खगोलीय घटना:मंगलवार को सूर्य दिखाई देगा लगभग 12 घंटे, दिन और रात होंगे बराबर

एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

मंगलवार, 28 अक्टूबर का दिन खगोल विज्ञान की दृष्टि से बहुत खास रहेगा। इस दिन सूर्य लगभग 12 घंटे दिखाई देगा यानी दिन और रात लगभग बराबर 12-12 घंटे के रहेंगे। भोपाल की खगोलविद् सारिका घारू के मुताबिक आमतौर पर 20 मार्च और 23 सितंबर को इक्वीनॉक्स वाले दिन माने जाते हैं।

इक्वीनॉक्स का खगोलिय महत्व यह है कि इस दिन सूरज ठीक पूर्व दिशा में उदय होता है और ठीक पश्चिम दिशा में अस्त होता है। दिन और रात बराबर होने की घटना इन तारीखों से कुछ दिन पहले या कुछ दिन बाद होती है।

मंगलवार को 24 घंटे में से सूर्य करीब 12 घंटे दिखेगा और बाकी 12 घंटे में वीनस, जूपिटर, मून और अन्य तारे अलग-अलग समय में दिखाई देंगे।

दिन-रात का समय अलग-अलग क्यों होता है?

पृथ्वी अपने अक्ष पर साढ़े तेईस अंश झुकी हुई है और सूर्य की परिक्रमा करने के कारण पृथ्वी के अलग-अलग भागों पर सूर्य की किरणों का एंगल साल में हर दिन अलग-अलग होता है। इससे दिन की अवधि बढ़ती या घटती रहती है। मंगलवार के बाद दिन छोटे और रात बड़ी होने लगेगी।