पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Jeevan mantra
  • Dharm
  • Friday And Chaturthi Yoga On 30th April, Worship Mahalakshmi With Ganesha, Ganesh Chaturthi Special, Ganesh Puja Vidhi

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

व्रत:शुक्रवार और चतुर्थी का योग 30 अप्रैल को, गणेशजी के साथ करें महालक्ष्मी का पूजन

15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • घर में सुख-शांति बनाए रखने की कामना से किया जाता है चतुर्थी व्रत

शुक्रवार, 30 अप्रैल को वैशाख मास के कृष्ण पक्ष की गणेश चतुर्थी है। इस दिन गणेशजी के लिए व्रत और पूजा करने की परंपरा है। इस बार शुक्रवार को चतुर्थी होने से गणेशजी के साथ ही महालक्ष्मी की भी विशेष पूजा जरूर करें। चतुर्थी गणेशजी की तिथि है। इस तिथि पर घर में सुख-शांति बनाए रखने की कामना से गणेश पूजन और व्रत किया जाता है।

उज्जैन के ज्योतिषाचार्य पं. मनीष शर्मा के अनुसार जानिए गणेश चतुर्थी पर कौन-कौन से शुभ काम किए जा सकते हैं...

चतुर्थी पर स्नान के बाद किसी गणेश मंदिर जाएं। अगर मंदिर नहीं जा सकते हैं तो घर पर गणेश भगवान को सिंदूर, दूर्वा, फूल, चावल, फल, प्रसाद चढ़ाएं। धूप-दीप जलाएं। श्री गणेशाय नम: मंत्र का जाप करते हुए पूजा करें।

गणेशजी के सामने व्रत करने का संकल्प लें और पूरे दिन अन्न ग्रहण न करें। व्रत में फलाहार, पानी, दूध, फलों का रस आदि चीजों का सेवन किया जा सकता है। पूजा में भगवान को दूर्वा और जनेऊ चढ़ाएं। फलों का भोग लगाएं। दीपक जलाकर आरती करें। पूजा के बाद प्रसाद अन्य भक्तों को भी वितरीत करें। स्वयं भी ग्रहण करें। इसके बाद उनके 12 नाम वाले मंत्रों का जाप कम से कम 108 बार करें।

गणेशजी के नाम वाले मंत्र - ऊँ सुमुखाय नम:, ऊँ एकदंताय नम:, ऊँ कपिलाय नम:, ऊँ गजकर्णाय नम:, ऊँ लंबोदराय नम:, ऊँ विकटाय नम:, ऊँ विघ्ननाशाय नम:, ऊँ विनायकाय नम:, ऊँ धूम्रकेतवे नम:, ऊँ गणाध्यक्षाय नम:, ऊँ भालचंद्राय नम:, ऊँ गजाननाय नम:।

ऐसे कर सकते हैं महालक्ष्मी की पूजा

शुक्रवार को देवी लक्ष्मी की पूजा करने की परंपरा है। लक्ष्मीजी के साथ ही भगवान विष्णु की भी पूजा करेंगे तो ज्यादा शुभ रहता है। इन दोनों देवी-देवताओं की प्रतिमा का अभिषेक करें। इसके लिए दक्षिणावर्ती शंख में केसर मिश्रित दूध भरें और अभिषेक करें। इसके बाद जल से अभिषेक करें। वस्त्र, हार-फूल, भोग आदि अर्पित करें। धूप-दीप जलाकर आरती करें। पूजा के बाद भगवान से भूल-चूक के लिए क्षमा मांगे।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- समय कड़ी मेहनत और परीक्षा का है। परंतु फिर भी बदलते परिवेश की वजह से आपने जो कुछ नीतियां बनाई है उनमें सफलता अवश्य मिलेगी। कुछ समय आत्म केंद्रित होकर चिंतन में लगाएं, आपको अपने कई सवालों के उत...

और पढ़ें