• Hindi News
  • Jeevan mantra
  • Dharm
  • Days Of Fast And Festival: Mauni Amavasya Today, Gupta Navratri Tomorrow, And Basant Panchami Festival Will Be Celebrated On January 26.

व्रत-उत्सव के दिन:मौनी अमावस्या आज, कल से गुप्त नवरात्र और 26 जनवरी को मनेगा बसंत पंचमी पर्व; ये शादी के लिए अबूझ मुहूर्त भी

14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • व्रत-उत्सव के दिन: मौनी अमावस्या आज, कल से गुप्त नवरात्र और 26 जनवरी को मनेगा बसंत पंचमी पर्व इस दिन शादी के लिए अबूझ मुहूर्त भी

माघ महीने में खास मानी गई मौनी अमावस्या 21 जनवरी यानी आज है। वहीं, अगले ही दिन 22 जनवरी से गुप्त नवरात्र शुरू होंगे। देवी आराधना के इस उत्सव में बसंत पंचमी पर 26 जनवरी को रहेगी। लोक परंपराओं के मुताबिक ये शादियों के लिए अबूझ मुहूर्त होता है। इसलिए इस दिन बहुत शादियां रहेंगी।

इन पर्व उत्सवों के दौरान देवगुरु बृहस्पति अपनी राशि में होंगे और शुक अपनी मित्र राशियों में रहेगा। इस साल ये दोनों ही ग्रह अस्त नहीं हैं। जिससे शुभ कामों के मुहूर्त में रुकावट नहीं होगी।

सर्वार्थसिद्धि और रवियोग में खरीदारी शुभ
पुरी के ज्योतिषाचार्य डॉ. गणेश मिश्र का कहना है कि गुप्त नवरात्र के दौरान 23 तारीख को व्हीकल खरीदी का विशेष मुहूर्त है। वहीं, 24, 25, 26, 27, 30 जनवरी को रवियोग रहेगा। वहीं, इन दिनों में 26 और 27 को सर्वार्थसिद्धि योग के साथ प्रॉपर्टी और व्हीकल खरीदारी का विशेष मुहूर्त भी रहेगा। इस तरह इन दिनों ज्वैलरी, वाहन, भूमि और भवन आदि की खरीद-फरोख्त करना फायदेमंद होगा।

स्नान-दान के लिए खास है मौनी अमावस्या
माघ महीने में खास मानी गई मौनी अमावस्या 21 जनवरी को है। माघी अमावस्या को मौनी अमावस्या भी कहते हैं। ये सूर्योदय के पहले से ही शुरू हो जाएगी। जो कि रविवार को सूरज उगने से पहले खत्म भी हो जाएगी।

इस दिन मनु ऋषि का जन्म दिवस भी मनाया जाता है। ऋषियों और पितरों के निमित्त की गई पूजा, जलार्पण व दान करने के लिए यह दिवस उत्तम फलदायी होता है। इस दिन पवित्र नदियों में स्नान करने की भी परंपरा है।

पूरे नौ दिन के रहेंगे गुप्त नवरात्र
22 जनवरी से माघ के गुप्त नवरात्र शुरू होंगे। खास बात ये है कि इस बार तिथियों की घट-बढ़ नहीं रहेगी। जिससे नवरात्र पूरे नौ दिनों के ही रहेंगे। इसे अखंड नवरात्रि भी कहते हैं। पंडितों का मत है कि ये शुभ संयोग है, जो मंगलकारी रहेगा। इन योगों में की गई पूजा, दान-पुण्य और खरीद-फरोख्त विशेष फलदायी व समृद्धिकारक रहेगी।

खबरें और भी हैं...