी करवा सकते हैं। देवी दुर्गा को लाल चुनरी और लाल फूल जरूर चढ़ाएं।

मंत्र जाप की सरल विधि

चैत्र नवरात्रि में रोज सुबह जल्दी उठें। स्नान आदि कर्मों के बाद घर के मंदिर में सबसे पहले गणेशजी की और फिर माता दुर्गा की पूजा करें। पूजा में देवी मां की प्रतिमा का अभिषेक करें, वस्त्र अर्पित करें। फूल चढ़ाएं। धूप-दीप जलाकर आरती करें। इसके बाद आसन पर बैठकर मंत्रों का जाप करें।

मंत्र जाप के लिए लाल चंदन के मोतियों की माला या रुद्राक्ष की या स्फटिक की माला का उपयोग कर सकते हैं। मंत्र जाप की संख्या कम से कम 108 होनी चाहिए।

ये हैं देवी मां के कुछ खास मंत्र

  • ऊं ह्रीं दुं दुर्गायै नम:
  • सर्वमंगल मांगल्ये शिवे सवार्थ साधिके। शरंयेत्र्यंबके गौरी नारायणी नमोस्तुते।।
  • ऊँ जयंती मंगला काली भद्रकाली कपालिनी। दुर्गा क्षमा शिवा धात्री स्वाहा स्वधा नमोऽस्तुते।।
  • ऊँ ऐं ह्रीं क्लीं चामुण्डायै विच्चै।

मंत्र जाप करने वाले भक्त ये बातें जरूर ध्यान रखें

इन मंत्रों का जाप सही उच्चारण के साथ ही करें। मंत्र जाप के उच्चारण में गलती होने पर जाप का फल नहीं मिलता है, पूजा निष्फल हो सकती है।

रोज सुबह जल्दी उठें और स्नान आदि कामों के बाद घर के मंदिर में या किसी अन्य देवी मंदिर में मंत्र जाप करें। गलत कामों से बचें। मंत्र जाप करने वाले व्यक्ति को पूरी तरह धर्म के अनुसार काम करना चाहिए।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- समय चुनौतीपूर्ण है। परंतु फिर भी आप अपनी योग्यता और मेहनत द्वारा हर परिस्थिति का सामना करने में सक्षम रहेंगे। लोग आपके कार्यों की सराहना करेंगे। भविष्य संबंधी योजनाओं को लेकर भी परिवार के साथ...

और पढ़ें