पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Jeevan mantra
  • Dharm
  • Health Benefits Of Makar Sankranti And Til gud Laddoo, Makar Sankranti And Old Traditions, Unknown Facts Of Makar Sankranti

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

अब डाइट बदलने का समय:मकर संक्रांति से खान-पान और लाइफ स्टाइल में बदलाव होने लगता है, तिल-गुड़ का सेवन कम करना शुरू करें

10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
मकर संक्रांति पर मध्य प्रदेश, राजस्थान, गुजरात सहित कई राज्यों में पतंग उड़ाने की भी परंपरा है। इस परंपरा का स्वास्थ्य से जुड़ा पहलू ये है कि धूप से हमें विटामिन डी मिलता है। - सिम्बॉलिक फोटो - Dainik Bhaskar
मकर संक्रांति पर मध्य प्रदेश, राजस्थान, गुजरात सहित कई राज्यों में पतंग उड़ाने की भी परंपरा है। इस परंपरा का स्वास्थ्य से जुड़ा पहलू ये है कि धूप से हमें विटामिन डी मिलता है। - सिम्बॉलिक फोटो

आज मकर संक्रांति है। सूर्य के मकर राशि में प्रवेश करने पर ये पर्व मनाया जाता है। अभी दो ऋतुओं के संधिकाल का समय है। हेमंत ऋतु खत्म हो रही है और शिशिर शुरू हो रही है। हेमंत ऋतु में सर्दी काफी अधिक रहती है, जबकि शिशिर ऋतु में ठंड कम होने लगती है। जब एक ऋतु जाती है और दूसरी ऋतु आती है, तब खान-पान से जुड़ी लापरवाही न करें। वरना सर्दी-जुकाम, बुखार, अपच, सिरदर्द जैसी बीमारियां होने की आशंका काफी अधिक रहती है।

मकर संक्रांति पर तिल-गुड़ के साथ ही खिचड़ी भी खाते हैं। खाने की इन चीजों से सेहत को फायदा होता है। अब ठंड कम होने लगेगी, हमें संक्रांति के बाद तिल-गुड़ का इस्तेमाल धीरे-धीरे कम कर देना चाहिए। लेकिन, खिचड़ी को खाने में रोज शामिल करना चाहिए। इस दिन खासतौर पर मध्य प्रदेश, राजस्थान, गुजरात सहित कई राज्यों में पतंग उड़ाने की भी परंपरा है। ये परंपरा भी सेहत के लिए फायदेमंद है।

  • वात, पित्त और कफ, तीन तरह की होती हैं बीमारियां

देहरादून​​ के आयुर्वेद विशेषज्ञ डॉ. नवीन जोशी बताते हैं कि आयुर्वेद में वात, पित्त और कफ, ये तीन तरह के रोग बताए गए हैं। वात यानी गैस से संबंधित बीमारियां। शरीर में जब पित्त का संतुलन बिगड़ता है तो खून से जुड़ी बीमारियां होती हैं। ज्यादा कफ से सर्दी-जुकाम, बुखार और सांस से जुड़ी परेशानियां होती हैं।

  • तिल-गुड़ से कंट्रोल होते हैं वात और कफ

अधिक ठंड की वजह से शरीर में वात यानी गैस बढ़ती है। जिससे काफी लोगों को जोड़ों में दर्द की समस्या होती है। कुछ लोगों की एड़ियों में दर्द होता है, किसी को घुटनों में तो किसी को पीठ में दर्द होने लगता है। इसके अलावा ठंड की वजह से कफ भी बढ़ता है। इसी वजह से ठंड के दिनों में तिल-गुड़ का सेवन नियमित रूप से किया जाए तो शरीर में वात और कफ सही मात्रा में रहता है। जिससे दर्द और सर्दी-जुकाम की समस्याएं कंट्रोल होती हैं।

  • आयरन और कैल्शियम जैसे तत्व मिलते हैं तिल-गुड़ से

तिल-गुड़ से इम्यूनिटी में सुधार होता है। तिल-गुड़ से बनी चक्की और लड्डू में आयरन, प्रोटीन, कैल्शियम, फाइबर, कार्बोहाइट्रेड आदि तत्‍व होते हैं। इन्हें रोज खाने से शरीर को ये सभी तत्व मिलते हैं। इम्यूनिटी में सुधार होता है। तिल खाने से मानसिक तनाव भी दूर होता है।

  • त्वचा की चमक बढ़ाते हैं इन चीजों के लड्डू

तिल-गुड़ हमारी त्वचा के लिए भी फायदेमंद है। इसके नियमित सेवन से हमें विटामिन ई और विटामिन बी मिलता है, जिससे स्किन में चमक आती है। मकर संक्रांति के बाद गर्मी बढ़ने लगती है। इसीलिए मकर संक्रांति पर तिल-गुड़ पर्याप्त मात्रा में खाने के बाद इन दोनों का सेवन धीरे-धीरे कम कर देना चाहिए।

  • खिचड़ी बहुत आसानी से पच जाती है, इसीलिए संक्रांति पर खाने की परंपरा

मकर संक्रांति पर काफी लोग चावल और मूंग दाल की खिचड़ी भी जरूर खाते हैं। चावल और मूंग दाल की खिचड़ी बहुत जल्दी पचने वाली होती है। इसे पचाने में पाचन तंत्र को ज्यादा मेहनत नहीं करनी होती है। इसमें घी या मक्खन डाला जाता है, जो कि शरीर को ताकत देता है। मकर संक्रांति से इसे खाने में रोज शामिल करना चाहिए।

  • पतंग उड़ाते समय धूप से मिलता है विटामिन डी

मकर संक्रांति पर पतंग उड़ाने की भी परंपरा है। इस दिन सूर्य की स्थिति बदलती है और जाती हुई ठंड पूरे प्रभाव में रहती है। घर की छत पर या किसी मैदान में पतंग उड़ाते समय हम धूप में रहते हैं, जिससे शरीर को पर्याप्त मात्रा में विटामिन डी मिलता है। पाचन शक्ति मजबूत होती है। ठंड के दिनों में इम्यून सिस्टम थोड़ा कमजोर हो जाता है। इस कारण काफी लोगों को बहुत जल्दी सर्दी-जुकाम और बुखार की समस्या हो जाती है। संक्रांति पर धूप का सेवन किया जाता है ताकि शरीर को मौसमी बीमारियों से लड़ने की शक्ति मिल सके।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आपकी मेहनत व परिश्रम से कोई महत्वपूर्ण कार्य संपन्न होगा। किसी विश्वसनीय व्यक्ति की सलाह और सहयोग से आपका आत्म बल और आत्मविश्वास और अधिक बढ़ेगा। तथा कोई शुभ समाचार मिलने से घर परिवार में खुशी ...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser