• Hindi News
  • Jeevan mantra
  • Dharm
  • Hindu Calendar From 20 November To 19 December The Month Of Aghan; Shri Ram Sita Marriage Festival Will Be Held This Month, Geeta Jayanti Kalbhairav Ashtami Festival

हिंदू कैंलेंडर:20 नवंबर से 19 दिसंबर तक अगहन मास; इस महीने रहेंगे श्रीराम-सीता विवाहोत्सव, गीता जयंती कालभैरव अष्टमी पर्व

15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • हिंदी पंचांग का नया महीना अगहन यानी मार्गशीर्ष शुरू, इसे माना जाता है श्री कृष्ण का स्वरूप

शनिवार, 20 नवंबर से अगहन महीना शुरू हो गया है। ये 19 दिसंबर तक रहेगा। धर्मग्रंथों में इसे मार्गशीर्ष कहा गया है। इस महीने में शीत ऋतु की शुरुआत हो जाती है। श्रीमद्भागवत के मुताबिक मार्गशीर्ष महीने को भगवान कृष्ण ने अपना ही रूप बताया है। यानी इस महीने किए गए हर धार्मिक कर्म का कई गुना पुण्य मिलता है। इसलिए इस महीने में आने वाले तीज-त्योहारों का भी बहुत महत्व बताया गया है।

23 नवंबर, मंगलवार: इस दिन गणेश चतुर्थी व्रत रहेगा। इस तिथि पर अखंड सौभाग्य और समृद्धि की कामना से गणेशजी के लिए विशेष व्रत किया जाता है।

27 नवंबर, शनिवार: इस दिन कालभैरव अष्टमी है। पुराणों के मुताबिक इस तिथि पर भगवान शिव के रौद्र रूप से ही कालभैरव प्रकट हुए थे। इसलिए इनकी विशेष पूजा की जाती है।

30 नवंबर, मंगलवार: इस दिन उत्पन्ना एकादशी है। इस दिन भगवान विष्णु के लिए व्रत-उपवास किए जाते हैं। एकादशी पर विष्णुजी के अवतारों की पूजा करने की परंपरा है।

4 दिसंबर, शनिवार: अगहन मास की अमावस्या तिथि होने से इस दिन पितरों के लिए तर्पण, श्राद्ध कर्म करने की परंपरा है।

7 दिसंबर, मंगलवार: इस दिन विनायकी चतुर्थी है। मंगलवार होने से ये अंगारक चतुर्थी रहेगी। इस दिन गणेशजी के लिए पूजा-पाठ करनी चाहिए।

8 दिसंबर, बुधवार: ये दिन श्रीराम और सीता के विवाह उत्सव का पर्व है। इसे विवाह पंचमी भी कहते हैं। इस दिन श्रीराम और सीता की पूजा करनी चाहिए। सुंदरकांड और हनुमान चालीसा का पाठ भी कर सकते हैं।

14 दिसंबर, मंगलवार: इस दिन अगहन महीने की एकादशी है। इसे मोक्षदा एकादशी कहते हैं। इस दिन गीता जयंती मनाई जाती है। मान्यता है कि इसी तिथि पर भगवान श्रीकृष्ण ने अर्जुन को गीता का उपदेश दिया था। इस तिथि पर गीता का पाठ करना चाहिए और श्रीकृष्ण का पूजन करें।

18 दिसंबर, शनिवार: इस दिन अगहन महीने की पूर्णिमा है। इसे दत्त पूर्णिमा कहते हैं। इस दिन भगवान दत्तात्रेय की पूजा करनी चाहिए।

19 दिसंबर, रविवार: ये अगहन महीने का आखिरी दिन रहेगा। साथ ही स्नान दान की पूर्णिमा होने से इस तिथि पर पवित्र नदी में स्नान करना चाहिए और दान करना चाहिए।

खबरें और भी हैं...