पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Jeevan mantra
  • Dharm
  • God Is Very Kind, Motivational Story About Devotion, Inspirational Story About Devotee, Significance Of Devotion

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

भक्ति:राजा टोकरी में से एक-एक अंगूर उठाकर सेवक के ऊपर फेंक रहे थे, सेवक हर बार बोल रहा था जो होता है, अच्छे के लिए होता है, भगवान बड़ा दयालु है

9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • भगवान की निस्वार्थ भक्ति करने से मन रहता है शांत और बढ़ती है सोचने-समझने की शक्ति

हालात कैसे ही भी हर हाल में सकारात्मक रहने पर ही दुख दूर हो सकते हैं। जो होता है, अच्छे के लिए होता है, ये मानने वाले लोग हमेशा संतुष्ट और सुखी रहते हैं। इस संबंथ में एक लोक कथा प्रचलित है। कथा के अनुसार पुराने समय में एक राजा का फलों का बहुत बड़ा बाग था। बाग में अलग-अलग तरह के फल लगे थे। बाग का माली रोज राजा के लिए ताजे फल टोकरी में लेकर जाता था।

एक दिन बाग में नारियल, अमरूद और अंगूर पक गए। सेवक सोचने लगा कि आज कौन सा फल राजा के लिए लेकर जाना चाहिए। बहुत सोचने के बाद उसने अंगूर तोड़े और टोकरी में भर लिए। टोकरी लेकर वह राजा के पास पहुंच गया।

सेवक ने अंगूर की टोकरी ले जाकर राजा के सामने रख दी। राजा उस राज्य की समस्याओं की वजह से बहुत चिंतित थे। सेवक भी वहीं बैठ गया। राजा सोचते-सोचते टोकरी में से एक-एक अंगूर उठाता, कुछ खाता और कुछ सेवक के ऊपर फेंक रहा था।

हर बार राजा का फेंका हुआ अंगूर सेवक को लग रहा था। लेकिन, सेवक हर बार यही कहता कि भगवान तू बड़ा दयालु है। जो होता है, अच्छे के लिए होता है।

कुछ देर बाद राजा का ध्यान सेवक पर गया। वह बोल रहा था भगवान तू बड़ा दयालु है। जो होता है, अच्छे के लिए होता है। ये सुनते ही राजा ने उस सेवक से पूछा कि मैं तुम्हारे ऊपर बार-बार अंगूर फेंक रहा हूं और तुम्हें गुस्सा नहीं आ रहा है? और तुम भगवान को दयालु क्यों कह रहे हो?

सेवक बोला कि राजन् आज हमारे बाग में नारियल, अमरूद और अंगूर तीन फल पके थे। मैं सोच रहा था कि आपके लिए आज क्या लेकर जाऊं? तभी मुझे लगा कि आज अंगूर लेकर जाना चाहिए। अगर मैं नारियल या अमरूद लेकर आता तो अभी मेरा हाल बुरा हो जाता। इसीलिए में भगवान को दयालु कह रहा हूं।

फल लेकर आते समय भगवान ने मेरी बुद्धि ऐसी कर दी कि मैं आपके लिए अंगूर लेकर आ गया। इसीलिए कहते हैं जो होता है, अच्छे के लिए होता है। निस्वार्थ भाव से भक्ति करने वाले लोगों का मन शांत रहता है और सोचने-समझने की शक्ति बढ़ती है।

खबरें और भी हैं...

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव - आज की स्थिति कुछ अनुकूल रहेगी। संतान से संबंधित कोई शुभ सूचना मिलने से मन प्रसन्न रहेगा। धार्मिक गतिविधियों में समय व्यतीत करने से मानसिक शांति भी बनी रहेगी। नेगेटिव- धन संबंधी किसी भी प्रक...

और पढ़ें