• Hindi News
  • Jeevan mantra
  • Dharm
  • Hariyali Amavasya Doubles Its Importance With Ravipushya And Sarvarthasiddhi Yoga Tomorrow, Trees And Plants Can Be Planted According To The Date Of Birth And Zodiac

हरियाली अमावस्या कल:रविपुष्य और सर्वार्थसिद्धि योग से महत्व हुआ दोगुना, जन्म तारीख और राशि अनुसार लगा सकते हैं पेड़-पौधे

3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • इस अमावस्या पर पेड़-पौधे लगाने और श्राद्ध-तर्पण करने से सालभर तक तृप्त हो जाते हैं पितर

हरियाली अमावस्या 8 अगस्त को मनाई जाएगी। इसी दिन रविपुष्य, सर्वार्थसिद्धि और बुधादित्य योग भी बन रहे हैं। जिससे इस पर्व का महत्व दोगुना हो गया है। इस दिन श्राद्ध और तर्पण के साथ ही नौ ग्रहों के अनुसार पेड़-पौधे लगाकर उनकी पूजा भी करनी चाहिए। जिससे पितर सालभर तक संतुष्ट रहते हैं और हर तरह के दोष भी खत्म होते हैं। इसके साथ ही 11 अगस्त को हरियाली तीज भी रहेगी। इस दिन भी पेड़-पौधे लगाकर उनकी पूजा करने की परंपरा है।

ज्योतिष: नौ ग्रहों के पेड़-पौधे लगाएं
पुरी के ज्योतिषाचार्य डॉ. गणेश मिश्र बताते हैं कि पेड़-पौधे लगाने के बारे में ज्योतिष के प्रमुख आचार्य वराहमिहिर ने भी अपने ग्रंथ बृहत्संहिता में मुहूर्त और शुभ दिन का जिक्र किया है। ज्योतिषीयों का कहना है कि हरियाली अमावस्या पर राशि और जन्म तारीख के मुताबिक 9 ग्रहों से जुड़े पेड़-पौधे लगाए जाएं तो हर तरह की परेशानियां और दोष दूर होते हैं।

शिव-पार्वती और पितृ पूजा का दिन
डॉ. मिश्र ने कहा कि सावन महीने की अमावस्या पर पितरों के निमित्त तर्पण और दानपुण्य करने से परिवार में सुख-समृद्ध आती है। इस दौरान भगवान शिव और माता पार्वती की पूजा कर पौधरोपण करना अधिक शुभ और फलदायी रहेगा। अगस्त के बाद 6 सितंबर और अक्टूबर में भी 6 तारीख को अमावस्या आएगी। ये दोनों ही अमावस्या पितृ पूजा और स्नान-दान के लिए बहुत ही खास रहेंगी। सितंबर में सोमवती अमावस्या और अक्टूबर में श्राद्धपक्ष की सर्वपितृ अमावस्या होगी।

जन्म तारीख और राशियों के अनुसार नौ ग्रहों से जुड़े पेड़-पौधे

सूर्य: सिंह राशि वाले और जिन लोगों की जन्म तारीख 1, 10, 19 या 28 है। उन लोगों को लाल गुलाब, कनेर, तेजफल, शलजम, सूर्यमुखी, सरसों या गेहूं का पौधा लगाएं। साथ ही इस पर्व पर मदार का पेड़ लगाकर उसकी पूजा करनी चाहिए। ऐसा करने से आत्मविश्वास और उम्र दोनों बढ़ते हैं।

चंद्रमा: कर्क राशि वाले या जिन लोगों की जन्म तारीख 2, 11, 20 या 29 है, उनको कनेर, बांस, चमेली या बरगद का पेड़ लगाना चाहिए। इसके साथ ही पलाश का पेड़ लगाकर उसकी पूजा करनी चाहिए। इससे बीमारियां नहीं होंगी। अनजाना डर खत्म होगा और मानसिक परेशानियों से भी छुटकारा मिलेगा।

मंगल: मेष या वृश्चिक राशि का स्वामी मंगल होता है। साथ ही 9, 18 या 27 तारीख को जन्मे लोग खैर या लाल चंदन का पेड़ लगाएं। साथ ही गुडहल का पौधा लगाकर उसकी पूजा करें। ऐसा करने से दुश्मनों पर जीत मिलती है।

बुध: मिथुन और कन्या राशि के अलावा जिनकी लोगों की जन्म तारीख 5, 14 या 23 हो वो लोग आज अपामार्ग या पान की बेल लगाएं। साथ ही तुलसी का पौधा लगाकर उसकी पूजा करें। इससे लेन-देन में फायदा होगा। साथ ही आर्थिक स्थिति भी बेहतर होगी।

गुरु: धनु और मीन राशि वालों के साथ ही 3, 12, 21 या 30 तारीख को जन्मे लोग गेंदा, वज्रदंती, पीले फूलों के पौधे या पीपल का पेड़ लगाएं। या केले का पेड़ लगाकर उसकी पूजा करें। ऐसा करने से वैवाहिक जीवन से जुड़ी परेशानियां दूर होंगी और परिवार में समृद्धि बढ़ेगी।

शुक्र: वृष और तुला राशि वालों के अलावा जिन लोगों की जन्म तारीख 6, 15 या 24 हो ऐसे लोगों को शुक्र से जुड़े पेड़-पौधे लगाने चाहिए। जैसे कनेर, अर्जुन, अशोक, नागकेसर, चमेली या रजनीगंधा का पौधा लगा सकते हैं। इसके साथ ही गूलर का पेड़ लगाकर उसकी पूजा करने से हर तरह से सुख और समृद्धि बढ़ती है।

शनि: मकर और कुंभ राशि के साथ ही 8, 17 और 26 तारीख को जन्म लेने वाले लोगों को वैजयंती, पीपल, जामुन या बरगद का पेड़ लगाना चाहिए। साथ ही शमी का पेड़ लगाकर उसकी पूजा करने से शनि दोष खत्म होंगे। हर तरह की परेशानियां और कामकाज में आने वाली रुकावटें भी खत्म होंगी।

राहु: जिन लोगों की जन्म तारीख 4, 13, 22 या 31 है। उन्हें राहु के लिए दूर्वा, नीम, पीपल या चंदन का पेड़ लगाकर उसकी पूजा करनी चाहिए। ऐसा करने से राहु से जुड़े दोष दूर होते हैं। साथ ही अनजाना डर और फैसले लेने में कन्फ्यूजन नहीं होता।

केतु: 7, 16 और 25 तारीख को जन्म लेने वाले लोगों का अश्वगंधा, गेंदे का पौधा या कुशा लगाकर उसकी पूजा करनी चाहिए। ऐसा करने से हर तरह की परेशानियां और डर खत्म होगा।

खबरें और भी हैं...